Rajasthan PTET 2021 Result कभी भी जारी हो सकता है राजस्थान पीटीईटी रिजल्ट

Rajasthan PTET 2021 Result (राजस्थान पीटीईटी रिजल्ट) जारी, ptetraj2021.com पर करें चेक

Education News
Share to the World

Last Updated on 29 September 2021, 9:20 PM IST: राजस्थान प्री टीचर एजुकेशन टेस्ट (Rajasthan PTET 2021 Result) के नतीजों की घोषणा 28 सितंबर को दोपहर कर दी गयी है। उच्च शिक्षा मंत्री हिंदी ग्रन्थ अकादमी सभागार झालाना से परिणाम की घोषणा की गयी। इसके बाद रिजल्ट को वेबसाइट www.ptetraj2021.com पर डाल दिया गया है। इस परीक्षा में राज्य भर के लगभग 2000 केंद्रों में परीक्षा आयोजित की गई थी जिसमें लगभग 6 लाख लोग शामिल हुए थे।    

Rajasthan PTET 2021 Result के मुख्य बिंदु

  • राजस्थान ptet की परीक्षा के परिणाम हुए घोषित
  • उम्मीदवार आधिकरिक वेबसाइट पर परिणाम चेक कर सकते हैं
  • जीवन की परीक्षा में खरा उतरना है आवश्यक, जानें कैसे

राजस्थान PTET के परीक्षा परिणाम हुए घोषित

राजस्थान प्री टीचर एजुकेशन टेस्ट (Rajasthan PTET 2021 Result) के नतीजों की घोषणा 28 सितंबर को दोपहर कर दी गयी है। उच्च शिक्षा मंत्री हिंदी ग्रन्थ अकादमी सभागार झालाना से परिणाम की घोषणा की गयी। राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी द्वारा आज दोपहर 1 बजे रिजल्ट जारी किया गया। दो वर्षीय बीएड व चार वर्षीय बीए बीएड / बीएससी बीएड दोनों कोर्स के लिए परिणाम जारी कर दिए गए हैं।

आधिकारिक वेबसाइट पर परिणाम ऐसे देखें Rajasthan PTET 2021 Result

चार वर्षीय इंटीग्रेटेड कोर्स ( बीए बीएड/ बीएससी बीएड) के परिणाम घोषित हो गए है। सभी उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर अपना अनुक्रमांक भरकर परिणाम देख सकते हैं। राजस्थान पीटीईटी के लिए आधिकारिक वेबसाईट www.ptetraj2021.com, www.ptetraj2021.org और www.ptetraj2021.net हैं।  PTET के परिणाम देखना आसान है इसे निम्न बिंदुओं के अनुसार करें –

  • परिणाम देखने के लिए सर्वप्रथम आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
  • होमपेज पर लिखा हुआ होगा ‘रिजल्ट’ उस पर क्लिक करें
  • लॉगिन पेज पर पूछी गई जानकारी एवं अनुक्रमांक भरें
  • रिजल्ट स्क्रीन पर दिखाई देगा 
  • इसका प्रिंट अपने पास भविष्य के लिए सहेज कर रखें

परिणाम के साथ मेरिट भी होगा जारी

परिणाम घोषित होने के बाद उम्मीदवार आधिकरिक वेबसाइट पर मेरिट सूची देख सकेंगे जिस सूची को उम्मीदवारों द्वारा प्राप्तांकों के आधार पर बनाया जाएगा। मेरिट लिस्ट जारी होने के बाद ही काउंसलिंग की प्रक्रिया प्रारंभ होगी। उम्मीदवारों के पास होने के लिए 40 फीसदी अंक लाने अनिवार्य हैं।

■ Also Read: JEE Main Results 2021: जेईई मेन परीक्षा के नतीजे घोषित, ऐसे चेक करें रिजल्ट

Rajasthan PTET 2021 Result पर मत चूको ये दांव

परीक्षा, परिणाम, विवाह, सन्तानोत्पत्ति, दिखावा, नकली आस्था, गलत रास्ते पर चलते हुए आप कहीं ये तो नहीं भूल रहे हैं कि मनुष्य जन्म अत्यंत क्षणिक यानी पल भर का होता है। इस जन्म भोजन और व्यवसाय के चलते नर धोखे धोखे कब लुट जाता है पता ही नहीं चलता। यह शास्त्रों में प्रमाणित है कि मनुष्य का जन्म अत्यंत दुर्लभ है साथ ही चौरासी लाख प्रकार के जीवों में मानव देह ही उत्तम ठहराई गई है। इसका प्रमाण हमारे धर्म ग्रन्थों में है, उनमें मानव जन्म की श्रेष्ठता पर बल दिया है एवं धर्माचरण की बात कही है। 

व्यक्ति मूल उद्देश्य से भटका रहा है

किन्तु वास्तविक स्थिति ऐसी ही है कि आज के समय व्यक्ति का जीवन के विभिन्न पक्षों की ओर ध्यान है किंतु युधिष्ठिर से यक्ष द्वारा पूछे गए प्रश्न का उत्तर आज भी ज्यों का त्यों है। इस दुनिया का सबसे बड़ा आश्चर्य क्या है? इस प्रश्न का युधिष्ठिर ने उत्तर दिया था कि व्यक्ति प्रतिदिन लोगों को मरते देखता है किंतु स्वयं अमर होने की आशा रखता है। 

दो तरह के व्यक्ति हैं या तो वे जो मृत्यु भूल चुके हैं और या फिर वे जिन्हें अवसाद ने जकड़ रखा है और वे मृत्यु को बेहतर मानते हैं। दुखद है कि दोनों ही परिस्थितियों में व्यक्ति मूल उद्देश्य से भटका रह जाता है।

जीवन के परिणाम की तैयारी पूरी रखें 

हमारे जीवन का परिणाम भी सामने आएगा और तब एक ही निर्णय होगा या तो मोक्ष या फिर स्वर्ग-नरक और चौरासी लाख योनियों में धक्के। पूरा तत्वज्ञान तत्वदर्शी सन्त रामपाल जी महाराज ने खोलकर बताया है। हर धर्म की पुस्तकें खोलीं, सभी रहस्य खोले और नामदीक्षा के गुप्त मन्त्रों का पिटारा भी खोल दिया। 

जो नहीं खुली तो वो हैं हमारी आंखें! अब भी समय शेष है हमें गीता के अध्याय 4 में वर्णित श्लोक 34 के अनुसार तत्वदर्शी सन्त की शरण में जाना होगा अन्यथा मोक्ष सम्भव नहीं है। शिक्षित समुदाय की आंखों पर जबरन पट्टी नहीं बांधी जा सकती अतः आपसे प्रार्थना है कि शीघ्रातिशीघ्र आंखें खोलें, ज्ञान पढ़ें, समझें और अपना कल्याण करवाएं। अधिक जानकारी के लिए देखें सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल।

कह कबीर सुनो धर्मराया, हम शंखों हंसा पद परसाया |

जिन लीन्हा हमरा प्रवाना, सो हंसा हम किए अमाना ||


Share to the World

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − 9 =