GHMC Election Results 2020 hindi

GHMC Election Results 2020: भारत के सबसे बड़े नगर निगम चुनावों में से एक ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव में बीजेपी ने मारी बाज़ी

Hindi News News

GHMC Election Results 2020: सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) हैदराबाद सिविक चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है, जिसने 55 सीटें जीती हैं, जिसके बाद भाजपा ने 49 सीटों पर जीत हासिल कर महत्वपूर्ण चुनावी बढ़त बना ली है। 44 सीटों पर, AIMIM ने भगवा पार्टी को पीछे छोड़ दिया, लेकिन हैदराबाद के पुराने शहर के अपने पारंपरिक गढ़ में अच्छा प्रदर्शन किया। मतगणना की दौड़ में कांग्रेस काफी पीछे है।

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव की मतगणना शुक्रवार की सुबह 8 बजे से शुरू हो गई और तेलंगाना राज्य चुनाव आयोग (एसईसी) ने शहर में 30 स्थानों पर मतगणना केन्द्र बनाए जिसमें जीएचएमसी के 150 वार्डों में से 149 के लिए 01 दिसम्बर को मतदान हुआ था और एक वार्ड में बृहस्पतिवार को दोबारा मतदान कराया गया , इसका कारण यह रहा कि 01 दिसंबर को मतदान के दौरान मत पत्र में गलती पकड़ी जाने के बाद ओल्ड मालकपेट वार्ड में दोबारा मतदान कराया गया।

01 दिसम्बर को हुए चुनाव में 74.67 लाख पंजीकृत मतदाताओं में से 34.50 लाख (46.55 प्रतिशत) मतदाताओं ने अपने मताधिकारों का इस्तेमाल किया था। एसईसी ने कोविड-19 के मद्देनजर प्रमुख राजनीतिक दलों और स्वास्थ्य विभाग के साथ परामर्श करने के बाद मतपत्र से चुनाव कराने का निर्णय किया था।

हैदराबाद जीएचएमसी चुनाव परिणाम 2020 मतदान (GHMC Election Results 2020) से संबंधित मुख्य बातें

  • GHMC मतदान की मतगणना शुक्रवार 4 दिसंबर की सुबह 8 बजे शुरू हुई ।
  • तेलंगाना राज्य चुनाव आयोग ने शहर में 30 स्थानों पर मतगणना केंद्र बनाए ।
  • 01 दिसबंर को हुए चुनाव में 74.67 लाख पंजीकृत मतदाताओं में से केवल 34.50 मतदाताओं ने मतदान किया ।
  • इस ऐतिहासिक चुनाव में बीजेपी बड़ी जीत की ओर बढ़ती दिखी, जिसमें वह 78 सीटों से आगे थी ।
  • नागरिक निकाय चुनाव तीन दलों – टीआरएस, भाजपा और एआईएमआईएम के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई है।
  • पिछले चुनाव में TRS को मिली थी जीत ।
  • टीआरएस एकल-सबसे बड़ी पार्टी है, बीजेपी की उछाल ने AIMIM को तीसरे स्थान पर पहुंचा दिया है।
  • दो क्षेत्र ऐसे हैं जहाँ बीजेपी ने असाधारण रूप से अच्छा प्रदर्शन किया है, एलबी नगर और सिकंदराबाद – जो पार्टी द्वारा जीते गए वार्डों की कुल संख्या का लगभग दो-तिहाई है।
  • नाशवान संसार में पद-प्रतिष्ठा, अधिक और अधिक धन पाने के चक्कर में मानव कर रहा है अपने जीवन का नाश।
  • केवल सदभक्ति के लिए मिलता है जीवन ,दैनिक कार्य करते-करते करनी चाहिए भक्ति।
  • तत्त्वदर्शी संत की शरण में जाने से होगा आत्मज्ञान ,जिससे होगा हर इंसान सुखी।

हैदराबाद में भी जीत सकती है बीजेपी

आप को बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हैदराबाद नगर निगम चुनाव में बीजेपी बड़ी जीत की ओर बढ़ती दिख रही थी । सुबह 10 बजे तक के रुझानों में भाजपा ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया था । बीजेपी फिलहाल, 78 सीटों पर आगे चल रही थी, वहीं टीआरएस 32, ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम 16 और कांग्रेस एक सीट पर आगे थी। बता दें कि कुल 150 सीटों पर चुनाव हुए हैं और बहुमत के लिए 75 सीटों की जरूरत थी।

GHMC Election Results 2020: महत्पूर्ण क्यों रहा है ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव?

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (GHMC) देश के सबसे बड़े नगर निगमों में से एक है। यह नगर निगम 4 जिलों में है, जिनमें हैदराबाद, मेडचल-मलकजगिरी, रंगारेड्डी और संगारेड्डी शामिल हैं। पूरे इलाके में 24 विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं तो तेलंगाना की 5 लोक सभा सीटें आती हैं। यही वजह है कि ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव में केसीआर से लेकर बीजेपी, कांग्रेस और असदुद्दीन ओवैसी तक की साख दांव पर लगी हुई है।

■ यह भी पढ़ें: Bihar Election Results 2020 (बिहार विधानसभा चुनाव परिणाम): राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को बहुमत 

इस बार 46.55% मतदान हुआ ,2009 के हैदराबाद नगर निगम चुनाव में 42.04 फीसदी तो 2016 में हुई नगर निगम चुनाव में 45.29 फीसदी लोगों ने ही वोट डाले थे । हालांकि पिछले 2 चुनाव से ज़्यादा इस बार वोटिंग दर्ज की गई ।

2016 में टीआरएस को मिला था बहुमत

2016 में हुए ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव की बात करें तो टीआरएस ने 150 वार्डों में से 99 वार्ड में जीत हासिल की थी, जबकि असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM को 44 वार्ड में जीत मिली थी जबकि बीजेपी महज तीन नगर निगम वार्ड में जीत दर्ज कर सकी थी और कांग्रेस को महज दो वार्डों में ही जीत मिली थी।

क्या करना चाहिए और क्या कर रहा है मानव?

कबीर साहेब जी कहते हैं

कबीर यह माया अटपटी, सब घट आन अड़ी ।
किस किस ने समझाऊँ, यहां कुँए भाँग पड़ी ।।

कबीर साहेब जी समझा रहे हैं कि यहां माया रूपी भाँग सबने पी रखी है। मनुष्य जीवन का मूल उद्देश्य परम पिता परमात्मा की भक्ति करके मोक्ष प्राप्त करना है। मानव माया/धन/पद के नशे में नाशवान संसार के खेल को समझ नहीं पा रहे हैं। इस नाशवान संसार की वस्तुओं को पाने के प्रयासों में जीवन का अमूल्य समय बर्बाद कर रहे हैं , मनुष्य जन्म बार बार नहीं मिलता। मानव जन्म केवल सदभक्ति करने के लिए परमात्मा देते हैं।

मतदाताओं ,राजनीतिज्ञों और सर्वसमाज से हाथ जोड़कर विनती है कि तत्वज्ञान समझने हेतु संत रामपाल जी महाराज द्वारा लिखित पुस्तक ज्ञान गंगा को पढ़ें ताकि आप सर्वसृष्टि रचनहार कुल मालिक को पहचान कर अपने जीवन को व्यर्थ जाने से बचा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *