संत रामपाल जी का 73वां अवतरण दिवस का महासमागम हुआ संपन्न, भंडारे में उमड़ा जनसैलाब

spot_img

Sant Rampal Ji Avataran Diwas Update: संत रामपाल जी महाराज के सानिध्य में उनके अनुयायियों द्वारा नेपाल समेत भारत के 9 सतलोक आश्रमों में संत रामपाल जी महाराज के 73वें अवतरण दिवस के उपलक्ष्य में मनाया गया तीन दिवसीय कार्यक्रम संपन्न हुआ। जिसमें अखंड पाठ और विश्व स्तरीय खुला भंडारा हुआ। साथ ही, दहेज रूपी कलंक को समाज से मिटाने के लिए दहेज मुक्त विवाह और सामाजिक परोपकार को देखते हुए रक्तदान शिविर, निःशुल्क नेत्र जाँच शिविर और दांत जांच व परामर्श शिविर का भी आयोजन किया गया। आइये जानते हैं संत रामपाल जी महाराज के अवतरण दिवस पर हुए कार्यक्रमों को विस्तार से।

Table of Contents

Sant Rampal Ji Avataran Diwas Update: मुख्य बिंदु

  • संत रामपाल जी महाराज के 73वें अवतरण दिवस का तीन दिवसीय महासमागम हुआ सम्पन्न। 
  • नेपाल समेत भारत के 9 आश्रमों में मनाया गया संत रामपाल जी महाराज का अवतरण दिवस।
  • देश से बाहर विदेशों में भी मनाया गया अवतरण दिवस।
  • अवतरण दिवस पर हुए भण्डारे में आश्रमों में उमड़ा जन सैलाब।
  • सैकड़ो दहेज मुक्त विवाह और सैकड़ों युनिट हुआ रक्तदान।
  • विश्व के महानतम भण्डारे में पूरे विश्व को किया गया था आमंत्रित।
  • वहीं आश्रम में आने वाले सभी श्रद्धालुओं के लिए सभी सुविधाएं निःशुल्क की गईं।

सतलोक आश्रम धनाना धाम में हुआ अवतरण दिवस का सफल आयोजन

हरियाणा के सतलोक आश्रम धनाना धाम, सोनीपत (Satlok Ashram Dhanana Dham, Sonipat) में 6, 7 व 8 सितंबर को संत रामपाल जी महाराज का अवतरण दिवस मनाया गया। इस उपलक्ष्य पर तीन दिवसीय आदरणीय संत गरीबदास जी महाराज के सद्ग्रंथ साहिब (अमरग्रंथ साहिब) का अखंड पाठ हुआ और तीन दिवसीय विश्व स्तरीय धर्म भंडारे का भी आयोजन किया गया, जिसमें लाखों लोगों ने शिरकत की। वहीं आश्रम में तीनों दिन लोगों का हुजूम देखने को मिला, जहाँ आम नागरिकों के अलावा ओलंपिक पदक विजेता योगेश्वर दत्त भी पहुंचे।

साथ ही, संत रामपाल जी के अवतरण दिवस (Sant Rampal Ji Avataran Diwas) के पावन अवसर पर संत रामपाल जी महाराज के सानिध्य में दहेज प्रथा को समाज से जड़ से खत्म करने के लिए दहेज मुक्त विवाह-रमैनी कार्यक्रम भी संपन्न हुआ, जिसमें 10 जोड़ों की दहेज रहित शादी (Dowry Free Marriages-Ramaini) हुई। इसके अलावा रक्तदान शिविर भी लगाया गया, जिसमें 267 युनिट रक्तदान संत रामपाल जी महाराज के शिष्यों द्वारा किया गया। इसके अलावा मानव हित में निःशुल्क नेत्र जांच शिविर और निःशुल्क दांत जांच व परामर्श शिविर भी लगाया गया।

सतलोक आश्रम भिवानी में उमड़ा जनसैलाब

संत रामपाल जी का 73वां अवतरण दिवस हरियाणा स्थित सतलोक आश्रम भिवानी (Satlok Ashram Bhiwani) में मनाया गया। इस उपलक्ष्य में तीन दिवसीय अखंड पाठ, विशाल भंडारे, आश्रम आने वाले श्रद्धालुओं के लिए सत्य आध्यात्मिक ज्ञान प्रदान करने हेतु आध्यात्मिक प्रदर्शनी, विशाल सत्संग समारोह का आयोजन हुआ। जिसमें पूरे विश्व को सपरिवार आमंत्रित किया गया था, यहीं वजह रही कि भंडारे में तीनों दिन आश्रम में लोगों का जनसैलाब देखने को मिला।

पढ़ें: Sant Rampal Ji Avataran Diwas 2023 Live Update

वहीं संत रामपाल जी के अवतरण दिवस के मौके पर आयोजित दहेज मुक्त विवाह (रमैनी) में 6 जोड़ों की दहेज मुक्त शादी संपन्न हुई तथा लगाए गए रक्तदान शिविर (Blood Donation Camp) में संत रामपाल जी के अनुयायियों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया और 176 युनिट रक्तदान किया।

सतलोक आश्रम कुरुक्षेत्र में हुआ अवतरण दिवस का सफल आयोजन

6, 7 व 8 सितंबर को संत रामपाल जी महाराज का अवतरण दिवस हरियाणा के सतलोक आश्रम कुरुक्षेत्र (Satlok Ashram Kurukshetra) में मनाया गया। इस अवसर पर अमरग्रंथ की अमृतमयी वाणी तीन दिन लगातार आस पास के क्षेत्र में गूँजती रही, तीन दिन महाविशाल धर्म भंडारा चला। साथ ही दहेज मुक्त विवाह (रमैनी), रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। अंततः आध्यात्मिक सत्संग के साथ तीन दिवसीय कार्यक्रम का समापन हुआ।

संत रामपाल जी के तत्वावधान में हुए संत रामपाल जी के अवतरण दिवस (Sant Rampal Ji Avataran Diwas) के अवसर पर 14 जोड़ों की दहेज मुक्त शादियां संपन्न हुईं और 450 युनिट रक्त दान (Blood Donation) भी किया गया। 

सतलोक आश्रम सोजत में अवतरण दिवस पर तीन दिन रहा लोगों का जमावड़ा

संत रामपाल जी महाराज के सानिध्य में राजस्थान के पाली जिले के सतलोक आश्रम सोजत (Satlok Ashram Sojat) में संत रामपाल जी महाराज के अवतरण दिवस का तीन दिवसीय कार्यक्रम बड़े ही हर्षोल्लास के साथ संपन्न हुआ। इस उपलक्ष्य पर तीन दिन आदरणीय संत गरीबदास जी के अमरग्रंथ साहिब का अखंड पाठ हुआ। तीन दिन विशाल धर्म भंडारा हुआ, जिसमें लाखों लोगों ने शिरकत की। इस दौरान आश्रम में बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ देखने को मिली। 

वहीं 27 दहेज मुक्त विवाह, 205 युनिट रक्तदान भी हुआ। संत रामपाल जी महाराज के अवतरण दिवस (Sant Rampal Ji Maharaj 73rd Avataran Diwas) के अंतिम दिन यानि 8 सितंबर को आध्यात्मिक सत्संग का भी आयोजन हुआ, जिसमें संत रामपाल जी महाराज ने पूर्णसंत के अवतरण की महिमा बताई।

सतलोक आश्रम बैतूल में हुआ भंडारा, लाखों लोगों ने की शिरकत

संत रामपाल जी के समर्थकों ने हृदय प्रदेश कहे जाने वाले मध्यप्रदेश में स्थित सतलोक आश्रम बैतूल (Satlok Ashram Betul) में संत रामपाल जी महाराज का 73वां अवतरण दिवस का तीन दिवसीय कार्यक्रम बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया, जिसका समापन 8 सितंबर को भोग की वाणी और आध्यात्मिक सत्संग के साथ हुआ। जिसके दूसरे दिन दहेज मुक्त विवाह-रमैनी (Dowry Free Marriages-Ramaini), रक्तदान शिविर का भी आयोजन हुआ। जिसमें 254 युनिट रक्तदान तो 51 जोड़ों का दहेज रहित विवाह (Dowry Free Marriages) हुआ। साथ ही, 2372 अनुयायियों ने देहदान (Body Donation) के फॉर्म भरकर समाज में एक अनोखी पहल की।

सतलोक आश्रम शामली में हर्षोल्लास से मनाया गया अवतरण दिवस

उत्तरप्रदेश के सतलोक आश्रम शामली (Satlok Ashram Shamli) में 6 – 8 सितंबर को संत रामपाल जी महाराज का 73वां अवतरण दिवस (Sant Rampal Ji Avataran Diwas) बड़े स्तर पर मनाया गया, जिसमें सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को आमंत्रित किया गया था। इस उपलक्ष्य पर अखंड पाठ, विशाल भंडारे, आध्यात्मिक सत्संग, दहेज मुक्त विवाह, रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। संत रामपाल जी महाराज के सानिध्य में हुए कार्यक्रम में 41 जोड़ों की दहेज मुक्त शादियाँ-रमैनी (Dowry Free Marriages – Ramaini) संपन्न हुईं और 72 युनिट रक्त दान भी किया गया।

सतलोक आश्रम धुरी में अवतरण दिवस का सफल आयोजन

पंजाब के संगरूर जिले के सतलोक आश्रम धुरी (Satlok Ashram Dhuri) में संत रामपाल जी महाराज का 73वां अवतरण दिवस कार्यक्रम बड़े ही हर्षोल्लास के साथ संपन्न हुआ। इस तीन दिवसीय कार्यक्रम के दौरान अखंड पाठ, अखंड भंडारा, दहेज प्रथा को खत्म करने के लिए दहेज मुक्त विवाह, समाज सेवा के मद्देनजर रक्तदान शिविर का आयोजन हुआ। इस दौरान बड़ी संख्या में आश्रम में लोगों का हुजूम उमड़ा। वहीं 2 जोड़ों का दहेज मुक्त विवाह तो 73 युनिट रक्तदान संत रामपाल जी महाराज के अनुयायियों द्वारा किया गया।

सतलोक आश्रम खमाणों में हुआ तीन दिवसीय भंडारा, पहुंचे लाखों लोग

संत रामपाल जी के अवतरण दिवस (Sant Rampal Ji 73rd Avataran Diwas) के उपलक्ष्य पर तीन दिवसीय महासमागम सतलोक आश्रम खमाणों, पंजाब (Satlok Ashram Khamano, Punjab) में मनाया गया, जिसमें तीन दिवसीय अखंड भण्डारे का आयोजन हुआ। इस धर्म भण्डारे में सभी लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से आमंत्रित किया गया था। इस दौरान संत रामपाल जी महाराज के अनुयायियों समेत कई अन्य लोग भी पहुँचे। इस दौरान 4 जोड़ों का दहेज मुक्त विवाह (रमैनी) सम्पन्न हुए जोकि समाज में एक मिसाल कायम कर रहे है। साथ ही 219 युनिट रक्तदान (Blood Donation) भी हुआ।

देश से बाहर नेपाल में भी हुआ अवतरण दिवस का अद्भुत विशाल भंडारा

भारत से बाहर पड़ोसी राष्ट्र नेपाल में स्थित सतलोक आश्रम धनुषा (Satlok Ashram Dhanusha) में भी संत रामपाल जी महाराज का अवतरण दिवस (Sant Rampal Ji Avataran Diwas) मनाया गया। इस दौरान यहाँ भी अखंड पाठ, अखंड भण्डारे, दहेज मुक्त विवाह, रक्तदान शिविर का आयोजन हुआ। जिसमें 9 जोड़ों का दहेज मुक्त विवाह (Dowry Free Marriages-Ramaini) तो 75 युनिट रक्तदान भी किया गया।

समागम में रहने वाली व्यवस्थाएं और समाज सुधार के कार्य

संत रामपाल जी महाराज का 73वां अवतरण दिवस का भव्य कार्यक्रम 9 सतलोक आश्रमों में उनके अनुयायियों द्वारा मनाया गया जो समाज में चर्चा का विषय बना हुआ है क्योंकि लाखों लोगों के एक स्थान पर रहने, खाने, सोने, रजाइयों आदि की व्यवस्था करना आम बात नहीं है। सन्त रामपाल जी महाराज के सत्संग का प्रभाव ही ऐसा है कि समागमों में बड़ी संख्या में लोगों का हुजूम देखने को मिला। जिनके खाने, पीने, ठहरने, ओढ़ने, नहाने, शौचालय, वाहनों की पार्किंग आदि की सर्व व्यवस्थाएं बिल्कुल निःशुल्क की गईं थीं।

संत रामपाल जी महाराज की शिक्षाओं से प्रभावित उनके अनुयायी निष्काम भाव से आश्रमों में सेवा में दिन रात लगे होते हैं जोकि संत रामपाल जी महाराज के दिये गए सत्यज्ञान के आधार पर सेवा देते हैं। सन्त रामपाल जी महाराज ने सत्संगों में मनुष्य जीवन के मूल उद्देश्य एवं समाज के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को स्पष्ट किया हैं। उनके सत्संगों से प्रेरित होकर ही उनके अनुयायियों द्वारा रक्तदान, देहदान एवं दहेज मुक्त विवाह के कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं, जो समाज में मिसाल पेश करते हैं। ऐसा ही इस बीते अवतरण दिवस के महासमागम में संत रामपाल जी महाराज के शिष्यों द्वारा सैकडों दहेज मुक्त विवाह, सैकड़ों युनिट रक्तदान किया गया तथा हजारों देहदान के फॉर्म भरे गए। अधिक जानकारी के लिए Sant Rampal Ji Maharaj App डाऊनलोड करें।

Latest articles

World Wildlife Day 2024: Know How To Avoid Your Rebirth As An Animal

Last Updated on 2 March 2024 IST: World Wildlife Day 2024: Every year World...

महाशिवरात्रि 2024 [Hindi]: क्या Mahashivratri पर व्रत करने से मुक्ति संभव है?

Last Updated on 2 March 2024 IST: Mahashivratri Puja Vrat in Hindi (महाशिवरात्रि 2024...

Mahashivratri Puja 2024: Does Taking Shivratri Fast Lead to Salvation?

Last Updated on 2 March 2024 IST: Maha Shivratri 2024 Puja: India is a...

Zero Discrimination Day 2024: Know About the Unique Place Where There is no Discrimination

Last Updated on 1 March 2024 IST: Zero Discrimination Day 2024 is going to...
spot_img

More like this

World Wildlife Day 2024: Know How To Avoid Your Rebirth As An Animal

Last Updated on 2 March 2024 IST: World Wildlife Day 2024: Every year World...

महाशिवरात्रि 2024 [Hindi]: क्या Mahashivratri पर व्रत करने से मुक्ति संभव है?

Last Updated on 2 March 2024 IST: Mahashivratri Puja Vrat in Hindi (महाशिवरात्रि 2024...

Mahashivratri Puja 2024: Does Taking Shivratri Fast Lead to Salvation?

Last Updated on 2 March 2024 IST: Maha Shivratri 2024 Puja: India is a...