jagannath temple
Blogs

आखिर क्यों जगन्नाथ मंदिर में स्थापित तीनों मूर्तियों के हाथ के व पैरों के पंजे नहीं हैं? 

उड़ीसा प्रांत का राजा इंद्रदमन चिंतित था क्योंकि श्री कृष्ण जी ने स्वपन में आकर स्थान बताते हुए कहा था कि इंद्रदमन समुद्र किनारे एक मंदिर बनवाओ जिसमें मूर्ति पूजा नहीं होनी चाहिये। सिर्फ मंदिर में एक संत नियुक्त करो जो दर्शकों को गीता जी…

UPJAIL BAGLI , MP
News

देवास न्यूज़ 

कैदियों का बदला जीवन, मिला सत्भक्ति का मार्ग मध्य प्रदेश के जिला देवास की उप जेल बागली में जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज के अमृत प्रवचनो का सत्संग सुनने को मिला। इस दौरान संत रामपाल जी महाराज ने कैदियों को सत्संग सुनाते हुए कहा…

Rameny News

धौलपुर रमैनी 

अब सच होगा सबका सपना | दहेज मुक्त होगा भारत अपना || एक तरफ तो आज के दौर में समाज में शादी के नाम पर लाखों रुपए का खर्चा और दिखावा देखने में आया है इसी कारण से गरीब व्यक्ति को बेटी की शादी की…

barmer remni news
Rameny News

बाड़मेर रमैनी न्यूज़ 

कुरीतियों को जड़ से खत्म करती ये अद्भत शादी धोरीमना के निवासियों का कहना था कि हमारे जीवन इतिहास में यह पहली बार ऐसा हुआ है कि बिना #दहेज और #फिजूलखर्ची रहित शादी करके किसी ने #इतिहास रचा दिया हो उन्होंने संत रामपाल जी महाराज की प्रशंसा इस बात पर भी…

Rameny News

सवाई माधोपुर रमैनी न्यूज़ 

सतलोक आश्रम न्यूज़, सवाई माधोपुर सवाई माधोपुर की बोंली तहसील में SDM कोर्ट परिसर में जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज का एक दिवसीय आध्यात्मिक सत्संग का आयोजन हुआ। जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज ने सतसंग के माध्यम से समाज में फैली बुराइयों, नशाखोरी,…

Biggest cause of impatience among Youth
Blogs

फिल्मो की देन युवा हुए बैचेन 

कागभुसंड – विष्णुजी के वाहन गरुड़ की तरह एक जीव जिसके ऊपर का शरीर काग का है। कागभुसंड बनने से पहले वह आत्मा मनुष्य शरीर में थी और तब उनके प्रदेश में अकाल पड़ गया था। जवान होने के कारण कागभुसंड तो बच गए पर…

Will God save women from social evil like he saved Draupadi?
Blogs

क्या आज भी भगवान बहन बेटियों को द्रौपदी की तरह बचा सकता है? 

बलात्कार की घातक वारदातें दिनों-दिन फैल रही हैं जिन्हें रोक पाने में सरकार और समाज दोनों निष्फल दिख रहे हैं । दुष्कर्मी लोग बलात्कार के बाद अपना गुनाह छिपाने के लिए पीड़िता को जान से मार देते हैं। मनुष्य के भीतर छुपकर बैठी हैवानियत कब…