Maharashtra-Coronavirus-Lockdown-Update-hindi-news

Maharashtra Coronavirus Lockdown Update: ठाणे में लगा लॉकडाउन; सत भक्ति में ही समाधान

CoronaVirus Updates Hindi News

Maharashtra Coronavirus Lockdown Update: वैश्विक महामारी COVID-19 से संक्रमित मरीजों की रफ्तार पर विराम चिन्ह लगाने के लिए उद्धव सरकार व स्थानीय प्रशासन ने लगाया महाराष्ट्र के ठाणे में लॉकडाउन। बुद्धिजीवी प्रिय पाठकों को अवगत कराएंगे कि  COVID-19 जैसी घातक बीमारियों का स्थाई समाधान केवल सत भक्ति है।

Maharashtra Coronavirus Lockdown Update: मुख्य बिंदु

  • COVID-19 से संक्रमित मरीजों की बढ़ती तादाद ने बढ़ा दी महाराष्ट्र सरकार की चिंता
  • COVID-19 के संक्रमण से बढ़ते मामलों ने स्थानीय प्रशासन की भी नींद उड़ा दी है
  • हाल ही में मुंबई में COVID-19 के सक्रिय मरीजों की संख्या में 89 प्रतिशत की बढ़ोतरी  देखी गयी
  • महाराष्ट्र के ठाणे के 11 हॉटस्पॉट क्षेत्रों में 13 मार्च से 31 मार्च तक लगाया गया लॉकडाउन
  • सत भक्ति अपनाएं सभी रोगों दुखों से मुक्ति पाएं
  • सतलोक ही वह शाश्वत स्थान है जहां कोई दुख, बीमारी, जन्म-मरण नहीं हैं
  • संत रामपाल जी महाराज जी के पास है सभी रोगों, दुःखों को दूर करने की सत ज्ञान रूपी दवा

Maharashtra Coronavirus Lockdown Update: इन चिन्तनीय आंकड़ों के कारण ठाणे में लगा लॉकडाउन

सोमवार को आई रिपोर्ट के अनुसार महाराष्ट्र के ठाणे में वैश्विक कोरोना महामारी के 780 नए मामले सामने आए हैं। कोरोना संक्रमण से सोमवार को 3 और लोगों के मरने की खबर सामने आई है। लोगों के संक्रमण से मरने के कारण अब आंकड़ा बढ़कर 6,302 हो गया है। स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि COVID-19 के कारण मृत्यु दर 2.34 प्रतिशत है।

Maharashtra Coronavirus Lockdown Update: ठाणे के 11 हॉटस्पॉट क्षेत्रों को चिन्हित कर लगाया लॉकडाउन

स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि महाराष्ट्र के ठाणे के 11 हॉटस्पॉट क्षेत्रों को चिन्हित कर महाराष्ट्र सरकार व स्थानीय प्रशासन ने 13 मार्च से 31 मार्च तक लॉकडाउन लगाने की घोषणा की, क्योंकि कोरोना से निजात पाने लिए सरकार के पास केवल यही हथियार है।

वैश्विक महामारी का प्रकोप आज भी जारी है

Maharashtra Coronavirus Lockdown Update: कोरोना वैश्विक महामारी के मरीजों की संख्या में बीते दिनों में ठाणे में अत्यधिक बढ़ोतरी दर्ज की गई है। गत दिनों में मुंबई का तो ये हाल है कि सक्रिय मरीजों की संख्या में 89 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखी गयी, जो कि स्थानीय प्रशासन के लिए बहुत बड़ी चिंता का विषय है।

सतलोक (अमरलोक) में नहीं है कोई भी रोग-दुःख

इस पृथ्वी लोक (मृत्युलोक) में दुःख ही दुःख हैं, यहां कब कोई घातक बीमारी हो जाये या कब मौत का बुलावा आ जाये कोई पता नहीं

गुरु नानक जी ने कहा है कि: 

ना जाने ये काल की कर डारै, किस विधि ढल जाए पासा वे।

जिन्हादे सिर ते मौत खुड़गदी, उन्हानूं केड़ा हांसा वे।।

सतलोक (अमरलोक) ही वह शाश्वत स्थान है जहां पृथ्वी लोक (मृत्युलोक) की तरह जन्म-मृत्यु, रोग-दुख नहीं हैं, संत गरीबदास जी ने सतलोक (अमरलोक) की महिमा का बखान अपनी अमृतमयी वाणी में बताया है कि

यह भी पढ़ें: Maharashtra Lockdown News: क्या महाराष्ट्र में फिर लगेगा लॉकडाउन? सतभक्ति ही एकमात्र समाधान

गरीब, अजब नगर में ले गए, हमको सतगुरु आन।

झिलके बिम्ब अगाध गति, सूते चादर तान।।

संत रामपाल जी महाराज ही हैं वर्तमान में असली संकटमोचक

कबीर, सतगुरु शरण में आने से, आई टलै बला।

जै भाग्य में सूली लिखी हो, कांटे में टल जाय।।

समर्थ कबीर परमेश्वर के कृपा पात्र सच्चे सतगुरु संत रामपाल जी महाराज जी से दीक्षा लेने वाले साधक की परमात्मा रक्षा करता है। ऋग्वेद मंडल 10 के सूक्त 161 के मंत्र 1 व 2 में प्रमाण है कि यदि पूर्ण परमात्मा कविर्देव जी के साधक की आयु क्षीण हो चुकी हो तो पूर्ण परमात्मा कविर्देव जी अपने भक्त (साधक) को मृत्यु से बचाकर 100 वर्ष की सुखमय आयु प्रदान करते हैं। 

जम जौरा जासे डरें, मिटें कर्म के लेख।

अदली अदल कबीर हैं, कुल के सतगुरु एक।।

आदमी की आयु घटै, तब यम घेरे आय। 

सुमिरन किया कबीर का, दादू लिया बचाय।

मानव देह रूपी खेत में सत भक्ति रूपी बीज डालना अत्यंत आवश्यक

बिना समय गवाएं आज ही संत रामपाल जी महाराज जी से निःशुल्क नाम दीक्षा प्राप्त करें तथा मनुष्य देह रूपी खेत में सत भक्ति रूपी बीज डालकर इस देह को सार्थक बनाएं।

नाम बिना सूना नगर, पड़या सकल में शोर।

लूट न लूटी बन्दगी, हो गया हंसा भोर।।

अधिक जानकारी के लिए सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल विजिट करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *