ना दूल्हा चढ़ा घोड़ी पर,ना आया बैंड बाजा।
रच गई शादी ना लड्डू बनाये,ना ही खाझा।।

वर्तमान समय में बेटियों की शादी करना माँ-बाप के लिए इतना बड़ा बोझ बन चुका है,की बेटियों को समाज मे जहर समझा जाने लगा लोग बेटियों को गर्भ में मारने लगे। ठीक इससे उल्टा एक सभ्य समाज की स्थापना कर रहे परम् पूज्य संत रामपाल जी महाराज ने लाखों बेटियों को शादी बिना दहेज के करवा के उनको सुख पूर्वक जीवन जिने का आशीर्वाद प्रदान किया है।
ऐसा ही विवाह मध्यप्रदेश प्रदेश के भिंड जिले में देखने को मिला जहां दूल्हा ना तो घोड़ी पर चढ़ा और ना ही D.J बजाया मात्र 17 मिनट में गुरुवाणी से शादी रचा ली।

अन्य राज्यो में भी हो रही हैं ऐसी शादियाँ

यहां के लोगों ने बताया कि ऐसी शादी यहीं नहीँ हमारे जिले में तो लगभग 20 शादियां ऐसे हो रखी हैं और ऐसी शादियां पूरे देश के कोने कोने में हो रही हैं जैसे उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब आदि सभी राज्यों में दहेजमुक्त अभियान के तहत संत रामपाल जी महाराज जी की कृपा से शादियां कराई जा रहीं हैं।

इस शादी में किया सत्संग का भी आयोजन

इस शादी में एलईडी के माध्यम से संत रामपाल जी महाराज जी के सत्संग कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें दूर-दूर से आये लोगों ने शिरकत की और इस प्रोग्राम और दहेजमुक्त शादी की भूरी-भूरी प्रशंसा की।