CBSE Exam Date Sheet 2021: केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड [Central Board of Secondary Education (सीबीएसई)] की प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी होने वाली परीक्षाओं की कक्षा 10वीं तथा कक्षा 12वीं की परीक्षा समय सारणी (Exam Date Sheet) मंगलवार को ट्वीट करके जारी कर दी है। परीक्षाएं 4 मई से प्रारंभ होकर 10 जून को समाप्त हो जाएंगी। परीक्षार्थियों के अच्छे परिणाम के लिए 3 महीने पूर्व ही जारी की गई परीक्षा समय सारणी (Exam Date Sheet) ताकि परीक्षार्थी परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए अध्ययन सम्बन्धी सुनिश्चित योजना बना सकें। आइए जानते हैं कि सतभक्ति रूपी परीक्षा उत्तीर्ण कैसे करे जो है मनुष्य जीवन का मूल उद्देश्य।

CBSE Exam Date Sheet 2021 के मुख्य बिंदु

  • परीक्षाएं 4 मई से 10 जून तक चलेंगी
  • 1 मार्च से प्रारंभ होंगी प्रायोगिक परीक्षाएं
  • अप्रैल माह में जारी होंगे प्रवेश पत्र
  • 15 जुलाई 2021 तक जारी होगा परीक्षा परिणाम
  • कक्षा बारहवीं की परीक्षाएं दो पालियों में होंगीं
  • ऑफलाइन मोड में ही होंगी परीक्षाएं
  • सतभक्ति रूपी परीक्षा ही उत्तीर्ण करना है जीवन का मूल उद्देश्य
  • सतभक्ति रूपी परीक्षा केवल पूर्ण गुरु अर्थात सतगुरु के मार्गदर्शन में ही उत्तीर्ण कर सकते हैं
  • संत रामपाल जी महाराज ही सम्पूर्ण पृथ्वी पर एकमात्र बाख़बर, तत्वदर्शी पूर्ण संत तथा सतगुरु हैं

CBSE Exam Date Sheet 2021: 4 मई से 10 जून तक आयोजित होंगीं सीबीएसई की परीक्षाएं

कक्षा दसवीं की परीक्षाएं 4 मई से प्रारंभ होकर 7 जून तक चलेंगी तथा कक्षा बारहवीं की परीक्षाएं 4 मई से प्रारंभ होकर 10 जून तक चलेंगी। कक्षा दसवीं की परीक्षाओं का समय 10:30 – 01:30 बजे तक रहेगा तथा कक्षा बारहवीं की परीक्षाएं दो पालियों में होगी प्रथम पाली की परीक्षाएं 10:30 – 01:30 के बीच सम्पन्न होगी और द्वितीय पाली की परीक्षाओं का आयोजन दोपहर 02:30 – 05:30 तक होगा। 39 दिन के समयान्तराल में सम्पन्न होंगीं परीक्षाएं। कक्षा दसवीं के 75 विषयों तथा कक्षा बारहवीं के 111 विषयों की होंगी परीक्षाएं।

CBSE Exam Date Sheet 2021: वैश्विक महामारी कोरोना की गाइडलाइन के बीच आयोजित होंगी परीक्षाएं

COVID-19 महामारी संबंधी दिशा-निर्देशों के बीच सीबीएसई परीक्षा आयोजित की जाएगी, फेस मास्क पहनना जरूरी होगा। इसके अलावा सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन जरूरी होगा तथा कक्षा बारहवीं की परीक्षाएं भी दो पालियों में इसलिये ली जा रही हैं ताकि परीक्षा केंद्रों पर अधिक भीड़ एकत्रित न हो।

CBSE Exam Date Sheet 2021: पाठ्यक्रम में 30% तक की रहेगी कमी

वैश्विक महामारी कोरोना के प्रभाव के कारण 10वीं और 12वीं का पाठ्यक्रम (Syllabus) 30 प्रतिशत तक कम है, इसी आधार पर करें तैयारी। आपको बता दें कि अब छात्रों को संशोधित पाठ्यक्रम का ही अध्ययन करना है और उसी के आधार पर परीक्षाएं होंगी।

CBSE Exam Date Sheet 2021: परीक्षाओं में दिया गया है पर्याप्त समयान्तराल

परीक्षार्थियों के अच्छे परिणाम की उम्मीद को ध्यान में रखते हुए तथा परीक्षार्थियों को तनिक भी तनाव न सहना पड़े इसके लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा परीक्षार्थियों को परीक्षाओं में पर्याप्त समयान्तराल दिया गया है।

ऐसे करें परीक्षा समय सारणी (Exam Date Sheet) डाउनलोड

सीबीएसई दसवीं या बारहवीं की समय सारणी (Date Sheet) डाउनलोड नीचे दिए तरीके से करें-

  • सबसे पहले सीबीएसई की ऑफिशियल वेबसाइट cbse.gov.in पर जाएं।
  • यहां New Website पर क्लिक करें।
  • इसमें Updates Section के अंदर जाएं, यहां आपको समय सारणी (Date Sheet) मिल जाएगी।
  • अब आपको जिस क्लास की समय सारणी (Date Sheet) डाउनलोड करनी है उस पर क्लिक करें जैसे CBSE Class 10 Date Sheet या CBSE Class 12 Date Sheet।
  • सही लिंक पर क्लिक करते ही एक नया पेज आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर खुल जाएगा।
  • यहां से अपनी कक्षा की परीक्षा समय सारणी (Exam Date Sheet) की पीडीएफ फाइल डाउनलोड कर लें।
  • चाहें तो इसका एक प्रिंट निकालकर भी अपने पास रख सकते हैं।

पूर्ण गुरु बिना मनुष्य जीवन का कोई मूल्य नहीं

कबीर, गुरु बिन माला फेरते, गुरु बिन देते दान।
गुरु बिन दोनों निष्फल हैं, पूछो वेद पुराण।।

पूर्ण गुरु अर्थात सतगुरु के बिना किया गया कोई भी कार्य अपनी पराकाष्ठा को प्राप्त नहीं करता। इसलिए मनुष्य जीवन में गुरु का होना कितना महत्वपूर्ण है इस बात का आशय इसी से लगाया जा सकता है कि त्रेता में राम जी ने ऋषि वशिष्ठ को गुरु बनाया तथा द्वापर में श्री कृष्ण जी ने संदीपनी जी को गुरु बनाया। अधिक जानकारी के लिए सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल विजिट करें। गुरु बनाना अत्यंत महत्वपूर्ण है पूर्ण परमेश्वर कविर्देव जी अपनी अमृतमयी वाणी में कहते हैं कि-

कबीर, राम कृष्ण से कौन बड़ा, तिन्हूं भी गुरु कीन्ह।
तीन लोक के वे धनी, गुरु आगे आधीन।।

वर्तमान में केवल संत रामपाल जी महाराज ही पूर्ण गुरु हैं

गुरु के लक्षण चार बखाना, प्रथम वेद शास्त्र को ज्ञाना।।
दुजे हरि भक्ति मन कर्म बानि, तीजे समदृष्टि करि जानी।।
चौथे वेद विधि सब कर्मा, ये चार गुरु गुण जानों मर्मा।।

परमपिता पूर्ण परमेश्वर जी ने कहा है कि जो सच्चा गुरु होगा, उसके चार मुख्य लक्षण होते हैं-

  1. सब वेद तथा शास्त्रों को वह ठीक से जानता हो।
  2. दूसरे, वह स्वयं भी भक्ति मन-कर्म-वचन से करता हो अर्थात उसकी कथनी और करनी में कोई अंतर न हो।
  3. तीसरा लक्षण यह है कि वह सर्व अनुयायियों से समान व्यवहार रखता हो, भेदभाव नहीं रखता हो।
  4. चौथा लक्षण है कि वह सर्व भक्ति कर्म वेदों (चार वेद तो सभी जानते हैं, 1. ऋग्वेद, 2. यजुर्वेद, 3. सामवेद, 4. अथर्ववेद तथा पांचवां वेद सूक्ष्मवेद है, इन सर्व वेदों) के अनुसार करता और कराता हो।

उपरोक्त सभी लक्षण वर्तमान समय में सम्पूर्ण पृथ्वी पर केवल संत रामपाल जी महाराज पर सत्य सिद्ध होते हैं इससे स्पष्ट है कि संत रामपाल जी महाराज ही सम्पूर्ण पृथ्वी पर तत्वदर्शी पूर्ण संत, सतगुरु तथा बाख़बर की भूमिका निभा रहे हैं। प्रिय पाठकगणों से निवेदन है कि संत रामपाल जी महाराज जी से आज ही निःशुल्क नाम दीक्षा प्राप्त कर अपने मनुष्य जीवन को सफल बनायें तथा अपना कल्याण करवाएं औऱ सर्व दुःखों से आज ही छुटकारा पाएं।