Saint Rampal JI News

The Real Reasons Why Tatvadarshi Sant Rampal Ji Maharaj Has Been Imprisoned (Jailed)

Answer to where is Saint Rampal Ji Now: The real reasons why Tatvdarshi Sant Rampal Ji Maharaj has been imprisoned and what has happened in all these years with Him.

71st Avataran Diwas of Jagatguru Saint Rampal Ji Maharaj: The Dawn of the Golden Era

Avataran Diwas 2021: On 71st Avataran Diwas (the day of Incarnation), let us know why Saint Rampal Ji Maharaj is considered to be The World Victorious Saint and The Last Messenger who can bring in the Golden Era as told in the prophecies of famous foretellers. To know about The Saviour & The Liberator of all the living souls just go through the article completely.

अवतरण दिवस 2021: 8 सितम्बर सतगुरु संत रामपाल जी महाराज जी का अवतरण दिवस

अवतरण दिवस 2021: 8 सितम्बर है अवतरण दिवस पूरे ब्रह्मांड के एकमात्र तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज का जो समूची मानव जाति के तारणहार है। नास्त्रेदमस जैसे महान भविष्यवक्ताओं द्वारा उनके अवतरण के बारे में की गई भविष्यवाणियां बिल्कुल सही साबित हो रही हैं। सतगुरु ने सभी धर्मों के ग्रंथों से गूढ़ रहस्यों को खोलकर तत्वज्ञान से नकली धर्मगुरुओं की पोल खोल दी है। 

Know the Aim of Sant Rampal Ji on 71st Avataran Diwas (Incarnation Day)

The Aim of Saint Rampal Ji: It is a general belief that whenever unholy and evil activities such as religious anarchy, hatred, killing, perversion, unrighteousness, corruption, social unrest, casteism, poverty, dowry, gender inequality, rape, illiteracy etc reaches its peak, the Supreme Power reincarnates Himself on the earth to save His pious souls/devotees. What is the aim of the incarnated Saint for mankind? What is the evidence of His claims? The answers of all these questions are covered in this blog.

संत रामपाल जी महाराज के 71वें अवतरण दिवस के अवसर पर जानिए क्या है संत रामपाल जी महाराज जी का उद्देश्य?

संत रामपाल जी महाराज जी का उद्देश्य: 8 सितंबर, युग निर्माता संत रामपाल जी महाराज के 71वें अवतरण दिवस के अवसर पर जानिए वे समाज के एकमात्र पथ प्रदर्शक हैं जो सतभक्ति देकर सर्व बुराइयां दूर कर कलयुग में सतयुग ला रहे हैं। श्रीमद्भगवदगीता, वेदों, क़ुरान, बाईबल, श्रीगुरुग्रंथ साहिब आदि सदग्रंथों के ज्ञान सार “एक भगवान और एक भक्ति” के अनुरूप सतभक्ति द्वारा पूर्ण मोक्ष प्रदान कर सतगुरु मानव कल्याण कर रहे हैं। कुरीतियों, बुराइयों और भ्रष्टाचार से मुक्त समाज बनाने के लिए कृतसंकल्प हैं। आपसी वैमनस्य मिटाकर विश्व शांति स्थापित कर धरती को स्वर्ग बनाने की ओर अग्रसर हैं। सतगुरु की असीम कृपा से भारत शीघ्र सोने की चिड़िया बनेगा और विश्वगुरु के खोए सम्मान को अर्जित करेगा।

Popular

Subscribe

spot_imgspot_img