follow SA NEWS on Google News

Punjab Lockdown News Hindi: भारत में कोरोना हुआ विकराल : पंजाब में निम्नलिखित शर्तो के साथ फिर लगाया गया लाकडाउन. पंजाब में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए अमरिंदर सिंह सरकार ने एक बार फिर से लाकडाउन लगाने जैसा सख्त कदम उठाया है। पंजाब सरकार ने कोरोना से बचाव के लिए फिर से लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। हालांकि यह लॉकडाउन-1 जितना सख्त नहीं होगा। सरकार की लाख कोशिशों के बावजूद पंजाब में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2,805 है जबकि इस महामारी से अब तक 55 लोगों की जानें जा चुकी है।

पंजाब में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए:

  • पंजाब सरकार द्वारा जारी आदेशों के अनुसार पंजाब में वीकेंड (शनिवार-रविवार) और पब्लिक हॉलीडे पर पूरी तरह से लॉकडाउन रहेगा।
  • यानी कि शनिवार- रविवार और सरकारी अवकाश पर दुकानें नहीं खोली जाएंगी।
  • इसके अलावा इन दिनों में राज्य में ट्रांसपोर्टेशन पर भी रोक लगा दी गई है।
  • आदेशों के अनुसार सिर्फ उन्हीं लोगों को कहीं भी आने-जाने दिया जाएग जिनके पास ई-पास होगा।
  • इसके अलावा पंजाब सरकार ने साफ किया है कि औद्योगिक इकाइयां हफ्ते के सातों दिन खुली रहेंगी।
  • जबकि बाज़ार और अन्य दुकानें बंद रखने के आदेश दिए गए हैं।
  • दिल्ली से आने वालों को सर्टिफिकेट दिखाना ज़रुरी होगा क्योंकि दिल्ली से हर रोज 500 से 800 वाहन पंजाब में आ रहे हैं।

Punjab Lockdown News Hindi: ज़िलों में बढ़ रहे हैं कोरोना मरीज़

बता दें कि पंजाब में कोरोना महामारी के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। अमृतसर, जालंधर और पठानकोट जिलों में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अमृतसर में पिछले 24 घंटों के दौरान जहां 3 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 30 से अधिक पॉजी़टिव मामले सामने आ चुके हैं। इसके अलावा राज्यभर में कोरोना मरीजों की संख्या 2900 से पार हो चुकी है।

प्रदेश सरकार ने लगाया अपने स्तर पर लाकडाउन

कोरोना महामारी के तेजी से फैलाव के बीच लॉकडाउन में ढील देने के केंद्र सरकार के फैसले की काफी आलोचना हो रही है। ऐसे में प्रदेश सरकारों ने अपने स्तर से ही लॉकडाउन लगाना शुरू कर दिया है।

कम्युनिटी ट्रांसमिशन की आशंका बढ़ गई है

पंजाब में कोरोना के कम्युनिटी ट्रांसमिशन की आशंका को देखते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amarinder Singh) ने गुरुवार को आदेश जारी किया है कि हफ्ते के आखिरी दिनों और सार्वजनिक अवकाश वाले दिनों में सख्ती दिखाई जाएगी। इन दिनों सिर्फ ई-पास धारकों को ही आने-जाने की अनुमति होगी।

E-pass के लिए Corona Virus Alert App का प्रयोग करें

Punjab Lockdown News Hindi: कोरोना को लेकर शासन की तैयारियों पर मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए मीटिंग बुलाई थी। मीटिंग में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि मेडिकल स्टाफ और ज़रूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को छोड़कर बाकी सभी लोगों को वीकेंड्स में और छुट्टी वाले दिन कहीं भी आने-जाने की सशर्त इजाजत दी जाए। इन दिनों में बाहर निकलने के लिए Corona Virus Alert App (COVA कोवा ऐप) से ई-पास डाउनलोड करना होगा।

कैप्टन ने कहा, लॉकडाउन में सख्ती ही कोरोना के फैलाव को रोक सकती है।

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने डीजीपी दिनकर गुप्ता को आदेश दिए हैं कि हर हाल में बड़े समारोहों को रोका जाए। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अपने संदेश में यह भी कहा कि कोरोना महामारी आने वाले दिनों में खतरनाक रूप ले सकती है। सख्त लॉकडाउन के जरिए ही इस बीमारी के चरम को जितना संभव हो, टाल सकते हैं।

संक्रमितों से संक्रमण तेज़ी से फैलता है

हालांकि सावधानियां बरतना तब तक जारी रखना होगा जब तक पूरे देश में इस पर नियंत्रण नहीं पा लिया जाता। वर्धमान महावीर मेडिकल कॉलेज के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के निदेशक प्रोफेसर जुगल किशोर के अनुसार कोरोना के जितने ज्यादा सक्रिय रोगी होते हैं, उतना ही संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा रहता है। उन्होंने कहा कि ज्यों-ज्यों सक्रिय रोगियों की संख्या कम होगी, फैलाव भी कम होता जाएगा। जिन राज्यों में सक्रिय रोगियों की संख्या घट रही है, उनमें सबसे पहले महामारी नियंत्रित होगी।

कोरोनावायरस के ताज़ा आंकड़ें

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के गुरुवार तक के आंकड़ों के अनुसार, सबसे ज्यादा चंडीगढ़ में 89 फीसदी संक्रमण के मामले ठीक हो चुके हैं। जबकि पंजाब में 81 फीसदी, राजस्थान में 76 फीसदी, गुजरात में 75 फीसदी, मध्य प्रदेश में 73 फीसदी तथा ओडिशा में 70 फीसदी संक्रमण के केसेज ठीक हो चुके हैं। (इनमें स्वस्थ हो चुके और मर चुके लोगों की संख्या शामिल है।) चंडीगढ़ में महामारी पर काफी हद तक काबू पाया जा चुका है। चंडीगढ़ में संक्रमण के कुल मामले 327 हैं। सक्रिय रोगियों की संख्या 36 है। स्वस्थ हो चुके मरीज 286 हैं। अब तक पांच की जान जा चुकी है। चंडीगढ़ में संक्रमण में 89 फीसदी की कमी दर्ज की गई है।

पंजाब में संक्रमण के कुल मामले 2805 हैं। सक्रिय रोगी संख्या 518 है। स्वस्थ हो चुके मरीज 2232 हैं। अब तक 55 की जान जा चुकी है। पंजाब में संक्रमण में 81 फीसदी की कमी दर्ज की गई है।

कोरोना काल में पंजाब सरकार ने कैदियों के लिए उठाया बड़ा कदम

पंजाब की कैप्‍टन अमरिंदर सिंह सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। कोरोना के बढ़ते खतरे के मद्देनजर पंजाब सरकार ने छोटी सज़ा भुगत रहे कैदियों की रिहाई का फैसला लिया था और अब उसने अमृतसर की सेंट्रल जेल में बंद आतंकी दविंदरपाल सिंह भुल्लर को 42 दिन के लिए पैरोल पर रिहा कर दिया है। उसे सरकारी वाहन में उसके आवास पर छोड़ दिया गया। भुल्लर को फांसी सज़ा मिली थी जो सुप्रीम कोर्ट ने उम्रकैद में बदल दी है। दोबारा लगाए गए लाकडाउन के बाद अब देखते रहना होगा कि पंजाब सरकार कोरोनावायरस को फैलने से कितने दिनों में खत्म कर पाती है।