Solution of Dowry System in India in hindi

Solution of Dowry System in India [Hindi]: बिना बैंड बाजे के होने वाले विवाह समाज में बने चर्चा का विषय

Dowry Free India News Social Issues
Share to the World

Solution of Dowry System in India: आज के आधुनिक युग में जहाँ लोग बहुत ही ताम-झाम और लाखो रुपये खर्च कर विवाह करते है वही दूसरी तरफ संत रामपाल जी महाराज के ज्ञान से प्रेरित होकर उनके अनुयायी अपने बच्चों का विवाह बहुत ही साधारण तरीके से मात्र 17 मिनट मे करते है। क्या आपने ऐसा कोई विवाह देखा है जहां दूल्हा दुल्हन साधारण वेशभूषा में हों? जहाँ बिना हल्दी, मंडप आदि रस्मों के पूर्ण परमात्मा की उपस्थिति में विवाह सम्पन्न हुआ हो? जहां दहेज के नामोनिशान न हो? ऐसे एक नहीं अनेक विवाह हुए हैं। जगतगुरु तत्वदर्शी सन्त रामपाल जी महाराज जी के सान्निध्य में होने वाले विवाह अनोखे हैं जिनमें बिना बैंड बाजे के, साधारण वेशभूषा में होने वाले विवाह चर्चा का विषय बने हुए हैं।

Solution of Dowry System in India: मध्य प्रदेश में हुए दहेज रहित विवाह

  • दिनांक 17 जून 2021 को जिला शिवपुरी मध्य प्रदेश में एक ऐसा ही विवाह देखने को मिला जहाँ गुरुवाणी के माध्यम से एक अंतर्जातीय दहेज रहित विवाह संपन्न हुआ। साधारण वेशभूषा में कम लोगो की उपस्थिति के साथ बिना नाच गाने के बहुत ही शालीन व सभ्य तरीके से विवाह संपन्न हुआ।
  • ग्राम अमरपुर तहसील कोलारस जिला शिवपुरी (मध्यप्रदेश) की निवासी अंजली जाटव (हिन्दू) D/O पूरन सिंह का विवाह गांधीनगर भोपाल (मध्यप्रदेश) के निवासी भक्त हरीश नवलानी (सिंधी) के साथ सम्पन्न हुआ। 
  • वही जिला धार तहसील बदनावर ग्राम सिलोदा खुर्द के निवासी भक्त रामदास S/O रमेश दास की रमैणी पन्ना जिला तहसील देवेन्द्र नगर ग्राम बडागांव की निवासी बहन रानी दासी D/O दुलारे दास के साथ बहुत ही सादगी से संपन्न हुआ। इस विवाह में ना कोई दहेज दिया गया और ना ही दहेज लिया गया। 
  • तहसील बैरसिया जिला भोपाल मध्य प्रदेश में एक ऐसा ही विवाह देखने को मिला जहाँ गुरुवाणी के माध्यम से एक दहेज रहित विवाह संपन्न हुआ। साधारण वेशभूषा में कम लोगो की उपस्थिति के साथ बिना नाच गाने के बहुत ही शालीन व सभ्य तरीके से विवाह संपन्न हुआ।
  • मध्य प्रदेश में एक और दहेज मुक्त विवाह रमैनी का कार्यक्रम संपन्न हुआ, ग्राम पड़रिया तहसील पवई जिला पन्ना मध्य प्रदेश की निवासी रोशनी दासी का विवाह ग्राम कोट जिला पन्ना मध्य प्रदेश के निवासी जगदीश दास के साथ बहुत ही सादगी से संपन्न हुआ। इस विवाह में नाम मात्र लोग शामिल हुए तथा दहेज और फिजूलखर्ची का नामोनिशान नहीं था। 
  • ग्राम अमानगंज जिला पन्ना की निवासी रमन दासी का विवाह आकाश दास ग्राम बीना जिला सागर के निवासी के साथ बहुत ही सभ्य और शालीन तरीके से सम्पन्न हुआ। खास बात यह है कि दोनों ही वर-वधु शिक्षित है लडका कम्प्यूटर रिपेयरिंग का काम करता है और लड़की BSc Final में पढाई कर रही है 
  • ग्राम देवास की निवासी अमृता दासी का विवाह जबलपुर के निवासी मिथिलेस दास के साथ मात्र 17 मिनट में सम्पन्न हुआ। इस शादी में सादगी की मिसाल इस कदर पेश की है कि इस शादी में ना कोई बैंड-बाजा था और ना ही किसी भी प्रकार का फिजूलखर्च। मात्र 17 मिनट मे दोनों दुल्हा-दुल्हन एक दूसरे के बन गए।
  • संत रामपाल जी महाराज के सानिध्य में नरसिंहपुर जिले की गाडरवारा तहसील में 14 जून को अंतर्जातीय दहेज मुक्त विवाह संपन्न हुआ।
dowry free marrige in mp (narsinghpur)

Solution of Dowry System in India: उत्तर प्रदेश में भी हुआ दहेज रहित विवाह

दिनांक 13/06/2021 रविवार को आगरा में एक दहेज रहित विवाह सम्पन्न हुआ सदर तहसील राजपुर चुंगी आगरा के निवासी आशीष दास का विवाह तहसील एत्मादपुर प्रकाश नगर आगरा की निवासी प्रिया दासी के साथ बहुत ही सादगी से सम्पन्न हुआ।

राजस्थान में संपन्न हुए एक साथ दो दहेज रहित विवाह

Solution of Dowry System in India: बंगाल में भी हुआ एक अनोखा विवाह

जिला दक्षिण दिनाजपुर पश्चिम बंगाल में एक अनोखा दहेज रहित विवाह सम्पन्न हुआ जिसमें भक्त अशीम दास का विवाह भक्तमती सुप्रीया दासी के साथ बिना बैंड-बाजे और बिना किसी बाह्य आडंबर के बहुत ही सभ्य तरीके से सम्पन्न हुआ। 

Also Read: Marriage In 17 Minutes: सच होगा अब सबका सपना दहेज मुक्त होगा भारत अपना

समाज सुधार के साथ समाज सेवा में भी अग्रणी है संत रामपाल जी महराज

छत्तीसगढ़ के शासकीय जिला अस्पताल दुर्ग के लिए संत रामपाल जी महाराज के शिष्यों ने 50 यूनिट से अधिक रक्तदान 10 जून को किया इसी तरह जबलपुर मेडिकल हॉस्पिटल में संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायियों ने कबीर प्रकट दिवस में रक्त दान शिविर का आयोजन किया गया।

free blood donation by saint rampal ji devotesss

सबसे श्रेष्ठ विधि के हैं ये विवाह

Solution of Dowry System in India: रमैनी के माध्यम से होने वाले विवाह सबसे श्रेष्ठ विधि के हैं। ये वेदों में वर्णित विधि पर आधारित हैं और इसी प्रकार आदिशक्ति ने अपने तीनो बेटों ब्रह्मा, विष्णु और महेश का विवाह किया था। इस विवाह में पूर्ण परमेश्वर कविर्देव के साथ विश्व के सभी देवी देवताओं का आह्वान किया जाता है। इससे पूर्ण परमेश्वर तो साथ रहते ही हैं साथ ही विश्व के सभी देवी देवता भी उस विवाहित जोड़े की सदा सहायता करते हैं। ऐसे दहेजमुक्त विवाहों ने बेटियों का जीवन आसान कर दिया है। 

दहेजमुक्त भारत केवल सन्त रामपाल जी महाराज के तत्वज्ञान से सम्भव

जगतगुरु संत रामपाल जी महाराज के अनुयाई मात्र 17मिनट में शादी कर लेते है जिसमे कोई भी फिजूलखर्ची नही होती, ना घोडी, ना बारात, न बैंड बाजा और कुछ भी नही। नशा व दहेज रूपी कुरीतियों को जड़ से खत्म करने के लिये संतरामपालजी महाराज और उनके अनुयायी एक बहुत अच्छी पहल कर रहे है।

दहेजप्रथा से मुक्ति के लिए सरकार ने कानून भी बनाये किन्तु सब निष्फल रहा। इस कार्य को तत्वज्ञान के बिना कर पाना सम्भव नहीं था। यह तत्वज्ञान तो केवल कोई तत्वदर्शी सन्त ही दे सकते हैं और पूर्ण तत्वदर्शी सन्त पूरे विश्व मे एक ही होता है जिसका तत्वज्ञान नशा, दहेज, चोरी, भ्रष्टाचार आदि से मुक्ति दिला सकता है। तत्वज्ञान होने के पश्चात व्यक्ति स्वयं ही इन सभी बुराइयों से दूर होने लगता है उसे अपने कर्मों की सजा मालूम होती है। किंतु यह तभी सम्भव है जब सन्त पूर्ण तत्वदर्शी हो। सन्त रामपाल जी महाराज के ज्ञान के कारण आज लोग स्वयं ही दहेज लेने से इंकार कर देते हैं। नशाखोरी से दूर हैं यहाँ तक कि सन्त रामपाल जी महाराज के शिष्यों को रिश्वत देना भी मुमकिन नहीं है। सन्त रामपाल जी महाराज का ज्ञान इतना अच्छा है कि लालच, मोह, लोभ से व्यक्ति स्वतः दूर हटने लगता है। 

तत्वज्ञान से ही होगा मोक्ष

ये दहेजमुक्त अद्भुत विवाह तो केवल बानगी हैं। तत्वज्ञान ने तो लोगों का जीवन सरल एवं सुगम बना दिया है। लोग सन्त रामपाल जी महाराज जी के ज्ञान से प्रेरित होकर उनसे नामदीक्षा लेकर अपना कल्याण करवा रहे हैं। क्योंकि मोक्ष तो केवल तत्वदर्शी सन्त की शरण में जाने से ही सम्भव है। अधिक जानकारी के लिए देखें सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल।


Share to the World

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 1 =