December 5, 2023

CTET Result 2023: सीबीएसई सीटेट परीक्षा के नतीजे हुए घोषित, ऐसे करें जल्दी से चेक

Published on

spot_img

आपको बता दें कि 25 सितंबर 2023 को सीबीएसई द्वारा आयोजित की गई सीटेट परीक्षा (CTET Result 2023) के परिणाम घोषित कर दिए गए हैं। जिसकी परीक्षा अगस्त में आयोजित की गई थी । वह उम्मीदवार जो सीबीएसई बोर्ड द्वारा आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा में उपस्थित रहे, वे परीक्षा परिणाम (अंक) देखने हेतु तथा पूर्ण जानकारी के लिए विस्तार से पढ़ें ।

Table of Contents

CTET Result 2023 सम्बन्धी मुख्य बिंदु

  • सीबीएसई बोर्ड द्वारा सीटेट परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए गए हैं 
  • यह केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा अगस्त 2023 में आयोजित की गई थी।
  • सीटेट 2023 परीक्षा में लगभग 29 लाख उम्मीदवारों द्वारा आवेदन किया गया था ।
  • इस परीक्षा में कुल 80 % उम्मीदवार उपस्थित रहे, परिणाम देखने हेतु आधिकारिक वेबसाइट जारी की गई है ।
  • दूसरी ओर यदि देखा जाए तो सीटेट एग्जाम 20 अगस्त 2023 को 2- शिफ्ट में आयोजित किया गया था । 
  • CTET की प्रोविजनल आंसर – की 16 सितंबर 2023 को जारी की गई और ऑब्जेक्शन विंडो 18 सितंबर को लॉक कर दी गई थी।
  • मानव जन्म केवल सांसारिक कार्यों में लिप्त होने के लिए नहीं हुआ है ।
  • हमारे जीवन का परम  लक्ष्य है पूर्ण मोक्ष प्राप्त करना,  जिसके लिए पूर्ण संत रामपाल जी महाराज से मोक्षदायिनी भक्ति विधि प्राप्त करना चाहिए ।

आइए CTET Result 2023 के बारे में विस्तार से जानें 

आप सभी को पूर्व में बताया है कि 25 सितंबर 2023 को CBSE Board द्वारा CTET Exam 2023 के परीक्षा परिणाम (अंक) जारी कर दिए गए हैं। सभी उम्मीदवार इस समय का इंतजार कर रहे थे, आज उनका इंतजार खत्म हुआ। किसी को भी परीक्षा परिणाम देखने में दिक्कत नहीं होनी चाहिए, इसके लिए आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in उपलब्ध कराई गई है। परीक्षार्थी अपने प्राप्तांकों को दी गई वेबसाइट पर बड़ी आसानी से देख सकते हैं। आपको बता दें कि आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार, सीटेट 2023 जो की अगस्त में आयोजित हुई थी, इसमें लगभग 29 लाख उम्मीदवारों द्वारा आवेदन किए गए थे, जिनमें से केवल 80 % उम्मीदवार ही परीक्षा में शामिल हुए। यह केवल पात्रता परीक्षा है, जिनको केंद्रीय विद्यालयों में शिक्षक के रूप में जॉब प्राप्त करनी होती है, उनको प्रथम चरण में CTET एग्जाम को पास करना होता है । इस एग्जाम में पास उम्मीदवार ही केवल चयन परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

CTET RESULT 2023 की विशेष बात

सीबीएसई द्वारा सीटेट एग्जाम को 20 अगस्त 2023 को 2 – चरण (शिफ्ट) में आयोजित किया गया। पहले चरण में पेपर – 1 जो कि कक्षा 1 से 5 के अध्यापक बनने के लिए होता है, जिसमें  कुल 15,01,719 उम्मीदवारों के ही आवेदन हुए थे और दूसरी ओर पेपर – 2 जो कि कक्षा 6 से 8 तक के लिए होता है, जिसमें लगभग 14,02,184 उम्मीदवारों के आवेदन हुए थे। सीबीएसई के माध्यम से सीटेट एग्जाम की प्रोविजनल आंसर-की 16 सितंबर 2023 को जारी हुई थी और ऑब्जेक्शन विंडो को 18 सितंबर 2023 को लॉक कर दिया गया था। परीक्षा से संबंधित प्राप्त आपत्तियों के निराकरण के उपरांत परीक्षा परिणाम जारी किए हैं ।

सभी उम्मीदवार अपना परीक्षा परिणाम नीचे दिए गए चरणों अनुसार देख सकते हैं

  1. सर्व प्रथम उम्मीदवार आधिकारिक सीबीएसई सीटीईटी वेबसाइट ctet.nic.in लिंक को ओपन करें ।
  2. इसके तुरंत बाद होमपेज पर आपको “CTET Result 2023” लिंक देखने को मिलेगा, जिस पर आपको क्लिक करना होगा ।
  3. तीसरे स्टेप में आपको अपना लॉग इन क्रेडेंशियल दर्ज करना है और “सब्मिट” ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  4. इसके बाद आपका रिजल्ट स्क्रीन पर आपके सामने होगा, जिसका आपको इंतजार था।
  5. रिजल्ट की कॉपी डाउनलोड भी कर सकते हैं और इसका प्रिंटआउट भी प्राप्त कर, आगे के लिए अपने पास रख सकते हैं।

यह जानना बहुत ही महत्वपूर्ण हैं कि आपको परीक्षा परिणाम जारी होने के बाद क्या करना हैं ?

ये जानकारी उन उम्मीदवारों के लिए है, जिन्होंने सीटेट परीक्षा में पेपर 1 क्वालिफाइड कर लिया हो, वे सभी अबसे कक्षा 1 से 5 तक के छात्रों को पढ़ाने के लिए योग्य माने जाएँगे और वे जो पेपर 2 को क्वालिफाइड कर चुके हैं , वे सभी उम्मीदवार अब कक्षा 6 से 8 तक के छात्रों को पढ़ाने के लिए योग्य माने जाएंगे। केंद्रीय सीटेट परीक्षा में सफल होना, शिक्षक बनने के लिए न्यूनतम योग्यता है। यह केवल पात्रता परीक्षा है, चयनित परीक्षा को क्लियर करने के बाद ही केंद्रीय विद्यालयों में परमानेंट शिक्षक पद प्राप्त होता हैं। आपको बता दें कि सीटेट प्रमाणपत्र (CTET certificate) को सँभाल कर रखना होगा। 

जब आप चयनित परीक्षा क्लियर करेंगे तो आपको वेरिफिकेशन के समय सीटेट प्रमाणपत्र को प्रमाण के रूप में दिखाना होगा। सीटेट एग्जाम की वैलिडिटी को अब लाइफटाइम कर दिया गया है, जो कि पहले 7 साल की होती थी। अब आपको केवल एक बार ही CTET परीक्षा को क्वालिफाइड करना होता है।

■ यह भी पढ़ें: CTET Result 2022: CTET परीक्षा परिणाम 2022 की घोषणा का इंतज़ार

क्या आपको ये जानकारी पहले से है, यदि नहीं तो पढ़िए – सीटेट परीक्षा परिणामों को घोषित कर दिया गया है । इसके बाद सीबीएसई बोर्ड द्वारा उन सभी उम्मीदवारों को उनके डिजिलॉकर अकाउंट में डिजिटल प्रारूप में सीटीईटी मार्कशीट के साथ-साथ परीक्षा से संबंधित पात्रता प्रमाण पत्र प्रदान करेगा। सभी उम्मीदवार अपने लॉगइन क्रेडेंशियल के माध्यम से अपनी मार्कशीट और पात्रता प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकते हैं।

आध्यत्मिक दृष्टि – हीन प्राणी ही केवल सांसारिक कार्यों में लिप्त होकर पद-प्रतिष्ठा प्राप्त करने में प्रयासरत रहता है ?

वर्तमान समय में शिक्षा ने व्यवसायिक रूप ले लिया है । आज लोग इसलिए पढ़ाई करते हैं ताकि उन्हें अच्छी नौकरी प्राप्त हो सके और वह अपने जीवन को अच्छे से जी सके, फिर भी अच्छा व्यवसाय प्राप्त हो जाने मात्र से ही हमारा जीवन सफल नहीं होता है। जीवन को सफल बनाने के लिए पूर्ण परमात्मा की पहचान करना बहुत जरूरी है। अब बात यह आती है कि पूर्ण परमात्मा की पहचान कहां से की जाए? आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पूर्ण परमात्मा की पहचान हमारे चारों वेदों और सभी शास्त्रों में प्रमाणित ज्ञान से की जा सकती है और इनकी पहचान के लिए हमें शिक्षा की आवश्यकता पड़ती है अन्यथा इस शिक्षा की कतई आवश्यकता नहीं थी। 

वास्तव में असली शिक्षा का ज्ञान वही है कि आप अपने परमात्मा को पहचान ले और सद ग्रंथों से प्रमाणित ज्ञान को समझ लें। इस ज्ञान को यदि मानव नहीं समझता है तो उसका मानव जीवन पशुओं और पक्षियों की तरह ही समाप्त हो जाता है। इसके समझे बिना हमें परमात्मा प्राप्ति का ज्ञान नहीं होगा। इसलिए हमें आध्यात्मिक शिक्षक की खोज कर यह शिक्षा प्राप्त कर मानव जीवन का कल्याण करवाना चाहिए जिसके संकेत श्रीमद्भागवत गीता जी के अध्याय – 15 के श्लोक न. 1 से 4 व 16 और 17 में है ।

आध्यात्मिक शिक्षा द्वारा ही मनुष्य का उद्धार हो सकता है

मानव जीवन परमात्मा की असीम दया से प्राप्त होता है । जिसे हम मुफ्त में व्यर्थ कर जाते हैं। मनुष्य को हर क्षण अनेकों परीक्षाओं से गुजरना पड़ता है, फिर भी वह नहीं समझ पाता है कि क्या पाया मैंने इस जीवन में..?  दुःख- दर्द -गरीबी-रोग-प्राकृतिक आपदाएं -लड़ाई (झगड़े) सबसे हर क्षण सामना करते करते जीव को अंत में हार मानना ही पड़ती है और मौत को गले लगाना ही पड़ता है ! इन सब परेशानियों का कारण आध्यत्मिक शिक्षा प्राप्त न होने के कारण जीवन जीने की कला और जीवन रूपी परीक्षा पास न होना है। इसलिए समय निकला जा रहा है, हम भूल रहे है केवल परमात्मा की सद्भक्ति -सत्यज्ञान को जो हमें हर कठिन परीक्षा से पास कराके मोक्ष प्रदान करेगा।  

मनुष्य जीवन का प्रथम एवं अंतिम लक्ष्य है पूर्ण मोक्ष प्राप्ति

कबीर साहेब जी कहते है कि :-

मनुष्य जन्म पाए कर ,जो नहीं रटे  (जपे) हरि नाम |

जैसे कुआ जल बिन, बनवाया किस काम ||

परमात्मा समझाते है कि यदि मानव जन्म प्राप्त होते हुए आप भगवान के नाम का सुमरण ,सद्भक्ति नहीं करते है तो आपका मानव जीवन व्यर्थ है। जैसे मेहनत करके बिन पानी का कुआ बना लिया जाए, वह किस काम का बनाया गया, केवल समय बर्बाद हुआ। जीवन रूपी परीक्षा से यदि पास होकर सारी परेशानियों से पीछा जुड़वाना है तो केवल आध्यामिक गुरु (सद्गुरु) की शरण में जाकर उनके बताए गए भक्ति मार्ग के अनुसार ही हम पूर्ण छुटकारा पा कर मोक्ष प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए इन परेशानीदायक-परीक्षाओं से छुटकारा पाने के लिए समय खराब ना करे,जल्द से जल्द पूर्ण संत की पहचान कर उनकी शरण में जाएं!

अभी भी समय है यदि निकल गया तो पछतावा ही रह जाता है और मानव जीवन हाथ से निकल जाता है । इसलिए समय रहते सद्गुरु की पहचान करके उनके द्वारा बताई मोक्षदायिनी भक्ति साधना को अपना कर मोक्ष प्राप्त करने में ही भलाई है। इसके लाभ यह होगा कि यह लोक भी सुखी, साथ में परलोक भी सुखदाई होगा !

आध्यात्मिक शिक्षा केवल तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज द्वारा ही प्रदान की जा रही हैं 

वर्तमान में पूरे विश्व में एकमात्र तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी ही हैं जो वास्तविक तत्वज्ञान करा कर पूर्ण परमात्मा की पूजा आराधना बताते है। समझदार को संकेत ही काफी होता है। वह पूर्ण परमात्मा ही है जो हमें धनवृद्धि कर सकता है, सुख शांति दे सकता है व रोगरहित कर मोक्ष दिला सकता है। 

सर्व सुख और मोक्ष केवल तत्वदर्शी संत की शरण में जाने से सम्भव है। तो सत्य को जाने और पहचान कर पूर्ण तत्वदर्शी सन्त रामपाल जी महाराज से मंत्र नामदीक्षा लेकर अपना जीवन कल्याण करवाएं । अधिक जानकारी के हेतु सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल पर सत्संग श्रवण करें, जीने की राह पुस्तक पढ़ें और शाम 7:30 से साधना चैनल पर मंगल प्रवचन सुने ।

Latest articles

World Soil Day 2023: Let’s become Vegetarian and Save the Earth! 

Every year on December 5, World Soil Day is observed to highlight the importance...

Indian Navy Day 2023: Know About the ‘Operation Triumph’ Launched by Indian Navy 50 Years Ago

Last Updated on 3 December 2023 IST: Indian Navy Day 2023: Navy Day is...

International Day of Persons With Disabilities 2023: Know the Ultimate Emphatic Cure of Disabilities

Last Updated on 2 December 2023 IST: World Disability Day 2023: International Day of...
spot_img

More like this

World Soil Day 2023: Let’s become Vegetarian and Save the Earth! 

Every year on December 5, World Soil Day is observed to highlight the importance...

Indian Navy Day 2023: Know About the ‘Operation Triumph’ Launched by Indian Navy 50 Years Ago

Last Updated on 3 December 2023 IST: Indian Navy Day 2023: Navy Day is...

International Day of Persons With Disabilities 2023: Know the Ultimate Emphatic Cure of Disabilities

Last Updated on 2 December 2023 IST: World Disability Day 2023: International Day of...