Rhea Chakraborty Mahesh Bhatt Chat Leaks: हाल में अभिनेता सुशांत राजपूत की आत्महत्या के बाद लगातार उनके परिवार और प्रशंसकों द्वारा सीबीआई जांच की मांग की जाती रही। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी है। तब से यह केस काफी आगे बढ़ चुका है और अब फ़िल्म निर्देशक महेश भट्ट और सुशांत की पूर्व गर्लफ्रैंड रिया चक्रवर्ती के साथ हुई व्हाट्सएप्प चैट सोशल मीडिया पर घूम रही है। आइए जानते है कैसे तत्व ज्ञान के द्वारा रोकें बढ़ते अपराध। सुशांत की मौत वाले दिन 14 जून का रिया और महेश भट्ट का नई चैट वाइरल।

Rhea Chakraborty Mahesh Bhatt Chat Leaks: मुख्य बिंदु

  • सुशांत राजपूत का केस बढ़ा आगे, महेश भट्ट की भी बढ़ गई हैं परेशानियां
  • महेश भट्ट और रिया का 14 जून का एक नया स्क्रीनशॉट आया सामने
  • सीबीआई के अफसर पहुंचे मुंबई, बताया जा रहा है कि वे सीन को रिक्रिएट करके जांच शुरू करेंगे
  • महेश भट्ट और रिया चक्रवर्ती की चैट सोशल मीडिया में वायरल, चैट के मुताबिक महेश भट्ट ने दी सलाह पीछे न मुड़ने की
  • तत्व ज्ञान के अभाव में बढ़ते हैं सामाजिक अपराध

महेश भट्ट और रिया का 14 जून का एक नया स्क्रीनशॉट आया सामने

सुशांत की मौत वाले दिन यानि 14 जून के दिन भी महेश भट्ट ने रिया को मैंसेज किया था। महेश भट्ट की तरफ से 1 मेसेज और 2 व्हाट्सएप कॉल किए हुए दिख रहे हैं। इससे पता चल रहा है कि सुशांत की मौत का समाचार आने के बाद महेश भट्ट ने रिया को मैंसेज किया था। 14 जून को 2:35 महेश भट्ट ने रिया को मैंसेज किया है ‘कॉल मी’। शाम 4 और 5 बजे महेश भट्ट के 2 व्हाट्सएप कॉल भी दिख रहे हैं जो रिया ने नहीं उठाए।

रिया चक्रवर्ती और महेश भट्ट की 8 जून की व्हाट्सएप चैट वायरल

अभिनेता सुशांत राजपूत की दोस्त रिया चक्रवर्ती जिन्होंने 8 जून को सुशांत का घर छोड़ा था, उस दिन की व्हाट्सएप्प चैट सुबह 7:43 से 8:08 बजे की चैट वायरल हुई है जिसके मुताबिक फ़िल्म निर्देशक महेश भट्ट ने सुशांत से दूर होने की सलाह उन्हें दी थी। रिपोर्ट्स में भी यह बात सामने आ चुकी है कि महेश भट्ट ने रिया को सुशांत से रिश्ता तोड़ने की सलाह दी थी। रिया ने स्वयं को महेश भट्ट के निर्देशन में बनी फिल्म जलेबी के किरदार आयशा के रूप में मेंशन किया है। वहीं महेश भट्ट ने उन्हें बहादुर कहा और पीछे मुड़कर न देखने की सलाह दी। रिया ने अपनी किस्मत को धन्यवाद दिया कि वे महेश भट्ट से मिलीं।

Rhea Chakraborty Mahesh Bhatt Chat Leaks: सुशांत के पिता के वकील विकास सिंह ने हैरानी जताई

महेश भट्ट के साथ रिया चक्रवर्ती के बीच हुए चैट सुर्खियों में हैं। सुशांत के पिता के वकील विकास सिंह ने भी हैरानी जताई थी कि ये चैट कैसे बाहर आई। उनके अनुसार रिया की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। वकील के अनुसार ये चैट रिया के बयान के बिल्कुल उलट है। बता दें रिया ने कहा था कि वह सुशांत के कहने पर घर छोड़कर आई थीं। रिया ने ब्रेकअप की बात नहीं कही थी बल्कि बताया था कि वह कुछ दिन के लिए वहाँ से चली गई थी।

Rhea Chakraborty Mahesh Bhatt Chat Leaks: सुशांत की बहन और रिया के अलग अलग दावे

8 जून को रिया के घर छोड़कर चले जाने के बाद सुशांत की बहन मीतू ने बताया कि सुशांत ने उन्हें रिया और उसके झगड़े के बारे में बताया था और जब वे वहाँ पहुँची तो रिया वहाँ से जा चुकी थी। 12 जून को वे बच्चे छोटे होने के कारण वापस अपने घर आ गईं थीं।

Also Read: Sushant Singh’s Father lodged FIR against Rhea Chakraborty

वहीं रिया ने अपने वकील सतीश माने शिन्दे के जरिये दावा किया था कि सुशांत अपनी मौत से पहले काफी परेशान थे। वे लगातार रोए जा रहे थे और अपने परिवार को साथ रहने के लिए बुला रहे थे। 8 जून को जब उनकी बड़ी बहन मीतू उनके साथ रहने के लिए तैयार हो गईं तो अभिनेता सुशांत ने रिया को उसके घर भेज दिया।

तत्व ज्ञान के अभाव से बढ़ते हैं अपराध

अवसाद, आत्महत्या, हत्या, छल-कपट, फरेब, चोरी आदि सभी अपराध इस काल लोक में तत्व ज्ञान के अभाव से होते है। तत्व ज्ञान की पहली खासियत है व्यक्ति का विवेक जागरण। विवेक से काम लेता व्यक्ति किसी भी कार्य को करने से पहले उसके होने वाले परिणाम के बारे में सोचता है। किसी अपराध को करते हुए यदि आप न्याय व्यवस्था से बच भी जाएंगे तो कर्मों की लाठी से नहीं बचेंगे जो न आपको बताकर पड़ेगी न पूछ कर। तत्व ज्ञान मोह और लालच से बचाता है, व्यक्ति को भक्ति मार्ग में लगाता है।

Satlok Ashram

तत्व ज्ञान क्या है?

तत्व ज्ञान है अध्यात्म का मार्ग। मनुष्य जन्म का उद्देश्य केवल मोक्ष प्राप्ति है। आज की पीढ़ी इसे मात्र दकियानूसी बातें कहकर अलग कर देती है। किन्तु वास्तविकता यही है कि मनुष्य जन्म ओस की बूंदों के समान क्षण भंगुर है और ऐसा मौका बार – बार नहीं आता है। आदरणीय गरीबदास जी महाराज कहते हैं-

जैसे मोती ओस का ऐसी तेरी आव |
गरीबदास कर बन्दगी बहुर न ऐसा दाव ||

प्रत्येक व्यक्ति कर्म बन्धन से अपने घर, परिवार रिश्तेदार, सम्बंधियों से जुड़ा हुआ है। कोई किसी का अपना नहीं है। मृत्यु के पश्चात चौरासी लाख योनियों में व्यक्ति जाता ही है। किंतु यदि तत्वदर्शी सन्त की शरण में व्यक्ति चला जाये तो मोक्ष सम्भव है। बिना तत्वदर्शी सन्त के न शास्त्रों का ज्ञान सम्भव है और न ही सही भक्ति विधि का। गीता अध्याय 4 के श्लोक 34 में गीता ज्ञान दाता ने तत्व ज्ञान के लिए तत्वदर्शी सन्त की शरण में जानें के लिए कहा है। इस लोक से मुक्ति केवल एक परम अविनाशी परमेश्वर दे सकता है एवं उस परमेश्वर की भक्ति विधि केवल तत्वदर्शी सन्त बताएगा।

तत्व ज्ञान है वर्तमान में केवल सन्त रामपाल जी के पास

तत्वदर्शी सन्त पूरे विश्व में एक समय पर एक ही होता है। वर्तमान में सन्त रामपाल जी महाराज ही तत्वदर्शी सन्त हैं। गीता अध्याय 15 के श्लोक 1 से 4 में तत्वदर्शी सन्त की पहचान दी हुई है। यजुर्वेद अध्याय 19 मन्त्र 25 व 26 , मन्त्र 30 में तत्वदर्शी सन्त की पहचान बताई हुई है। सामवेद संख्या 822, उतार्चिक अध्याय 3, खण्ड 5, श्लोक 8 में तत्वदर्शी सन्त की सभी पहचान सन्त रामपाल जी महाराज पर खरी उतरती हैं। कबीर सागर अमर मूल बोध सागर में भी तत्वदर्शी सन्त का प्रमाण है। सन्त रामपाल जी महाराज ने गीता अध्याय 17 के श्लोक 23 में दिए सांकेतिक मन्त्रों का सही जाप बताते हैं।

सन्त रामपाल जी महाराज एकमात्र ऐसे सन्त हैं जिन्होंने समाज से दहेज प्रथा जड़ से हटाई। सन्त रामपाल जी महाराज के अनुयायी दहेज रहित विवाह की अनूठी मिसाल पेश करते हैं। सन्त रामपाल जी महाराज नशा, मांस भक्षण आदि बुराइयों से निजात दिलाने वाले एकमात्र सन्त हैं एवं अद्भुत तत्व ज्ञान के माध्यम से आपराधिक प्रवृत्तियों पर लगाम केवल वे ही कसते हैं। यह ज्ञान समाज के लिए परम आवश्यक है। ज्ञान समझें एवं अविलंब एकमात्र तत्वदर्शी सन्त रामपाल जी महाराज की शरण में जाएं।