JEE Main Results 2021 जेईई मेन परीक्षा के नतीजे घोषित, ऐसे चेक करें रिजल्ट

JEE Main Results 2021: जेईई मेन परीक्षा के नतीजे घोषित, ऐसे चेक करें रिजल्ट

Education News
Share to the World

इंजीनियर बनने का सपना संजोए बैठे छात्रों की इंतजार की घड़ी हुई खत्म, जेईई मेन 2021 (JEE Main Results 2021) के चौथे चरण की परीक्षा के नतीजे मंगलवार को देर रात तक जारी कर दिए गए हैं। उम्मीदवार अपने रोल नंबर और आवेदन संख्या (Registration Number)  की मदद से सत्र 4 की परीक्षा का परिणाम आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nta.nic.in, और ntaresults.nic.in पर चेक कर सकते हैं।

JEE Main Results 2021 सम्बन्धी मुख्य बिंदु

  • जेईई मेन 2021 की चौथे चरण की परीक्षा के परिणाम मंगलवार को जारी कर दिए गए हैं
  • चौथे चरण की परीक्षा 26, 27, 31 अगस्त और 2 सितंबर को हुई थी।
  • 44 उम्मीदवारों को मिला 100 परसेंटाइल 
  • 18 उम्मीदवारों ने शीर्ष रैंक हासिल की
  • 7.32 लाख छात्रों ने जेईई की परीक्षा दी थी
  • जेईई मेन चौथे चरण की परीक्षा के नतीजे आने के बाद जेईई एडवांस 2021 के लिए बुधवार, 15 सितम्बर की शाम से शुरू रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया

JEE Main Results 2021:  चौथे चरण की परीक्षा के नतीजे हुए जारी

जेईई मेन 2021 के चौथे चरण की परीक्षा के नतीजे मंगलवार की देर रात तक जारी कर दिए गए हैं। उम्मीदवार अपने रोल नंबर और आवेदन संख्या (Registration Number)  की मदद से सत्र 4 की परीक्षा का परिणाम आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nta.nic.in, और ntaresults.nic.in पर चेक कर सकते हैं।

JEE Main Results 2021 : 44 छात्रों को  मिला 100 परसेंटाइल

मालूम हो कि जेईई के चौथे चरण की परीक्षा के जारी ताजा नतीजों में 18 बच्चों को टॉपर घोषित किया गया है। उनके एक समान अंक आए हैं। वहीं 44 छात्रों को 100 परसेंटाइल मिला है। जेईई मेन के परीक्षार्थी कई दिनों से परिणाम का इंतजार कर रहे थे। 

पहले 10 सितंबर को जेईई मेन के चौथे चरण का परिणाम घोषित होना था। लेकिन कुछ अपरिहार्य कारणों से परीक्षा परिणाम में 5 दिनों का विलंब हो गया। इस वर्ष 4 चरणों में जेईई मेन की परीक्षा आयोजित की गई थी।

JEE Main Result 2021:  इन छात्रों को मिला शीर्ष स्थान

गौरव दास (कर्नाटक), वैभव विशाल (बिहार), दुग्गनेनी वेंकट पनीश (आंध्र प्रदेश), सिद्धांत मुखर्जी, अंशुल वर्मा और मृदुल अग्रवाल (राजस्थान), रुचिर बंसल और काव्या चोपड़ा (दिल्ली), अमैया सिंघल और पाल अग्रवाल (उत्तर प्रदेश) , कोम्मा शरण्या और जोयसुला वेंकट आदित्य (तेलंगाना), पासला वीरा शिवा, कर्णम लोकेश और कंचनपल्ली राहुल नायडू, (आंध्र प्रदेश), पुलकित गोयल (पंजाब) और गुरमृत सिंह (चंडीगढ़)

JEE Main Result 2021: ऐसे करें परीक्षाफल चेक

  • चरण 1 : आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nta.nic.in या ntaresults.nic.in पर जाएं।
  • चरण 2 : होम पेज पर, ‘JEE Main 2021 session 4 results’ लिंक पर क्लिक करें।
  • चरण 3 : अपना एप्लीकेशन नंबर, जन्म तिथि और सिक्योरिटी कोड (कूट संख्या) दर्ज करें।
  • चरण 4 : जानकारी (Details) भरने के बाद ‘Submit’ बटन पर क्लिक करें।
  • चरण 5 : सत्र 4 के लिए जेईई मेन का परिणाम स्क्रीन पर खुल जाएगा, इसे चेक करें।
  • चरण 6 : जेईई मेन चौथे चरण का परिणाम डाउनलोड करें और आगे के लिए प्रिंटआउट लें।

जेईई एडवांस (JEE Advance 2021) के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया भी हुई प्रारम्भ 

 राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (National Testing Agency) ने जेईई मेन (JEE Main) के चौथे चरण का परिणाम जारी कर दिया। इसके साथ ही JEE Advance के लिए रजिस्‍ट्रेशन की तिथि भी घोषित कर दी गई है। आगामी तीन अक्टूबर को जेईई एडवांस की परीक्षा होनी है। एडवांस के आधार पर ही छात्र-छात्राओं का देश भर के आईआईटी में नामांकन होना है। एडवांस के लिए रजिस्‍ट्रेशन की प्रक्रिया 15 सितंबर से शुरू हो जाएगी। रजिस्‍ट्रेशन की अंतिम तिथि 20 सितंबर की शाम पांच बजे तक है। शुल्‍क भुगतान की अंति‍म तिथि 21 सितंबर तक है। नोटिफिकेशन आधिकारिक वेबसाइट jeeadv.ac.in पर जारी किया गया है। साथ ही इस पर आवेदन के संबंध में पूरा शेड्यूल भी है।

बताया जाता है कि जेईई मेन में सफल करीब ढाई लाख छात्र एडवांस के लिए आवेदन कर सकेंगे। प्रवेश परीक्षा का आयोजन IIT Kharagpur की ओर से किया जाएगा। मालूम हो कि पहले रजिस्‍ट्रेशन की प्रक्रिया 13 सितंबर से होनी थी। लेकिन तब तक जेईई मेन के चौथे चरण का परिणाम नहीं आया था। इस कारण इसे 15 सितंबर से शुरू किया गया है। बता दें कि परीक्षा का आयोजन दो पालियों में होगा। पहली पाली सुबह नौ से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी पाली 2.30 से 5.30 बजे तक होगी।

JEE Advance 2021: जानिए कैसे करें आवेदन

  • चरण 1 :  उम्मीदवार छात्र सबसे पहले JEE एडवांस 2021 की आधिकारिक वेबसाइट jeeadv.ac.in पर जाएं।
  • चरण 2 : अब होमपेज पर JEE मेन 2021 लॉगिन आईडी और पासवर्ड का उपयोग करके लॉगिन विंडो पर रजिस्ट्रेशन करें।
  • चरण 3 : छात्र दिए गए ऑप्शन के माध्यम से JEE एडवांस के लिए नया पासवर्ड बना सकते हैं।
  • चरण 4 : सभी मांगी गई डिटेल्स के साथ JEE Advance 2021 आवेदन पत्र भरें।
  • चरण 5 : अब स्कैन किए गए डॉक्यूमेंट्स अपलोड करें।
  • चरण 6 : निर्धारित गेटवे के माध्यम से JEE Advance आवेदन शुल्क का भुगतान करें।
  • चरण 7 : अब आवेदन पत्र Submit करें और भविष्य के उपयोग के लिए उसका प्रिंटआउट लेकर रख लें।
  • जेईई एडवांस के आवेदकों को आवेदन के समय कुछ डॉक्यूमेंट्स पीडीएफ (PDF) फॉर्मेट में भी अपलोड करने होंगे

क्या है संयुक्त प्रवेश परीक्षा?

संयुक्त प्रवेश परीक्षा (Joint Entrance Examination) भारत में एक इंजीनियरिंग परीक्षा है जो विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है इसका गठन Mains और Advanced द्वारा किया जाता है। इस परीक्षा को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी सबसे अधिक स्नातक प्रतिस्पर्धी परीक्षा में से एक माना जाता है। 

यह भी पढ़ें: JEE Main Result 2021: JEE Main के सेशन 3 का परिणाम हुआ घोषित जानें जीवन की मूल परीक्षा कौन सी है?

JEE- Mains राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है जिसका आयोजन राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT), राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (NITs) और अन्य केंद्र वित्त पोषित तकनीकी संस्थानों (CFITs) में BE/BTech, BPlan और BArch में पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए किया जाता  है।

शिक्षा के समान ही आवश्यक है तत्वज्ञान

वर्तमान शिक्षा का क्या उद्देश्य है? वर्तमान शिक्षा उच्चतम अंक लाने का प्रयत्न और एक बढ़िया पैकेज वाली नौकरी पाना और कुल मिलाकर यही जीवन का उद्देश्य बन गया है। नौकरी पाना, परिवार का विस्तार करना और मर जाना। ठीक यही कार्य पशु करते हैं। मानव जीवन पशुओं से इतर है, उनसे श्रेष्ठ है।

विचार करें कि इस अनमोल मानव जीवन का उद्देश्य भी पशु-पक्षियों से भिन्न ही है। अतः माता पिता को स्वयं और उनके बच्चों को तीन वर्ष की आयु से तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज से तत्वज्ञान की नाम दीक्षा लेकर मनुष्य जीवन के वास्तविक उद्देश्य को समझना चाहिए। सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल  पर संत रामपाल जी महाराज जी के सत्संग श्रवण कर जानें कि शिक्षा के साथ-साथ तत्वज्ञान का होना कितना जरूरी है। 

शिक्षा का वास्तविक लाभ

शिक्षा सिर्फ आपको इस देह तक के क्षणिक लाभ दिला सकती है जैसे कि धन, वैभव इत्यादि परन्तु तत्वज्ञान वह अनमोल वस्तु है जिससे जन्म-जन्मों के कष्टों से एक ही बार में पूर्ण छुटकारा मिल सकता है तथा इस मानव देह में व्याप्त मानसिक अशांति, तथा शारीरिक असाध्य रोगों से भी पूर्ण छुटकारा पाया जा सकता है। संत रामपाल जी महाराज जी द्वारा लिखित अनमोल पुस्तक ज्ञान गंगा का अध्ययन कर विस्तार से जानें कि इस मानव देह का प्रथम उद्देश्य जिससे सभ्य मानव समाज अब तक वंचित है। 


Share to the World

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − 1 =