Bihar Election Results 2020 (बिहार विधानसभा चुनाव परिणाम): राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को बहुमत

Date:

Bihar Election Results 2020: सत्रहवी विधानसभा के इस महासंग्राम में बिहार विधानसभा की 243 सीटों पर हुए चुनाव में 4 करोड़ 10 लाख वोटरों ने मतदान दिया। मतगणना में आये नतीजों के अनुसार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) ने एक बार फिर से राज्य में 125 सीटें जीतकर बहुमत हांसिल किया। बहुमत के लिए 122 सीटों पर जीत दर्ज करने की आवश्यकता थी। बहुमत से 3 अधिक सीटें जीतकर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) एक प्रमुख पार्टी की छवि हांसिल की तथा अपनी सत्ता पुनः स्थापित की। चुनाव परिणामों से उत्साहित भाजपा कार्यकर्ताओं ने जहां शंखनाद किया तो वहीं जनता दल (यूनाइटेड) (JDU) कार्यकर्ताओं ने पटाखे जलाकर जश्न मनाया। पाठकगण यह भी जानेंगे कि मनुष्य जन्म का उद्देश्य सतभक्ति कर मोक्ष प्राप्त करना है।

Table of Contents

Bihar Election Results 2020 के मुख्य बिंदु

  • बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Election Results) के परिणामों से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन या NDA में खुशी की लहर
  • काम आया पीएम मोदी का “सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास” फॉर्मूला
  • यह हर बिहार वासी की आशाओं और आकांक्षाओं की जीत है: केंद्रीय गृहमन्त्री अमित शाह
  • बिहार ने दुनिया को बताया कि कैसे लोकतंत्र को किया जाता है मजबूत: पीएम मोदी
  • लालू यादव के दोनों बेटे तेजस्वी यादव व तेज प्रताप यादव जीते
  • लड़े के बा, जीते के बा, हिम्मत नहीं हरे के बा: तेजस्वी यादव की बहन
  • विपक्ष ने चुनाव आयोग पर लगाए धांधली के लगे आरोप
  • चुनाव आयोग ने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों पर अपने तटष्थ होने की दी सफाई
  • बिहार विधानसभा जीत के बाद उत्तरप्रदेश सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा मोदी है, तो मुमकिन है
  • राजपद प्राप्त करने मात्र से मनुष्य जीवन का मूल उद्देश्य नहीं होगा पूरा
  • संत रामपाल जी महाराज ही एकमात्र ऐसे संत जिनकी सत्ता का है सबको इंतजार

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 परिणाम के पश्चात सीटों का गणित

बिहार विधानसभा 2020 (Bihar Election Results 2020) के लोकतंत्र के इस महासंग्राम में 243 सीटों पर हुई भिड़त के नतीजे सामने आ गए हैं। अब तक जीती हुई घोषित सीटों में से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन या एनडीए को 125, महागठबंधन को 110 और एमआईएमआईएम AIMIM (ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन) को 5, बसपा (बहुजन समाजवादी पार्टी), लोक जनतांत्रिक पार्टी और निर्दलीय को 1-1-1 सीटें मिली हैं। इस प्रकार लोकतंत्र के इस महासमर में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन NDA ने बहुमत हांसिल किया।

  • राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन NDA के अंर्तगत आने वाली पार्टियों में भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने 74 सीटें, जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने 43 सीटें, विकासशील इंसान पार्टी (VIP) ने 4 सीटें, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) ने 4 सीटों पर जनाधार हांसिल किया।
  • दूसरी ओर विपक्षी महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने 75 सीटें, कांग्रेस ने 19 सीटें, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्सवादी लेनिनवादी (Communist Party of India Marxist Leninist Liberation) ने 12 सीटें, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) एवं भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) ने 2-2 सीटों पर विजय हांसिल की।
  • तेजस्वी यादव की राष्ट्रीय जनता दल (RJD) 75 सीटों पर विजय के साथ सबसे बड़ी पार्टी उभरकर निकली। वहीं दूसरी ओर 74 सीटों पर फतह के साथ भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के बाद दूसरी बड़ी पार्टी बनी।

Bihar Election Results 2020: प्रधानमंत्री मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने जनता का आभार प्रकट किया

इस बीच प्रधानमंत्री मोदी तथा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इस जनाधार के लिए बिहार की जनता का आभार प्रकट किया.

सदन में साथ नजर आएंगे समधी-समधन, भाई ने भाई को हराया तो पति-पत्नी भी हारे

बिहार विधानसभा चुनाव में कई जगह रिश्ते भी दांव पर थे। सत्रहवीं विधानसभा में समधी-समधन साथ नजर आएंगे। वहीं जोकीहाट में सगे भाई ने ही भाई को हरा दिया। मां-बेटे में से बेटा विधानसभा पहुंच गया तो पति-पत्नी में से कोई भी जीत हासिल नहीं कर सका। वहीं ससुर और चाचा भी विधानसभा पहुंच सके हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री सह हम के अध्यक्ष जीतनराम मांझी इमामगंज से तो उनकी समधन ज्योति देवी बाराचट्टी से चुनाव जीत गई हैं। जोकीहाट सीट पर पूर्व मंत्री तस्लीमुद्दीन के दो बेटे सरफराज राजद से और शाहनवाज एआईएमआईएम से चुनाव मैदान में थे। शाहनवाज ने अपने भाई सरफराज को हरा दिया है।

जदयू के कौशल कुमार नवादा से और उनकी पत्नी पूर्णिमा देवी गोविंदपुर से चुनाव हार गई हैं। आलमनगर से विधि मंत्री नरेंद्र नारायण यादव तो चुनाव जीत गए मगर उनके दामाद निखिल मंडल मधेपुरा सीट से चुनाव हार गए।

■ यह भी पढ़ें: Bihar Chunav Exit Poll 2020: बिहार में अबकी बार किसकी बनेगी सरकार ,सबकी नज़रें हैं 10 नवंबर के नतीजों पर 

पूर्व सांसद आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद सहरसा से पिछड़ गईं मगर उनके बेटे चेतन आनंद ने शिवहर से जीत दर्ज की। इसी तरह पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह के भाई केदारनाथ सिंह तो बनियापुर से जीत गए मगर उनके पुत्र रणधीर कुमार सिंह छपरा सीट पर पिछड़ गए।

Bihar Election Results 2020 के नतीजों में कई दिग्गजों की जीत-हार का सिलसिला

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने इमामगंज से अपने निकटतम प्रतिद्वन्दी उदय नारायण चौधरी को 16000 मतों से मात दी और जीत के बाद कहा कि बिहार जी जनता ने नितेश कुमार और पीएम मोदी के द्वारा किये गए कार्यों को देखकर जनता ने समर्थन दिया है।

तो वहीं दूसरी ओर लालू प्रसाद यादव के समधी चंद्रिका राय परसा सीट से चुनाव हार गए हैं। लालू प्रसाद यादव के समधी चंद्रिका यादव जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे थे। वहीं नितेश सरकार में नगर विकास मंत्री रहे सुरेश शर्मा भी मुजफ्फरनगर सीट से चुनाव हार गए हैं।

  • बेगूसराय लोकसभा क्षेत्र में आने वाली चेरिया बरियारपुर विधानसभा सीट से मैदान में उतरीं पूर्व मंत्री मंजू वर्मा हार गई हैं।
  • मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड से चर्चा में आईं पूर्व मंत्री को राजद के राजवंशी महतो ने 40000 से भी ज्यादा वोटों से हराया।
  • राजद के राजवंशी महतो को 68635 वोट मिले। मंजू वर्मा केवल 27738 वोट ही हासिल कर सकीं। लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) की राखी देवी ने भी मंजू वर्मा का जबरदस्त पीछा किया। रेखा को 25437 वोट मिले।

Bihar Election Results 2020 [Hindi]: चुनाव आयोग पर फिर उठे सवाल

बिहार विधानसभा चुनाव के जैसे-जैसे नतीजे आते रहे वैसे-वैसे आरोपों का दौर भी शुरू हो गया। पिछड़ती राजद के नेताओं ने चुनाव आयोग पर धांधली के आरोप लगाए हैं।

  • चुनाव आयोग ने अपने ऊपर लगे आरोपों पर दी सफाई

चुनाव में गड़बड़ी के राजद के आरोप पर चुनाव आयोग ने सफाई दी है। चुनाव आयोग ने कहा है कि हम नियम के मुताबिक काम कर रहे हैं। चुनाव आयोग ने कहा है कि जहां तक रिकाउंटिंग की बात है तो जिन सीटों पर जीत-हार का फासला कम है वहां दोबारा मतगणना संभव है।

  • सुबह से दिखने लगी थी सोशलसाइट पर गहमागहमी

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे व राष्ट्रीय जनता दल के प्रत्याशी तेजप्रताप यादव ने अपने छोटे भाई तेजश्वी यादव को ट्वीट कर “तेजश्वी भवः बिहार” लिखा।

बिहार का होगा नया दशक: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि बिहार के युवा साथियों ने स्प्ष्ट कर दिया की नया दशक बिहार का होगा और आत्मनिर्भर बिहार उसका रोडमैप है। बिहार के युवाओं ने अपने सामर्थ्य और एनडीए के संकल्प पर भरोसा किया है। इस युवा ऊर्जा से अब एनडीए को पहले की अपेक्षा और अधिक परिश्रम करने का प्रोत्साहन मिला।

  • लालू यादव की बेटी ने कसा तंज

तेजस्वी यादव की बहन तथा लालू प्रसाद यादव की बेटी लक्ष्मी यादव ने चुनाव नतीजों के आने से पहले ट्वीट करके कहा कि “प्रकृति का नियम है कि शाम होते ही कमल मुरझा जाता है और लालटेन उजाला करती है।”

खिसियानी बिल्ली खम्भा ही नोचती है: संजय जायसवाल

बिहार के भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने पार्टी की जीत पर खुशी जाहिर की और साथ ही चुनाव परिणामों पर हंगामा कर रहे राजद नेताओं पर तंज कसा और कहा कि “खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचे”

बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा, ‘हम पूर्ण बहुमत प्राप्त कर चुके हैं. क्योंकि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) तथा राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के बीच इतना अंतर है कि इसमें अब कोई परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। इनका (RJD) एक ही एजेंडा है जीते तो ठीक और अगर नहीं जीते तो चीटिंग का आरोप लगाते हैं।

राजपद प्राप्त करने से मुक्ति नहीं दुर्गति होगी: संत रामपाल जी महाराज

“तपेश्वरी सो राजेश्वरी, राजेश्वरी सो नरकेश्वरी।”

तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी अपने अनमोल सत्संग में बताते हैं कि राजपद प्राप्त करने के बाद मनुष्य अपना जीवन सुख और ऐश्वर्य में खो देता है और सद्भक्ति के अभाव में उसका विवेक शून्य हो जाता है तथा विवेक खोने के कारण लालसाएं बढ़ती जाती हैं और उन लालसाओं की पूर्ति के लिए मनुष्य अच्छे-बुरे में फर्क भी नहीं करता है और गलत कार्यों को करने लगता है जिससे उसके पुण्य क्षीण हो जाते हैं जिस कारण फिर अंत में उसे नरक की पीड़ा भोगना पड़ती है।

“दोजख बहिश्त सभी तै देखे, राजपाट के रसिया।
तीन लोक से तृप्त नाहीं, यह मन भोगी खसिया”।।

तत्वज्ञान के अभाव में पूर्णमोक्ष का मार्ग न मिलने के कारण कभी दोजख अर्थात नरक में गए, कभी बहिश्त अर्थात स्वर्ग में गए, कभी राजा बनकर आनन्द लिया। यदि इस मानव को तीन लोक का राज भी दे दें तो भी तृप्ति नहीं होगी।

उदाहरण सहित समझिये तत्वज्ञान को

यदि कोई गांव का सरपंच बन जाता है तो वह इच्छा करता है कि विधायक बने तो मौज होवे। विधायक इच्छा करता है कि मंत्री बनूँ तो आनन्द ही न्यारा होगा। क्रमशः मुख्यमंत्री बनने के पश्चात प्रबल इच्छा होती है कि प्रधानमंत्री बनूँ तो जीवन सार्थक हो। तब तक जीवन लीला समाप्त हो जाएगी। फिर गधा बनकर कुम्हार के डंडे खा रहा होगा। इसलिये तत्वज्ञान में समझाया है कि काल ब्रह्म द्वारा बनाई गई स्वर्ग-नरक तथा राजपाट प्राप्ति की भूल-भुलैया में सारा जीवन व्यर्थ कर दिया। कहीं संतोष नहीं हुआ, यह मन ऐसा खुसरा (हिजड़ा) है।

पूर्ण गुरु की प्राप्ति के पश्चात राजपाट रूपी सभी इच्छाएं समाप्त हो जाती हैं

“सतगुरु मिलैं तो इच्छा मेटैं, पद मिल पदे समाना।
चल हंसा उस लोक पठाऊँ, जो आदि अमर स्थाना”।।

यदि तत्वदर्शी संत अर्थात सद्गुरु मिलें तो सद्ज्ञान बताकर काल ब्रह्म की सर्व वस्तुओं से तथा पदों से इच्छा समाप्त करके “पद मिल पदे समाना” इसमें एक पद का अर्थ है पद्धति अर्थात शास्त्रविधि अनुसार साधना। दूसरे “पद” का अर्थ है “परम् पद” अर्थात “पदवी”। सद्गुरु शास्त्र विधि अनुसार पद्धति बताकर परमेश्वर के उस परम पद की प्राप्ति करवा देता है जहां जाने के पश्चात साधक फिर लौटकर कभी नहीं आते।

गीता अध्याय 18 के श्लोक 62 में गीता ज्ञान दाता अर्जुन से कह रहे हैं कि हे अर्जुन तत्वदर्शी संत तुझे वह भक्ति मार्ग बताएगा जिससे तू उस परम् धाम को चला जायेगा, जहां पर परम् शांति है।

“चार मुक्ति जहां चम्पी करती, माया हो रही दासी।
दास गरीब अभय पद परसै, मिले राम अविनाशी”।।

सद्भक्ति से सर्व सुख-सुविधाएं सम्भव

संत रामपाल जी महाराज सत्संग में बताते हैं कि सर्व सुख-सुविधाएं धन से होती हैं। वह धन शास्त्रविधि अनुसार भक्ति करने वाले संत-भक्त की भक्ति का स्वतः होने वाला, जिसको प्राप्त करना उस भक्त (साधक) का उद्देश्य नहीं, फिर भी अवश्य प्राप्त होता है। जैसे कि किसी ने गेहूं की फसल बोई हो तो उसका उद्देश्य गेहूं का अन्न प्राप्त करना है, परन्तु भुस अर्थात चारा भी अवश्य प्राप्त होता है। इसी प्रकार सत्य साधना करने वाले को अपने आप धन, माया, शारीरिक सुख अवश्य मिलता है।

तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज से लें निःशुल्क नामदीक्षा

वर्तमान में पूरे विश्व में पूर्ण गुरु अर्थात तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज ही हैं, तो आज ही संत रामपाल जी से निःशुल्क नाम दीक्षा प्राप्त करें और सद्भक्ति प्रारंभ करें। सद्भक्ति से परिचित होने हेतु देखें अनमोल सत्संग साधना टीवी पर प्रतिदिन शाम【07:30 – 08:30】भारतीय समयानुसार। संत रामपाल जी महाराज द्वारा लिखित पुस्तक “जीने की राह” का अवश्य अध्ययन करें। अधिक जानकारी के लिए सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल पर सत्संग सुने।

About the author

Administrator at SA News Channel | Website | + posts

SA News Channel is one of the most popular News channels on social media that provides Factual News updates. Tagline: Truth that you want to know

SA NEWS
SA NEWShttps://news.jagatgururampalji.org
SA News Channel is one of the most popular News channels on social media that provides Factual News updates. Tagline: Truth that you want to know

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 + 18 =

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

Commonwealth Day 2022 India: How the Best Wealth can be Attained?

Last Updated on 24 May 2022, 2:56 PM IST...

International Brother’s Day 2022: Let us Expand our Brotherhood by Gifting the Right Way of Living to All Brothers

International Brother's Day is celebrated on 24th May around the world including India. know the International Brother's Day 2021, quotes, history, date.