Patiala Violence Hindi News | (पटियाला हिंसा) | खालिस्तान विरोधी मार्च पर हिंदू और सिख संगठन आमने-सामने

Date:

Patiala Violence Hindi News Update | खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पुन्नू की ओर से शुक्रवार को खालिस्तान स्थापना दिवस मनाने का ऐलान किया गया था। एक स्थानीय हिंदू संगठन ने पटियाला में खालिस्तानी मुर्दाबाद मार्च निकालने का ऐलान किया था। शुक्रवार दोपहर जब हिंदू संगठन ने मार्च निकाला, तो दूसरे तरफ खालिस्तान समर्थकों ने इसका विरोध किया। इससे तनाव बढ़ गया और फिर पत्थरबाजी और बवाल शुरू हो गया। हिंसा में 4 लोग घायल हुए हैं तथा हिंसा स्थान पर कर्फ्यू लगा दिया गया। साथ ही कई अफसरों का तबादला भी किया गया है।

Table of Contents

पटियाला हिंसा (Patiala Violence Hindi News) के मुख्य बिंदु

  • शिव सेना ने कई दिन पहले से ही बता दिया था कि वह खालिस्तान के खिलाफ मोर्चा निकालेगी।
  • पंजाब में हिंसा के कारण आईजी (IG), एसपी (SP), एसएसपी (SSP) और एसएचओ को हटाया गया।
  • दो दिन की पुलिस रिमांड पर हरीश सिंगला, इन्हीं के नेतृत्व में निकला था खालिस्तान विरोधी मार्च।
  • हिंदू संगठनों और खालिस्तानी समर्थकों के बीच चली पत्थर लाठी और तलवारें, पटियाला में लगा था कर्फ्यू।
  • शनिवार सुबह 6 बजे कर्फ्यू हटा लिया गया, शाम 4 बजे से इंटरनेट सेवाएं बहाल कर दी गई हैं: साक्षी साहनी, उपायुक्त, पटियाला 
  • पटियाला पुलिस ने 6 प्राथमिकी दर्ज की हैं और हरीश सिंगला सहित 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। मुख्य आरोपी और मास्टरमाइंड बरजिंदर सिंह परवाना को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।
  • पटियाला में फिलहाल शांति है। शिवसेना, कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल और उनके कार्यकर्ता थे जो आपस में भिड़ गए। पुलिस अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है और शांति समिति की बैठकें आयोजित की जा रही हैं: पंजाब के सीएम भगवंत मान, पटियाला संघर्ष पर 
  • विपक्षी दलों का आरोप है कि पटियाला में हुई हिंसा के दौरान ‘इंटेलिजेंस’ पूरी तरह फेल रहा है। 

हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर से हट के है पटियाला हिंसा विवाद

पंजाब में हनुमान चालीसा या लाउडस्पीकर जैसा मुद्दा भी नहीं था। शिव सेना ने कई दिन पहले से ही बता रखा था कि वह खालिस्तान के खिलाफ मोर्चा निकालेगी। खालिस्तान विरोधी मार्च निकालने पर हिंदू और सिख संगठन आमने-सामने आ गए।

पंजाब में सिख और हिंदू संगठनों के बीच पत्थर और तलवारें क्यों चलीं?

Patiala Violence Hindi News | पंजाब के पटियाला में शनिवार 29 अप्रैल 2022 को दो समुदायों के बीच झड़प हो गई। जुलूस निकालने को लेकर एक हिंदू संगठन और सिख संगठन के बीच झड़प से माहौल तनावपूर्ण हो गया। इस घटना में एक SHO समेत 3 लोग घायल हुए हैं। दरअसल, दोनों समुदायों को जुलूस निकालने की इजाजत नहीं थी। बताया जा रहा है कि खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू ने खालिस्तान स्थापना दिवस मनाने का ऐलान किया था और शिवसेना बाल ठाकरे नामक स्थानीय हिंदू संगठन ने इसका विरोध किया था। इसी दौरान पंजाब में सिख और हिंदू संगठनों के बीच पत्थर और तलवारें चलीं। पुलिस ने लोगों को रोकने की काफी कोशिश भी की।

Patiala Violence Hindi News | पंजाब हिंसा में शिवसेना (बाल ठाकरे) का क्या रोल है?

शिवसेना (बाल ठाकरे) ने ‘खालिस्तान मुर्दाबाद मार्च’ का आयोजन किया था। इस दौरान समूह की कुछ निहंगों समेत सिख कार्यकर्ताओं से झड़प हो गई थी। इसके बाद दोनों समूहों के बीच पत्थरबाजी हुई और नारे लगाए गए। घटना के बाद पटियाला जिले में शुक्रवार शाम 7 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगा दिया गया था। इलाके में भारी पुलिस बल तैनात है तथा शांति स्थापित करने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।

पंजाब में हिंसा के कारण आईजी (IG), एसपी (SP), एसएसपी (SSP) और एसएचओ को हटाया गया

पंजाब के पटियाला (Patiala) में हुई ह‍िंसा मामले में प्रदेश सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए पटियाला के आईजी (IG), एसपी (SP), एसएसपी (SSP) और एसएचओ को हटा दिया। अब मुखविंदर सिंह छीना नये आईजी होंगे जबकि वजीर सिंह नये एसपी होंगे। दीपक पारके एसएसपी का पदभार संभालेंगे।

पटियाला के DCP ने क्या कहा?

पटियाला के डीसीपी ने कहा, ‘इलाके में लॉ एंड ऑर्डर की समस्या पैदा हो गई है। पुलिस को तैनात कर दिया गया है। हम शिवसैनिकों से बात कर रहे हैं। पुलिस ने इन्हें जुलूस निकालने की इजाजत नहीं दी थी।” बिना इजाजत के जुलूस निकाल रहे थे लोग। पुलिस के मुताबिक दोनों संगठन फव्वारा चौक की तरफ जुलूस निकालना चाहते थे। पुलिस ने इसकी इजाजत नहीं दी थी। झड़प में पुलिस का एक अधिकारी घायल हो गया है। पुलिस के कुछ जवान भी चोटिल हुए हैं। स्थिति तनावपूर्ण हैं। बड़ी संख्या में पुलिस की तैनाती है और तनाव को कंट्रोल करने के लिए उचित कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस को क्यों करनी पड़ी थी फायरिंग?

खालिस्तान समर्थकों ने कथित तौर पर मार्च पर धावा बोल दिया था। दोनों गुटों के बीच झड़प, भीषण संघर्ष में तब्दील हो गया। कुछ खालिस्तानी समर्थकों ने एक लंगर भवन पर कब्जा कर लिया और नीचे भीड़ पर पथराव करने लगे। स्थिति बिगड़ते देखकर, स्थिति को कंट्रोल करने के लिए, पुलिस को कई राऊंड की फायरिंग भी करनी पड़ी थी।

पटियाला उपायुक्त ने शहर की जनता से शांति बनाए रखने की अपील

Patiala Violence Hindi News | एहतियात के तौर पर सुबह 9.30 से लेकर शाम 6 बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गईं। उन्होंने जानकारी दी कि घटना को लेकर FIR दर्ज की जा चुकी हैं और पुलिस लगातार छापामार कार्रवाई कर रही है। पटियाला एसएसपी नानक सिंह ने किसी भी गलत जानकारी पर भरोसा नहीं करने के लिए कहा है।

हिंदू संगठनों ने पटियाला प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी

हिंदू संगठनों ने घटना को लेकर पटियाला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। संगठन की ओर से कहा गया कि जब तक घटना में सीधे तौर पर शामिल आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं कर ली जाती, विरोध-प्रदर्शन जारी रहेगा। इसके बाद प्रशासन की ओर से हिंदू संगठनों को आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन मिला जिसके बाद संगठन ने अगले 48 घंटे तक के लिए धरना खत्म किया। फिलहाल स्थिति को सामान्य किए जाने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।

Also Read | Delhi Riots Hindi News: शोभा यात्रा में मामला गरमाया! आगजनी, पथराव, लाठी-डंडे और तलवार से मचा उपद्रव

पंचानंद गिरी महाराज ने कहा कि एसपी नानक सिंह ने काफी अच्छे तरीके से मंदिर को बचाने के लिए फायरिंग भी की और मौके पर स्थिति को संभाला। उनका ट्रांसफर नहीं करना चाहिए था। पंचानंद गिरी ने कहा कि अगर भविष्य में खालिस्तान समर्थकों ने मंदिर पर दोबारा हमला किया तो उनको उन्हीं की भाषा में जवाब दिया जाएगा। 

पटियाला में हुई हिंसा के दौरान ‘इंटेलिजेंस’ हुआ पूरी तरह फेल 

विपक्षी दलों का आरोप है कि पटियाला में हुई हिंसा के दौरान ‘इंटेलिजेंस’ पूरी तरह नाकामयाब रहा है। जब कई दिनों से ‘आग’ के साथ खेलने की आवाजें निकल रही थीं, तो उस वक्त उन्हें खामोश करने के लिए जरूरी कदम नहीं उठाया गया। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान, जिन्हें नेता प्रतिपक्ष प्रताप सिंह बाजवा ने, भविष्यवक्ता ‘नास्त्रेदमस’ बताया है, क्या उन्हें वाकई खालिस्तान समर्थकों से निपटने के लिए ‘फ्री हैंड’ नहीं मिला।

Patiala Violence Hindi News | सीएम भगवंत मान का बयान

मुख्यमंत्री मान ने कहा, यह दो समुदाय के बीच का झगड़ा नहीं। ये तो दो राजनीतिक दलों का झगड़ा था इसके लिए उन्होंने भाजपा और अकाली दल को जिम्मेदार ठहरा दिया। जो कोई भी इस घटना के पीछे है, वह बच नहीं सकेगा। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पुलिस-प्रशासन के उच्च अधिकारियों की बैठक बुलाकर घटना की तुरंत जांच करने के आदेश दिए हैं।

दो दिन की पुलिस रिमांड पर हरीश सिंगला, पुलिस ने मांगी थी 4 दिन की रिमांड

सिंगला की अगुवाई में ही पटियाला शहर में खालिस्तान विरोधी मार्च निकाला गया था। जिसका खालिस्तानी समर्थकों ने विरोध किया और टकराव बढ़ गया था। वहीं, कहा जा रहा है कि अदालत में सिंगला ने पुलिस-प्रशासन पर फेल होने का आरोप लगाया है।  

Patiala Violence Hindi News | अदालत में पेशी के दौरान सरकारी वकील की तरफ से सिंगला की चार दिन की रिमांड मांगी गई थी। दलील दी गई थी कि हरीश सिंगला को किसने मार्च निकालने को कहा? इसमें और कौन-कौन से लोग शामिल हैं। सिंगला और इस मार्च का कहीं कोई और कनेक्शन तो नहीं? ऐसे कई सवाल हैं, जिनके जवाब के लिए पुलिस को पूछताछ के लिए वक्त चाहिए। इसलिए कोर्ट से अपील है कि सिंगला को चार दिन की रिमांड पर भेजा जाए। सिंगला के वकील के विरोध और तर्क के बाद पुलिस को दो दिन की कस्टडी मिली।

मार्च की अगुवाई करने वाले हरीश सिंगला को शिवसेना ने अब पार्टी से निकाला

इस घटना के बाद शिव सेना ने हरीश सिंगला को पार्टी से निकाल दिया है। शिवसेना पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष ने सिंगला को पार्टी से निकाले जाने की बात कही है। प्रदेशाध्यक्ष के मुताबिक राष्ट्रीय अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और युवा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष आदित्य ठाकरे के कहने पर हरीश को निकाला गया है।

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का बयान

Patiala Violence Hindi News | तनावपूर्ण हालात पर चिंता व्यक्त करते हुए अमरिंदर ने कहा कि पटियाला के लोग शांति प्रिय हैं। उन्होंने लोगों से किसी तरह के उकसावे में नहीं आने की अपील की और उम्मीद जताई कि पंजाब पुलिस लॉ एंड ऑर्डर सुनिश्चित करेगी।

राहुल गांधी बोले- सीमावर्ती राज्य में शांति जरूरी

पटियाला में हिंसा की घटना के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर पंजाब सरकार से कानून-व्यवस्था बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा था कि पटियाला से जो विजुअल सामने आ रहे हैं, वे विचलित करने वाले हैं। पंजाब जैसे सीमावर्ती, संवेदनशील राज्य में शांति और सद्भाव सबसे जरूरी है और मुझे आशा है कि जल्दी से जल्दी शांति बहाल होगी।

AAP विधायक – अजीत पाल सिंह कोहली का बयान

Patiala Violence Hindi News | पटियाला विधायक आम आदमी पार्टी के अजीत पाल सिंह कोहली ने एक मीडिया चैनल से बात करते हुए कहा कि हम हालात पर करीबी नजर रखे हुए हैं। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कानून के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ असामाजिक तत्व प्रदेश में शांति और सौहार्द बिगाड़ना चाहते हैं, जो हम होने नहीं देंगे। विधायक ने ये भी कहा कि अगर किसी ने खालिस्तान के समर्थन में नारे लगाए हैं तो उसे भी देखा जाएगा, उन पर भी उचित कार्रवाई की जाएगी।

गुरपतवंत सिंह पन्नू के खिलाफ राजद्रोह का एक मामला दर्ज किया गया 

पुलिस ने बताया कि पन्नू ने यूट्यूब चैनल पर यह घोषणा की थी कि गुरुग्राम से लेकर हरियाणा के अंबाला तक सभी एसपी और डीसी कार्यालयों में खालिस्तानी झंडा फहराया जाएगा। गुरपतवंत ने पंजाब को भारत से अलग करने और 29 अप्रैल को गुरुग्राम से लेकर अंबाला तक सभी डीसी व एसपी आफिस पर खालिस्तान का झंडा फहराने के ऐलान का वीडियो बनाया था। साइबर क्राइम पुलिस थाने में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार पन्नू ने कहा, ‘हरियाणा, पंजाब का हिस्सा होगा और पंजाब को भारत से मुक्त कराया जाएगा। गुरुग्राम से अंबाला तक प्रत्येक एसपी और डीसी कार्यालय में 29 अप्रैल को खालिस्तानी झंडा फहराया जाएगा और हरियाणा खालिस्तान बनेगा।’

लाठी-डंडे , तलवार चलाना श्री गुरु नानक जी की शिक्षा के विरुद्ध

श्री गुरु नानक देव जी के स्पष्ट आदेश थे कि पूर्ण गुरु की खोज करके सतनाम मंत्र प्राप्त करके मर्यादा में रहकर जाप करना चाहिए तथा हर एक सिख अर्थात शिष्य को सचखंड अर्थात सतलोक की प्राप्ति की कोशिश करनी चाहिए। मारकाट, लाठी-डंडे , हिंसा, बीड़ी, तंबाकू ,शराब, सिगरेट, मांस खाना इत्यादि सभी श्री गुरु नानक देव जी की शिक्षा के विरुद्ध हैं।

क्या खालिस्तान बनेगा या फिर भारत बनेगा अखंड भारत?

विश्व इतिहास में जितने भी भविष्यवक्ता हुए हैं अगर उनकी तथा श्री गुरु नानक देव जी की मानें तो हिंदुस्तान के अब कोई भी टुकड़े नहीं कर सकता, अब हिंदुस्तान विश्व का सर्वश्रेष्ठ राष्ट्र होगा, पूरे विश्व में हिंदुस्तान की विश्व गुरु के रूप में एक अलग पहचान होगी, हिंदुस्तान के आसपास के देश स्वत: ही हिंदुस्तान में मिल जाएंगे, पूरे विश्व में हिंदुस्तान का अखंड राज्य होगा, हिंदुस्तान में बनने वाली नीतियों का पूरा विश्व अनुसरण करेगा, अगर भविष्यवाणियों की मानें तो भविष्य में सुरक्षा परिषद अमेरिका से हटकर हिंदुस्तान में आ जाएगा। अगर विश्व के सभी देश मिलकर भी हिंदुस्तान पर हमला करना चाहें तब भी हिंदुस्तान को जीतना असंभव है क्योंकि हिंदुस्तान में एक ऐसे पूर्ण गुरु तत्वदर्शी संत अवतार ले चुके है जिसका आध्यात्मिक ज्ञान और ईश्वरीय चमत्कार में कोई भी सानी नहीं होगा। वह अपने चमत्कारों से वैज्ञानिकों को भी आश्चर्य में डाल देगा, उस महापुरुष द्वारा हिंदुस्तान को ऐसा शक्तिशाली और संपन्न देश बनाने के लिए मजबूत नींव डाल दी गई है।

कौन हैं नास्त्रेदमस?

फ्रांस देश के सुप्रसिद्ध भविष्यवक्ता हैं नास्त्रेदमस। नास्त्रेदमस ने 466 वर्ष पहले ही महान तत्वदर्शी संत रामपाल जी के बारे में भविष्यवाणी कर दी थी। 

क्या कहती है संत रामपाल जी के बारे में भविष्यवाणी?

भविष्यवाणी कहती है पंजाब की धरती पर आ चुका है वह अवतार जिसकी लोग प्रतीक्षा कर रहे थे। वह अवतार जिसकी लोग प्रतीक्षा कर रहे थे पंजाब की पावन भूमि पर उसका अवतार ले चुका है, जब वह अवतार पंजाब की पावन भूमि पर अवतरित हुआ तब पंजाब और हरियाणा एक ही राज्य हुआ करता था, वर्तमान में वह अवतार हरियाणा के अंदर है इससे कोई भ्रमित ना हो, उसकी माता तीन बहनें होंगी, उसके दो पुत्र और दो पुत्रियों हैं। श्री गुरु नानक देव जी को बताया गया था कि वह अवतार जाट वर्ण में अवतरित होगा। उसकी साधारण वेशभूषा है, तथा मूल मंत्र सतनाम को देने वाला पूर्ण गुरु हिंदुस्तान में मौजूद है। हिंदू ,मुस्लिम, सिख, ईसाई सब लोग उस अवतार से जुड़कर अपना कल्याण करवा रहे हैं।

सभी से विनम्र निवेदन है कि उन्हें कोई हल्का ज्ञानदीप ना समझे, उनके द्वारा लिखित पुस्तक “ज्ञान गंगा” अवश्य पढ़ें। सत्य और आश्चर्यचकित कर देने वाले अनमोल ज्ञान को अपने  सदग्रंथों से मिलान करें तत्पश्चात ज्ञान समझकर नाम दीक्षा लेकर मर्यादा में रहकर सतभक्ति करें तथा आपस में भाईचारे से रहें।

SA NEWS
SA NEWShttps://news.jagatgururampalji.org
SA News Channel is one of the most popular News channels on social media that provides Factual News updates. Tagline: Truth that you want to know

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten − one =

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

International Brother’s Day 2022: Let us Expand our Brotherhood by Gifting the Right Way of Living to All Brothers

International Brother's Day is celebrated on 24th May around the world including India. know the International Brother's Day 2021, quotes, history, date.

Birth Anniversary of Raja Ram Mohan Roy: Know About the Father of Bengal Renaissance

Every year people celebrate 22nd May as the Birth...

Know About His Assassinator and His Punishment on Rajiv Gandhi Death Anniversary

Rajiv Gandhi Death Anniversary 2022: Today is the death...