ना दूल्हा चढ़ा घोड़ी पर,ना आया बैंड बाजा। रच गई शादी ना लड्डू बनाये,ना ही खाझा।। वर्तमान समय में बेटियों की शादी करना माँ-बाप के लिए इतना बड़ा बोझ बन चुका है,की बेटियों को समाज मे जहर समझा जाने लगा लोग बेटियों को गर्भ में…