UPSC Result 2020-21: IES,ISS सिविल सेवा भर्ती परीक्षा के नतीजे घोषित, शुभम कुमार बने टॉपर, देखें पूरी लिस्ट

Date:

UPSC Result 2020-21 News Update: आपको बता दें कि आज 24 सितंबर 2021 को संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने भारतीय आर्थिक सेवा (IES) और भारतीय सांख्यिकी सेवा (ISS) के साक्षात्कार के लिए इच्छुक गैर-अनुशंसित उम्मीदवारों के लिए परीक्षा में प्राप्त अंक जारी कर दिए हैं । परीक्षा परिणाम (अंक) देखने हेतु तथा पूर्ण जानकारी के लिए विस्तार से पढ़ें ।

UPSC Result 2020 सम्बन्धी मुख्य बिंदु

  • UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) ने आज IES और ISS परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए हैं।
  • यह परीक्षा परिणाम गैर- अनुशंसित इच्छुक उम्मीदवारों के लिए जारी किया है।
  • यह परीक्षा परिणाम 2020 में आयोजित परीक्षा के लिए है, साथ ही उन उम्मीदवारों के लिए है जो परीक्षा के लिए साक्षात्कार के लिए उपस्थित हुए थे।
  • इस परीक्षा में कुल 761 उम्मीदवार पास हुए हैं, परिणाम देखने हेतु आधिकारिक वेबसाइट जारी की गई है।
  • दूसरी ओर यदि देखा जाए तो 151 उम्मीदवारों को प्रोविजनल लिस्ट में डाला गया है।  
  • UPSC परीक्षा 2020 में टॉपर शुभम कुमार प्रथम व जागृति अवस्थी द्वितीय स्थान पर हैं।
  • मानव जन्म केवल सांसारिक कार्यों में लिप्त होने के लिए नहीं हुआ है।
  • हमारे जीवन का परम  लक्ष्य है पूर्ण मोक्ष प्राप्त करना, जिसके लिए पूर्ण संत रामपाल जी महाराज से मोक्षदायिनी भक्ति विधि प्राप्त करना चाहिए।

आइए UPSC Result 2020 के बारे में विस्तार से जानें

आप सभी को पूर्व में बताया है कि 24 सितंबर 2021 को संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा भारतीय आर्थिक सेवा (IES) और भारतीय सांख्यिकी सेवा (ISS) के साक्षात्कार के लिए इच्छुक गैर-अनुशंसित उम्मीदवारों के लिए अंक जारी कर दिए गए हैं। सभी उम्मीदवार इस समय का इंतजार कर रहे थे, आज उनका इंजतार खत्म हुआ । किसी को भी परीक्षा परिणाम देखने में दिक्कत नहीं होनी चाहिए, इसके लिए आधिकारिक वेबसाइट www.upsc.gov.in उपलब्ध कराई गई है । आप अपने प्राप्तांकों को दी गई वेबसाइट पर बड़ी आसानी से देख सकते हैं। आपको मुख्यतः बता दें कि आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार, आयोग ने गैर-अनुशंसित इच्छुक उम्मीदवारों के स्कोर और अन्य विवरणों का खुलासा करने के लिए एक डिस्क्लोजर स्कीम शुरू की थी, जो अपनी वेबसाइट के माध्यम से एक परीक्षा (साक्षात्कार) के अंतिम चरण में उपस्थित हुए हैं ।

यह जानकारी यदि किसी को नहीं है तो जरूर पढ़ें कि यह परिणाम 2020 में आयोजित परीक्षा के लिए है साथ ही यह जानना भी जरूरी है कि यह परीक्षा परिणाम केवल उन उम्मीदवारों के लिए है जो परीक्षा के लिए साक्षात्कार के लिए उपस्थित हुए थे। UPSC IES, ISS मुख्य परीक्षा 2020 का परिणाम 30 जुलाई, 2020 को घोषित किया गया था। परिणाम के बाद, उम्मीदवारों को साक्षात्कार के दौर के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया था। इस परीक्षा के गैर-अनुशंसित उम्मीदवारों के स्कोर (कुल 1200 अंकों में से) और अन्य विवरण आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिए गए हैं। यह बात भी ध्यान रखने योग्य है कि यह केवल एक वर्ष तक के लिए वैध होगा ।

UPSC Result 2020: IES और ISS उम्मीदवारों के लिए अंक देखने हेतु चरण

सभी उम्मीदवार अपना परीक्षा परिणाम नीचे दिए गए चरणों अनुसार देख सकते हैं :

  • सर्व प्रथम UPSC की आधिकारिक वेबसाइट upsc.gov.in पर जाएं।
  • फिर होम पेज पर उपलब्ध लिंक ‘Public Disclosure of marks and other details of non-recommended willing candidates’ पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक पीडीएफ फाइल प्रदर्शित होगी, उसको खोल कर पेज -3 पर जाएं ।
  • पेज- 3 पर स्क्रॉल करने बाद सभी अपने परीक्षा परिणाम अंक चेक करें।
  • अंत में सभी उम्मीदवार इसको डाउनलोड कर लें और भविष्य के संदर्भों के लिए एक हार्ड कॉपी लें।

विशेष बात

UPSC Result, UPSC CSE Main Result 2020 की यदि बात करें तो UPSC ने जनवरी 2021 में सिविल सेवा परीक्षा की लिखित परीक्षा आयोजित की थी वही अगस्त-सितंबर 2021 में पर्सनेलिटी टेस्ट का आयोजन किया गया था।

UPSC Result 2020: यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा परिणाम घोषित कुल 761 उम्मीदवार पास

अंत में बात करते हैं कि कौन रहे टॉपर्स और क्या रहा परीक्षा परिणाम । संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा 24 सितंबर 2021, दिन शुक्रवार को सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2020 के घोषित अंतिम परिणामो में शुभम कुमार ने सिविल सर्विसेज मेन एग्जाम 2020 में टॉप किया है। इसके बाद जागृति अवस्थी ने दूसरा और अंकिता जैन ने तीसरा स्थान प्राप्त किया है। आपको बता दें कि इस परीक्षा में कुल 761 उम्मीदवारों ने क्वालीफाई किया है।

■ Also Read: SBI Clerk Pre Result 2020: स्टेट बैंक क्लर्क भर्ती परीक्षा के नतीजे घोषित

यह बात आपको पूर्व में ही बता दी गई है की UPSC ने जनवरी 2021 में सिविल सेवा परीक्षा की लिखित परीक्षा आयोजित की थी जबकि अगस्त-सितंबर 2021 में पर्सनेलिटी टेस्ट का आयोजन किया था। जिसके परिणाम 24 सिंतबर 2021 का आधिकारिक वेबसाइट upsc.gov.in या upsconline.nic.in पर घोषित किए गए हैं। इसी बीच देखा जाए तो कुल 151 उम्मीदवारों को प्रोविजनल लिस्ट में भी डाला गया है।

UPSC Result 2020: टॉपर्स लिस्ट, जानिए कौन कहाँ से

सभी बच्चों के मात-पिता यही उम्मीद करते हैं कि हमारे बच्चे खूब पढ़ें और आगे बड़ें । इसी बीच आज फर्स्ट टॉपर शुभम कुमार आईआईटी बॉम्बे से बीटेक (सिविल इंजीनियरिंग) हैं। जागृति अवस्थी ओवरऑल सेकेंड रैंक हासिल करने वाली महिला उम्मीदवारों में टॉपर हैं। उन्होंने MANIT भोपाल से बीटेक (इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग) में स्नातक किया है। टॉप 25 उम्मीदवारों में 13 पुरुष और 12 महिलाएं हैं। 

Download UPSC Result 2020 Topper List PDF

रिकमंडेड उम्मीदवारों में बेंचमार्क दिव्यांगता वाले 25 व्यक्ति भी शामिल हैं। UPSC Result घोषित होने बाद, जब इनके परिवार व स्वयं उम्मीदवारों को पता चला होगा कि हम सेलेक्ट (पास) हो गए हैं और टॉप भी किए हैं, कितने खुश होंगे, उन्हें आज उनका लक्ष्य जिसके लिए वह मेहनत कर रहे थे, प्राप्त हुआ ।

UPSC परीक्षा से सम्बंधित अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

यूपीएससी के परिसर में परीक्षा हॉल के पास एक “सुविधा काउंटर” है। उम्मीदवार अपनी परीक्षाओं/भर्ती के संबंध में कोई भी जानकारी/स्पष्टीकरण कार्य दिवसों में सुबह 10 बजे से शाम 05 बजे के बीच व्यक्तिगत रूप से या टेलीफोन नंबर 23385271/23381125/23098543 पर प्राप्त कर सकते हैं। उम्मीदवारों की मार्कशीट, परिणाम घोषित होने की तारीख से 15 दिनों के भीतर यूपीएससी की वेबसाइट यानी upsc.gov.in पर उपलब्ध होगी।

क्या मानव जन्म सांसारिक कार्यों में लिप्त होने के लिए हुआ है?

वर्तमान समय में शिक्षा ने व्यवसायिक रूप ले लिया है । आज लोग इसलिए पढ़ाई करते हैं ताकि उन्हें अच्छी नौकरी प्राप्त हो सके और वह अपने जीवन को अच्छे से जी सके, फिर भी अच्छा व्यवसाय प्राप्त हो जाने मात्र से ही हमारा जीवन सफल नहीं होता है। जीवन को सफल बनाने के लिए पूर्ण परमात्मा की पहचान करना बहुत जरूरी है अब बात यह आती है कि पूर्ण परमात्मा की पहचान कहां से की जाए? आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पूर्ण परमात्मा की पहचान हमारे चारों वेदों और सभी शास्त्रों में प्रमाणित ज्ञान से की जा सकती है और इनकी पहचान के लिए हमें शिक्षा की आवश्यकता पड़ती है अन्यथा इस शिक्षा की कतई आवश्यकता नहीं थी। वास्तव में असली शिक्षा का ज्ञान वही है कि आप अपने परमात्मा को पहचान ले और सद ग्रंथों से प्रमाणित ज्ञान को समझ लें ।

वह कोर्स है आध्यत्मिक ज्ञान जिसे गीता जी में तत्वज्ञान कहा गया है । इस ज्ञान को यदि मानव नहीं समझता है तो उसका मानव जीवन पशुओं और पक्षियों की तरह ही समाप्त हो जाता है । इसके समझे बिना हमें परमात्मा प्राप्ति का ज्ञान नहीं होगा। इसलिए हमें आध्यात्मिक शिक्षक की खोज कर यह शिक्षा प्राप्त कर मानव जीवन का कल्याण करवाना चाहिए जिसके संकेत श्रीमद्भागवत गीता जी के अध्याय – 15 के श्लोक न. 1 से 4 व 16 और 17 में है ।

हमारे मानवीय जीवन का उद्धार केवल आध्यात्मिक शिक्षा प्राप्त करने के उपरांत ही हो सकता है

मानव जीवन परमात्मा की असीम दया से प्राप्त होता है । जिसे हम मुफ्त में व्यर्थ कर जाते हैं । मनुष्य को हर क्षण अनेकों परीक्षाओं से गुजरना पड़ता है, फिर भी नहीं समझ पाता है कि क्या पाया मैंने इस जीवन में ?  दुःख- दर्द -गरीबी-रोग-प्राकृतिक आपदाएं -लड़ाई (झगड़े) सबसे हर क्षण सामना करते करते अंत में हार मानना ही पड़ती है और मौत को गले लगाना ही पड़ता है ! इन सब परेशानियों का कारण है कि हमें आध्यत्मिक शिक्षा प्राप्त न होने के कारण जीवन जीने की कला और जीवन रूपी परीक्षा पास करना नहीं आ पा रहा है । 

शिक्षा का उदेश्य | Satlok Ashram

इस लिए समय निकला जा रहा है और हम भूल रहे है कि केवल परमात्मा की सद्भक्ति -सत्यज्ञान को, जो हमें हर कठिन परीक्षा से पास कराके मोक्ष प्रदान करेगा ।  हम इस धरा पर बार बार जन्मते और मरते है फिर भी नहीं समझ पा रहे इस विकट जाल को । इसका कारण है कि हमने मानव जीवन का मूल्य ही नहीं समझा है ।

हमारे जीवन का परम एवं अंतिम लक्ष्य है पूर्ण मोक्ष प्राप्त करना

कबीर साहेब जी कहते है कि :-

मनुष्य जन्म पाए कर ,जो नहीं रटे हरि नाम |

जैसे कुआ जल बिन, बनवाया किस काम ||

परमात्मा समझाते है कि यदि मानव जन्म प्राप्त होते हुए आप भगवान के नाम का सुमरण ,सद्भक्ति नहीं करते है तो आपका मानव जीवन व्यर्थ है। जैसे मेहनत करके बिन पानी का कुआ बना लिया जाए, वह किस काम का बनाया गया, केवल समय बर्बाद हुआ। हमें जीवन रूपी परीक्षा से यदि पास होकर सारी परेशानियों से पीछा जुड़वाना है तो केवल आध्यामिक गुरु (सद्गुरु) की शरण में जाकर उनके बताए गए भक्ति मार्ग के अनुसार ही हम पूर्ण छुटकारा पा कर मोक्ष प्राप्त कर सकते हैं । इस लिए इन परेशानीदायक-परीक्षाओं से छुटकारा पाने के लिए समय न लगाएं, जल्द से जल्द पूर्ण संत की पहचान कर उनकी शरण में जाएं ।

अभी भी समय है यदि निकल गया तो पछतावा ही रह जाता है और मानव जीवन हाथ से निकल जाता है । इसलिए समय रहते सद्गुरु की पहचान करके उनके द्वारा बताई मोक्षदायिनी भक्ति साधना को अपना कर मोक्ष प्राप्त करने में ही भलाई है । इससे लाभ यह होगा कि यह लोक भी सुखी साथ में परलोक भी सुखदाई होगा !

मोक्षदायिनी भक्ति विधि केवल तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज के पास है

वर्तमान में पूरे विश्व में एकमात्र केवल तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी ही हैं जो वास्तविक तत्वज्ञान करा कर पूर्ण परमात्मा की पूजा आराधना बताते है। समझदार को संकेत ही काफी होता है । वह पूर्ण परमात्मा ही है जो हमें धनवृद्धि कर सकता है, सुख शांति दे सकता है व रोगरहित कर मोक्ष दिला सकता है। सर्व सुख और मोक्ष केवल तत्वदर्शी संत की शरण में जाने से सम्भव है। तो सत्य को जाने और पहचान कर पूर्ण तत्वदर्शी सन्त रामपाल जी महाराज से नामदीक्षा लेकर अपना जीवन कल्याण करवाएं। अधिक जानकारी के हेतु सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल पर सत्संग श्रवण करें तथा जीने की राह पुस्तक पढ़ें और शाम 7:30 से साधना चैनल पर मंगल प्रवचन  सुने।

About the author

Administrator at SA News Channel | Website | + posts

SA News Channel is one of the most popular News channels on social media that provides Factual News updates. Tagline: Truth that you want to know

SA NEWS
SA NEWShttps://news.jagatgururampalji.org
SA News Channel is one of the most popular News channels on social media that provides Factual News updates. Tagline: Truth that you want to know

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 + 12 =

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

Commonwealth Day 2022 India: How the Best Wealth can be Attained?

Last Updated on 24 May 2022, 2:56 PM IST...

International Brother’s Day 2022: Let us Expand our Brotherhood by Gifting the Right Way of Living to All Brothers

International Brother's Day is celebrated on 24th May around the world including India. know the International Brother's Day 2021, quotes, history, date.