48 वर्षीय भारत के विस्फोटक बल्लेबाज़ और सफलतम कप्तान रह चुके तथा वर्तमान में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली (Sourav Ganguly) को 2 जनवरी को हार्ट अटैक आया था। वुडलैंड्स अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि ‘सौरव गांगुली की हालत अब स्थिर है। गांगुली की एंजियोप्लास्टी के बाद दिल की नसों में स्टंट डाला गया। सतभक्ति में निहित है हर बीमारी का इलाज। आगे पढ़े क्या कहती हैं भविष्यवाणियां और कौन है जगतगुरु?

Sourav Ganguly का इलाज करने वाले डॉक्टर ने बताया अब तबीयत स्थिर

सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का कोलकाता के वुडलैंड्स अस्पताल में उनका इलाज करने वाले डॉ. आफताब खान ने बताया कि सौरव गांगुली की एंजियोप्लास्टी की गई है और उनकी तबीयत अभी स्थिर है। उनके इलाज के लिए 3 डाक्टरों की टीम बनाई गई है जो उन पर 24 घंटे नजर रख रही है। वुडलैंड्स अस्पताल की सीईओ डॉ रूपाली बसु और डॉ. सरोज मंडल ने बताया कि उनके हार्ट में कई और ब्लॉकेज थे, जो ‘क्रिटिकल थे’ उन्हें स्टंट लगाया गया है और अब उनकी तबीयत स्थिर है।

घर में जिम करते हुए आया था Sourav Ganguly को अटैक

सौरव गांगुली को अपने घर के जिम में ट्रेडमिल करते समय सीने में दर्द हुआ था अक्सर ऐसा दर्द हार्ट अटैक के समय होता है जब रक्त प्रवाह रुक जाता है या नसों में ब्लॉकेज होता है जिसके कारण दिल तक खून में ऑक्सीजन अच्छी तरीके से नहीं आ पाती। जब उनको अस्पताल लाया गया, तब उनकी पल्स 70/मिनट थी और बीपी 130/80 मिमी एचजी था। ECG और ECO टेस्ट की रिपोर्ट के बाद अभी उनकी एंजियोप्लास्टी की गई। शुरुआत में बताया गया था कि उनको कार्डियक अरेस्ट हुआ है।

कौंन हैं सौरव गांगुली (Sourav Ganguly)?

वर्तमान में बीसीसीआई अध्यक्ष, भूतपूर्व भारतीय टीम के कप्तान और धुरंधर बल्लेबाज सौरभ गांगुली का जन्म 8 जुलाई 1972 में कोलकाता के एक बंगाली परिवार में हुआ था । इनके दादा, प्रिंस ऑफ कोलकाता को बंगाल टाइगर, के नाम से भी जाना जाता है इनकी माता का नाम निरूपा गांगुली और उनके पिताजी का नाम चंडीदास गांगुली है। इनकी पत्नी का नाम डोना गांगुली और इनकी बेटी का नाम सना गांगुली है। सौरव गांगुली बाएं हाथ के बल्लेबाज़ और मीडियम पेसर बॉलर होने के कारण ऑलराउंडर बल्लेबाज के तौर पर जाना जाता था।

■ Also Read: India’s first World Cup-winning former Cricket Captain Kapil Dev underwent an Angioplasty After Suffering a Heart Attack 

सौरभ गांगुली का क्रिकेटिंग करियर

दादा, सौरव गांगुली को भारत के सबसे सफल कप्तानों में गिना जाता है। बाएं हाथ के विस्फोटक और शानदार बल्लेबाज रहे सौरव गांगुली ने अपने करियर में 113 टेस्ट मैचों में 42.17 की औसत से 7212 रन बनाए, जिनमें 16 शतक और 35 अर्धशतक शामिल हैं. भारतीय टीम को विश्व में सम्मान दिलवाने के लिए सौरव गांगुली का एक बेहद ही महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

सभी क्रिकेटरों, नेताओं, अभिनेताओं और सभी को 2021 का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण संदेश

सभी महान भविष्यवक्ताओं व दार्शनिकों के अनुसार वर्तमान समय जो चल रहा है बहुत ही ज्यादा भयानक है और काफी उथल-पुथल भरा से हुआ है । यह बदलाव और क्रांति का समय है जो भी मनुष्य सत भक्ति नहीं करेंगे उन सभी को तमाम तरीके की समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। जिस में शारीरिक, आर्थिक, मानसिक और भौतिक समस्याएं शामिल होंगी। सत भक्ति करने वालों को परमात्मा का साथ मिलने के कारण वे इन समस्याओं से बचे रहेंगे।

तमाम भविष्यवक्ता हमें बार-बार भविष्य में आने वाली समस्याओं को लेकर आगाह कर रहे हैं, साथ ही यह भविष्यवाणी भी की गई है कि उन समस्याओं से निकालने वाला एक ही महापुरुष होगा। सभी भविष्यवक्ताओं के अनुसार वह महापुरुष कोई और नहीं जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी ही हैं, जो वर्तमान में पूर्ण परमेश्वर कबीर साहेब जी द्वारा दी गई सत भक्ति प्रदान कर रहे हैं। उनसे नाम दीक्षा लेकर करोड़ों लोग सुखमय जीवन जी रहे हैं और अपना उद्धार करवा रहे हैं कृपया आप भी ऐसा करें और अपना कल्याण करवा कर सुखमय जीवन जीएं।