Saint Rampal JI News

71वें अवतरण दिवस पर जानिए संत रामपाल जी महाराज के संघर्ष के बारे में

संत रामपाल जी महाराज का संघर्ष: 8 सितंबर 1951 को भारत की पावन धरती पर अवतरित हुए एक ऐसे संत का अवतरण हुआ जिन्होंने हम जीवों के उद्धार के लिए अपना जीवन न्यौछावर कर दिया। सतज्ञान के प्रचार के लिए उन्होंने अपनी जान हथेली पर रख दी, नौकरी, घर परिवार सब कुछ त्याग दिया। ऐसे महान संत, जो परमार्थ के लिए अपना सर्वस्व वार दें, इस धरा पर यदा कदा ही प्रकट होते हैं। हम बात कर रहे हैं तत्वदर्शी सतगुरु रामपाल जी महाराज जी की जिन्हे परमार्थ के मार्ग पर कदम रखने के बाद अनेकों संघर्षों का सामना करना पड़ा पर उन्होंने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा। 

71st Avataran Diwas (Incarnation Day): The Selfless Struggle of Saint Rampal Ji Maharaj

The struggle of Saint Rampal Ji Maharaj: In the discussion about struggle, if one goes down the lane of history books one can find a lot of real-life heroes with heroic struggles around the globe that have made marvelous contributions for the globe and mankind in numerous fields. But if one looks closely and observes accordingly one can easily come to a conclusion that these struggles were just for a purpose even if they appear to us or not at the moment. 

Know About the Social Reforms by Sant Rampal Ji Maharaj on 71st Avataran Diwas (Incarnation Day) 2021

Social reform is generally a movement undertaken by an individual who is a part of a certain society with an aim to change the ongoing unjust and oppressive practices focused towards a certain segment of the society. There have been many social reforms throughout the world, but India in particular, has witnessed a few socially and economically important social reforms such as abolition of the practice of Sati and emancipation of women, uprooting untouchability, eliminating casteism.

8 सितंबर 2021 संत रामपाल जी महाराज जी के 71वें अवतरण दिवस पर जानिए उनके अनूठे समाज सुधार के बारे में

8 सितंबर 2021 संत रामपाल जी महाराज जी का 71 वां अवतरण दिवस: जब भी कोई महापुरुष समाज में व्याप्त बुराईयों को दूर करने (समाज सुधार) का बीड़ा उठाते हैं तो वह समाज के तथाकथित ठेकेदारों की आँखों में चुभने लगते हैं। ऐसे ही एक संत हैं सतगुरु रामपाल जी महाराज जिन्होंने धर्म के नाम पर हो रहे धंधे को उजागर किया।

8 सितंबर, संत रामपाल जी का अवतरण दिवस – नास्त्रेदमस ने 466 वर्ष पहले ही कर दी थी भविष्यवाणी

नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियां व अन्य भविष्यवक्ताओं जैसे फ्लोरेंस,कीरो और बोरिस्का की अचूक भविष्यवाणियां जो की संत रामपाल जी महाराज पर खरी उतरती है.

Popular

Subscribe

spot_imgspot_img