NEET-PG-Exam-2021-Postponed-hindi-news

NEET-PG Exam 2021 Postponed: नीट की परीक्षा चार माह के लिए स्थगित, जानें सतभक्ति द्वारा मनुष्य जन्म की मूल परीक्षा कैसे उत्तीर्ण करें?

Hindi News
Share to the World

NEET PG Exam 2021 Postponed: वैश्विक महामारी Covid-19 के कहर को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने NEET-PG (National Eligibility cum Entrance Test) की परीक्षा को आगामी चार माह तक स्थगित करने का निर्णय लिया है। प्रिय पाठकों को इस लेख के माध्यम से विस्तार से अवगत कराएंगे कि मनुष्य जन्म का प्रधान उद्देश्य पूर्ण संत के मार्गदर्शन में मनुष्य जन्म की मूल परीक्षा उत्तीर्ण करना हैं।

NEET PG Exam 2021 Postponed: सम्बंधी खास बातें

  • 31 अगस्त 2021 तक नहीं होगी NEET-PG की परीक्षाएं
  • Covid-19 के संक्रमित मरीजों की देखभाल करेंगे मेडिकल अंतिम वर्ष के छात्र
  • आगामी समय में होने वाली परीक्षा से पहले 1 माह का पर्याप्त समय दिया जाएगा छात्रों को तैयारी के लिए
  • परम् संत रामपाल जी से सतभक्ति प्राप्त कर, जानें जन्म-मरण रूपी परीक्षा उत्तीर्ण करने की सार्थक विधि

NEET-PG Exam 2021 Postponed: कोरोना प्रबंधन को सशक्त बनाने हेतु स्थगित की NEET-PG की परीक्षा

कोरोना प्रबंधन के दौरान डॉक्टर, नर्स आदि की उपलब्धता की  कमी न हो इसलिये NEET-PG की परीक्षा को स्थगित करने का निर्णय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिया है। इस फैसले से एक बड़ी संख्या में Covid-19 उपचार के लिए डॉक्टर्स की उपलब्धता सुनिश्चित होगी। केंद्र सरकार ने कहा है कि राज्य और केंद्र शासित प्रदेश की सरकारें हर NEET-PG उम्मीदवार तक पहुंचने की कोशिश करें और जरूरत के इस वक्त में उन्हें कोरोना वर्क फोर्स में शामिल करने के लिए तैयार करें।

Covid-19 में सेवा देने वाले छात्रों को मिलेगी सरकारी नौकरी में प्राथमिकता

सरकार का कहना है कि Covid-19 में ड्यूटी करने वाले मेडिकल के छात्रों को सरकारी नौकरी में अतिरिक्त सहूलियत दी जाएंगी। इसके साथ ही जिन मेडिकल कर्मचारियों ने Covid-19 ड्यूटी के 100 दिन पूरे कर लिए हैं, उन्हें भविष्य में सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता दी जाएगी। ऐसे कर्मचारियों को प्रधानमंत्री Covid राष्ट्रीय सेवा सम्मान से नवाजा जाएगा।

Also Read: CBSE Exam Date Sheet 2021: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड [सीबीएसई] परीक्षा समय सारणी

मनुष्य जन्म की मूल अवधारणा को अवश्य जानें

मानव जीवन की आम अवधारणा है कि बड़ा होकर पढ़-लिखकर अपने निर्वाह की खोज करके विवाह कराकर परिवार का पालन-पोषण करेंगे। बच्चों को उच्च शिक्षा तक पढ़ाएंगे, फिर उनको रोजगार मिल जाये। उनका विवाह करेंगे। परमात्मा सन्तान को भी सन्तान दे। फिर हमारा कर्तव्य पूरा हुआ। अब बेशक मृत्यु हो जाये। मेरा जीवन सफल हुआ। एक बार अपने मस्तिष्क से विचार करके सोचें कि क्या मनुष्य जीवन का केवल और केवल यही उद्देश्य है? पर क्या आपने कभी सोचा है कि इसके बाद क्या दुर्गति होगी? क्योंकि जिस उद्देश्य सतभक्ति द्वारा जन्म मृत्यु से पार उतर जाने की मूल परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए मनुष्य जीवन प्राप्त हुआ था उससे तो वंचित ही रह गए।

बिन उपदेश अचम्भ है, क्यों जिवत हैं प्राण।

भक्ति बिना कहाँ ठौर है, ये नर नाहीं पाषाण।।

पवित्र श्रीमद्भगवत गीता में श्रीकृष्ण अर्जुन से कहते हैं हे! पार्थ इस मनुष्य देह का प्रधान उद्देश्य तत्वदर्शी संत की प्राप्ति कर, उन्हें दण्डवत प्रणाम करके, उनसे सतभक्ति प्राप्त करना है।

कबीर, मानुष जन्म पाय कर, नहीं रटै हरि नाम।

जैसे कुंआ जल बिना, फिर बनवाया क्या काम।।

पूर्ण संत रामपाल जी से जानें मनुष्य जन्म की मूल परीक्षा में उत्तीर्ण होने हेतु क्या करें?

वर्तमान में पूरे विश्व में एकमात्र केवल तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज ही हैं जो वास्तविक तत्वज्ञान करा कर पूर्ण परमात्मा की पूजा आराधना बताते है। तो सत्य को जानें और पहचान कर पूर्ण तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज से मंत्र नाम दीक्षा लेकर अपना जीवन कल्याण करवाएं । अधिक जानकारी के हेतु सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल पर सत्संग श्रवण करें। जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी से निःशुल्क नाम  दीक्षा लेने। दुनिया की सबसे अधिक डाउनलोड की जाने वाली सबसे लोकप्रिय आध्यात्मिक बुक जीने की राह आप भी इसे जरूर पढ़ें।


Share to the World

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × two =