truth behind shradh

श्राद्ध की सच्चाई

हिन्दू समाज मे कई तरह के धार्मिक क्रियाएं व क्रिया कर्म किये जाते है। इनमे श्राद्ध हिन्दू समाज में एक महत्वपूर्ण व आवश्यक रूप से किया जाने वाला कर्म कांड है। हिन्दू महीने भाद्रपक्ष की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि के दिन श्राद्ध पक्ष शुरू होते हैं। इस साल श्राद्ध पक्ष 24 सितंबर, सोमवार से लेकर […]

Continue Reading
special rakhi

रक्षा बंधन की परम्परा पति-पत्नी के लिए या भाई-बहन के लिए ?

“भविष्य पुराण” के अनुसार राजा इंद्र बारह वर्षों तक लगातार असुरों से पराजित हो रहे थे तो इंद्र की पत्नी सचि ने तप किया और एक रक्षा सूत्र तैयार किया जिसे ब्राह्मणों द्वारा सचि के पति इंद्र की कलाई पर बांधा गया और तभी से रक्षाबंधन का त्यौहार ब्राह्मणों द्वारा मनाया जाने लगा। उस दिन […]

Continue Reading
Eid special

आओ अल्लाह को खुश करें और ईद मनाएं

दीदी मुझे एक महीने की छुट्टी चाहिए। मैंने साहिबा से पूछा क्यों? एक महीना क्यों। दीदी वो घर जाना है। ईद है दीदी। मैंने खुशी से पूछा कब है ईद। दीदी! इस बार 22 अगस्त को कुर्बानी का त्यौहार यानी ईद-उल-जुहा बकरीद मनाया जाएगा। इसलिए गांव जाना है। सबसे मिले हुए बहुत दिन हो गए […]

Continue Reading
ye kaisi aazadi hai

काल लोक में सब गुलाम हैं, आज़ादी तो एक छलावा है।

यदि आज भारत मां के लाल भगत सिंह, चंद्र शेखर आज़ाद, सुखदेव जैसे शूरवीर जिंदा होते तो इन भ्रष्ट नेताओं, पुलिस वालों ,जजों, डाक्टरों, झूठी बिकाऊ मीडिया और धर्म के ठेकेदारों को देख कर ज़रूर ये कहते,” फिर से आज़ाद कराना होगा भारत को इन मक्कारों से।” अभी देश आज़ाद नहीं है। जिस भारत को […]

Continue Reading
kabir saheb ji

पूर्ण ब्रह्म कबीर साहेब का प्राकट्य

कबीर साहेब को अधिकांश लोग 15वीं शताब्दी के एक बेहतरीन कवि की तरह ही जानते हैं। लेकिन कबीर साहेब अनंत कोटि ब्रह्मांडो के स्वामी हैं और पूर्णब्रह्म हैं। कबीर साहेब वास्तविक अविनाशी स्थान सतलोक में रहते हैं। कबीर साहेब 3 तरह से शरीर धारण करते हैं जैसा कि ऋग्वेद मंडल 9 सूक्त 1 मंत्र 8 […]

Continue Reading