CTET New Notification 2021: सीटीईटी 2021 के पाठ्यक्रम में होगा बदलाव

spot_img

CTET New Notification 2021: इस साल CTET की परीक्षा में सिलेबस और सवाल इस तरह होंगे जिसमें अभ्यार्थियों के तथ्यात्मक ज्ञान की जगह क्रिटिकल थिंकिंग, प्रॉब्लम सॉल्विंग, रीजनिंग, कॉन्सेप्ट की समझ और एप्लीकेशन की नॉलेज परखी जा सके। आइए जानते है विस्तार से –

CTET New Notification 2021 मुख्य बिन्दु 

  • केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा, सीटीईटी 2021 दिसंबर 2021/जनवरी 2022 के दौरान ऑनलाइन मोड में आयोजित की जाएगी।
  • उम्मीदवार सीटीईटी 2021 की तारीख और अन्य चीजों के बारे में अधिक जानकारी आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in या cbse.gov.in से प्राप्त कर सकते हैं। 
  • केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सीटीईटी 2021 परीक्षा फॉर्म भरने की ऑनलाइन प्रक्रिया जुलाई महीने के दूसरे सप्ताह (अपेक्षित) में शुरू करेगा और इसकी समाप्ति अगस्त, 2021 में होगी ।
  • सीटीईटी 2021 विषय को पढ़ाने के लिए उम्मीदवारों की समझ का आकलन करने पर ध्यान केंद्रित करेगा।
  • अब सीटीईटी सिलेबस और सवाल में अभ्यर्थियों के तथ्यात्मक ज्ञान की जगह क्रिटिकल थिंकिंग, प्रॉब्लम सॉल्विंग, रीज़निंग, कॉन्सेप्ट की समझ और एप्लीकेशन की नॉलेज परखी जा सकेगीे। 
  • कैंडिडेट्स नया सीटेट पैटर्न समझ सकें, इसके लिए सीबीएसई नये सैंपल पेपर्स और ब्लूप्रिंट्स भी जारी करेगा।
  • जीवन की मूल परीक्षा तत्वदर्शी संत से नाम दीक्षा लेकर, उसकी मर्यादा में रहकर भक्ति करते हुए पूर्ण मोक्ष की प्राप्ति करना है।

CTET की परीक्षा क्या है? 

सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (CTET) साल में दो बार जुलाई और नवंबर में आयोजित की जाती है। CTET 2021 की परीक्षा भारतीय भाषाओं में आयोजित की जाती है। पिछले वर्ष के रुझानों के अनुसार लगभग 23 लाख उम्मीदवारों ने CTET परीक्षा के लिए आवेदन किया था। इस परीक्षा को पास करने वाले उम्मीदवार, नवोदय स्कूल, केंद्रीय विद्यालय, CBSE से संबद्धित निजी स्कूलों आदि में शिक्षकों के पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। उम्मीदवार जो पेपर 1 में पास होते हैं, वे कक्षा 1 से 5वीं तक शिक्षकों के पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। उम्मीदवार जो पेपर 2 में पास होते हैं, वे कक्षा 6 से 8वीं तक के शिक्षकों के पदों के लिए आवेदन करने के लिए योग्य होंगे।

CTET New Notification 2021: CTET परीक्षा का पहला बड़ा बदलाव

अब सीटीईटी सिलेबस और सवाल इस तरह होंगे जिसमें अभ्यर्थियों के तथ्यात्मक ज्ञान की जगह क्रिटिकल थिंकिंग, प्रॉब्लम सॉल्विंग, रीज़निंग, कॉन्सेप्ट की समझ और एप्लीकेशन की नॉलेज परखी जा सके। कैंडिडेट्स नया सीटेट पैटर्न समझ सकें, इसके लिए सीबीएसई नये सैंपल पेपर्स और ब्लूप्रिंट्स भी जारी करेगा।

ऑनलाइन एग्जाम (CTET Online Exam) दूसरा बड़ा बदलाव

सीटेट ऑनलाइन आयोजित करने के मोड को लेकर तैयार किया जा रहा है। सीबीएसई ने बताया है कि दिसंबर 2021/ जनवरी 2022 में होने वाली सीटीईटी परीक्षा ऑनलाइन मोड पर ली जाएगी। बोर्ड का कहना है कि इससे आने वाले शिक्षक कंप्यूटर और इंटरनेट फ्रेंडली भी हो सकेंगे। साथ ही ओएमआर शीट्स और प्रिंटेड क्वेश्चन पेपर्स न होने से बड़ी संख्या में कागज की बर्बादी भी रुकेगी।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2021) के तहत किए जा रहे हैं बड़े बदलाव

सीबीएसई सीटीईटी में जो बदलाव किये जा रहे हैं वह राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2021) के तहत हैं। सीबीएसई बोर्ड ने कहा है कि एनईपी में रटने वाली पढ़ाई खत्म करने का प्रावधान बनाया गया है। इसी अनुसार सेंट्रल टीचर्स एलिजिबिलिटी टेस्ट (सीटीईटी) के सिलेबस (CTET Syllabus 2021) और क्वेश्चन पेपर पैटर्न (CTET Question Pattern) में बदलाव किये जा रहे हैं।

Also Read: CBSE CTET Answer Key 2021 हुई जारी, मार्च में घोषित हो सकते हैं परिणाम

अभ्यार्थी दे सकेंगे मॉक टेस्ट (CTET Mock Test) 

सीटेट एग्जाम के नये पैटर्न से अभ्यार्थियों को वाकिफ करने के लिए सीबीएसई हर जिले में फैसिलिटेशन सेंटर भी बनायेगा। इन सुविधा केंद्रों (CTET Facilitation Centre) पर सीटीईटी ऑनलाइन मॉक टेस्ट की प्रैक्टिस करने का मौका मिलेगा। इसके लिए कोई फीस नहीं ली जाएगी।

सीटेट एग्जाम 2021 के लिए शेड्यूल कब जारी किया जाएगा ? 

अगले सीटेट एग्जाम 2021 के लिए आवेदन फॉर्म (CTET application form 2021) भरने का शेड्यूल जल्द ही सीटीईटी की वेबसाइट ctet.nic.in पर जारी किया जाएगा। 

CTET 2021 के लिए ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

  • इसमें रजिस्ट्रेशन करने के लिए CTET की ऑफिशियल वेबसाइट ctet.nic.in पर जाना होगा।
  • होमपेज पर उस लिंक पर क्लिक करें, जहां ‘Apply Link’ लिखा हो।
  • अगले पेज पर मांगी गई डिटेल भरकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • आवेदन फीस का भुगतान करें और ‘फाइनल सबमिट’ पर क्लिक करें।
  • भविष्य के संदर्भ के लिए फॉर्म की रसीद अपने पास रखें।

मानव जीवन की सच्ची परीक्षा को पास करना भी है जरूरी

सभी अभ्यार्थियों, अध्यापकों और बोर्ड अधिकारियों को हाथ जोड़कर विशेष निवेदन है कि आध्यात्मिक ज्ञान की परिक्षा हेतु भी प्रयासरत बनें।

एक सभ्य शिक्षित सुखी समाज के लिए तत्वज्ञान अर्थात आध्यात्मिक विज्ञान का होना अति आवश्यक है इसलिए सभी से निवेदन है (क्योंकि एक अध्यापक समाज का सृजन करता होता है) कि वे सभी सदग्रंथों से प्रमाणित ज्ञान तत्वज्ञान को समझें जो कबीर जी के अवतार तत्वदर्शी, बाखबर संत रामपाल जी महाराज जी द्वारा निशुल्क प्रदान किया जा रहा है। यह आध्यात्मिक ज्ञान विश्व की परिकल्पना से भी परे का ज्ञान है जिसका एकमात्र उद्देश्य मानव और मानवता के उत्थान से संबंध रखता है।

क्या है जीवन का मूल टेस्ट (परीक्षा) और कैसे करें पास ? 

तत्वदर्शी संत से नाम दीक्षा लेकर, आजीवन मर्यादा में रहकर, पूर्ण ब्रह्म कबीर देव, कबीर परमेश्वर, अल्लाह हू कबीर की भक्ति (इबादत) करना पूर्ण  मोक्ष प्राप्त करना यही जीवन की मूल (मुख्य) परीक्षा (टेस्ट) है। सनातन परमधाम अर्थात सतलोक की प्राप्ति करना ही मूल, वास्तविक, और सच्ची उपलब्धि है। वर्तमान में हिंदुस्तान की धरा पर मौजूद तत्वदर्शी, बाखबर, “संत रामपाल जी महाराज” (कबीर यूनिवर्सिटी के संचालक) सभी सदग्रंथों से प्रमाणित तत्वज्ञान दे रहे हैं और सच्ची भक्ति (इबादत) करवा रहे हैं, सभी धर्मों के लोग उनसे जुड़कर अपनी जीवन की मूल परीक्षा को पास कर, अपना जीवन सफल बना सकते हैं। कबीर ज्ञान जानने के लिए आप पढ़िए पवित्र पुस्तक “ज्ञान गंगा और देखिए यूट्यूब में “सतलोक आश्रम”।

Latest articles

6.4 Magnitude Earthquake Jolts Japan 

Japan was rocked by a powerful 6.4 magnitude earthquake on April 17, 2024, according...

Mahavir Jayanti 2024: Know Why Mahavir Jain Suffered Painful Rebirths in the Absence of Tatvagyan

Last Updated on 17 April 2024 IST: Mahavir Jayanti 2024: Mahavir Jayanti is one...

UPSC CSE Result 2023 Declared: यूपीएससी ने जारी किया फाइनल रिजल्ट, जानें किसने बनाई टॉप 10 सूची में जगह?

संघ लोकसेवा आयोग ने सिविल सर्विसेज एग्जाम 2023 के अंतिम परिणाम (UPSC CSE Result...
spot_img

More like this

6.4 Magnitude Earthquake Jolts Japan 

Japan was rocked by a powerful 6.4 magnitude earthquake on April 17, 2024, according...

Mahavir Jayanti 2024: Know Why Mahavir Jain Suffered Painful Rebirths in the Absence of Tatvagyan

Last Updated on 17 April 2024 IST: Mahavir Jayanti 2024: Mahavir Jayanti is one...