Maharashtra Lockdown New Guidelines pdf 2021: कोविड-19 के डेल्टा प्लस स्वरूप ने बढ़ाई चिंता

Date:

Maharashtra Lockdown New Guidelines: महाराष्ट्र में कोविड-19 का स्वरूप डेल्टा प्लस बना चिंता का कारण, लॉकडाउन में दी गई राहत को वापस लेना हुआ जरूरी क्योंकि अनलॉक के कारण बड़ी भीड़ जिससे संक्रमण ने पकड़ी तेजी। आगे चलकर लग सकता है पूर्ण Lockdown। अब दवा के साथ दुआ भी है जरूरी, लोगों को करनी चाहिए पूर्ण परमात्मा कबीर साहेब की शास्त्र सम्मत साधना सतभक्ति। 

Maharashtra Lockdown New Guidelines के मुख्य बिंदु

  • महारष्ट्र में फिर से बढ़ने लगे हैं कोरोना के मामले जिससे अनलॉक में किए गए बदलाव
  • पूरे महाराष्ट्र में 21 जून को 6270 कोरोना के नए मरीज मिले,जो 22 जून को बढ़कर 8470 हो गए
  • 23 जून को तो कोरोना का असर और भी बढ़ गया, मामले 10,000 के ऊपर पहुँच गए
  • राज्य के कुछ जिलों में लोगों को लॉकडाउन से राहत दी गई थी, जिससे भीड़ बढ़ने लगी, इस कारण भी संक्रमण बढ़ गया है
  • महाराष्ट्र सरकार ने बनाई नई गाइडलाइन
  • सरकार ने पूरे राज्य को लेवल-3 में रख दिया है और साथ ही पूर्व में घोषित पांच स्तर की अनलॉक योजना में भी संशोधन कर दिया है

COVID-19 डेल्टा प्लस वेरिएंट ने बढ़ा दी चिंता 

पूरे भारत में एक वर्ष से भी ज्यादा समय बीत चुका है COVID-19 बार-बार मंडरा रहा है। लोगों को चिंता सता रही है कि हम इस महामारी के साथ बढ़ती बेरोजगारी का सामना कैसे करेंगे। महाराष्ट्र सहित कई राज्यों में फिर से कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। डेल्टा प्लस वेरिएंट ने  चिंता बढ़ा दी है। आपको बता दें कि पूरे महाराष्ट्र में 21 जून में 6270 कोरोना संक्रमण के नए मामले सामने आए थे, जो 22 जून को बढ़कर 8470 और 23 जून को 10000 के ऊपर पहुँच गए थे। सरकार अनलॉक करती है तो भीड़ एकदम से उमड़ कर निकलती है। यही कारण है कि संक्रमण शांत होने का नाम ही नहीं ले रहा है। जिससे अनलॉक में महाराष्ट्र सरकार को बदलाव करने पड़ रहे हैं ।

डेल्टा प्लस जो कि Covid-19 का नया स्वरूप है। चिंता महाराष्ट्र सरकार को यह है कि पूरे भारत में डेल्टा प्लस के कुल 41 मामले हैं जिनमें से 21 सिर्फ महाराष्ट्र में ही हैं। यह वेरिएंट फिलहाल सबसे ज्यादा रत्नागिरी जिले में हैं। यहां कुल 9 मामले डेल्टा प्लस के सामने आए हैं। अब साफ बात तो यह है कि अनलॉक में दी गई छूट में फिर से बदलाव तो करना जरूरी है अन्यथा कोरोना बढ़ने में देरी नहीं करता हैं । 

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने चेताया संभावित तीसरी लहर और डेल्टा प्लस उत्परिवर्ती वायरस के खतरे से 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा, “संभावित तीसरी लहर और डेल्टा प्लस उत्परिवर्ती वायरस का भी खतरा है।” “स्वास्थ्य विभाग को अतिरिक्त ऑक्सीजन और आईसीयू बेड बनाने की आवश्यकता के साथ-साथ फील्ड अस्पताल जैसी सुविधाओं की संख्या के बारे में सभी जिलों के लिए योजना बनानी चाहिए। अब से सभी जिलों में ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति हो” मुख्यमंत्री उद्धव बालासाहेब ठाकरे ने सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों रायगढ़, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, सतारा, सांगली, कोल्हापुर और हिंगोली के कलेक्टरों से बातचीत की। 

Maharashtra Lockdown New Guidelines: महाराष्ट्र सरकार को नए दिशानिर्देश क्यों जारी करने  पड़े?

कोरोना तो थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। महाराष्ट्र के कई जिलों में लोगों को लॉकडाउन व कोरोना कर्फ्यू से संबंधित पाबंदियों से राहत दे दी गई है। इस राहत के कारण राज्य में अब कई जिलों में बाजार फिर से खुलने लगे हैं। यह बात तो तय है कि लॉकडाउन लगा रहता तो लोगों को खान-पान की सामग्री और भी अनेकों सामान की जरूरत बढ़ जाती है। हम एक वर्ष से देखते आ रहे हैं कि जब लॉकडाउन में छूट मिलती है तो भीड़ एकदम बढ़ती है क्योंकि जरूरतों को पूरा करने के लिए सामग्री खरीद कर रखना होता है, लोगों को डर सा बैठ गया है कहीं लॉकडाउन फिर से न लग जाए। लोकल ट्रेन, मॉल्स और बाजारों में भीड़ बढ़ती नजर आ रही है। इस कारण माना जा रहा है कि कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं और महाराष्ट्र सरकार की चिंता कोरोना के म्यूटेट वर्जन डेल्टा प्लस ने बढ़ा दी है । 

महाराष्ट्र सरकार ने शुक्रवार को नये दिशा निर्देश (Maharashtra Lockdown Guideline)

20 जून 2021 के बाद महाराष्ट्र में बढ़ने लगे है कोरोना के नए मामले। जिस कारण राज्य में सख्त हो गई है अनलॉक की प्रक्रिया। क्या आपको पता है मॉल और थिएटर खोलने पर सरकार ने रोक लगा दी है। साथ ही महाराष्ट्र सरकार ने पूरे राज्य को लेवल -3 में रख दिया है। इसका कारण रहा है डेल्टा प्लस वेरियंट क्योंकि इसके मामले प्रतिदिन कम न होकर बढ़ते ही जा रहे हैं।

Maharashtra Lockdown New Guidelines: आपको बता दें कि एक सरकारी अधिसूचना के तहत जारी किए गए नए दिशानिर्देशों के अनुसार प्रशासनिक ईकाइयों में पाबंदियां एक निर्धारित स्तर (कम से कम तीन) तक बनी रहेंगी। साथ ही अधिसूचना में राज्य की 70 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन लगवाने पर भी जोर देने को कहा गया है। वैक्सीन की भी मुख्य भूमिका है जो हमें इस महामारी से बचने में मदद दे रही हैं। महाराष्ट्र सरकार के इस कदम से संकेत मिलता है कि कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस स्वरूप से कुछ लोगों के संक्रमित पाये जाने के बाद मामलों में किसी तरह की वृद्धि होने पर पाबंदियां कड़ी कर दी जाएंगी। कोरोना का यह दुष्प्रभाव बढ़ता ही जा रहा है इसको रोकने का एक ही उपाय है लॉकडाउन क्योंकि इससे लोगों में दूरी बनेगी और कोरोना को फैलने से रोका  जा सकता है ।

Maharashtra Lockdown New Guidelines: महाराष्ट्र सरकार द्वारा जारी नए दिशानिर्देश एक नजर में

दिशानिर्देश (Guidelines) अधिसूचना में इस महीने की शुरूआत में महाराष्ट्र सरकार द्वारा घोषित पांच स्तर की अनलॉक योजना में भी संशोधन किया गया है । 

  • पूरा महाराष्ट्र अब लेवल-3 की कैटेगरी में होगा।
  • लेवल-1 और लेवल-2 वाले जिले स्वतः लेवल 3 में आ गए हैं।
  • जहां लेवल-1 और लेवल-2 के तहत छूट थी वो वापस लेकर लेवल-3 के नियम लागू होंगे ।
  • अब मॉल और थिएटर खोलने पर भी लगी रोक ।
  • रेस्टारेंट 50 फीसदी क्षमता के साथ शाम चार बजे तक खुले रहेंगे।
  • लोकल ट्रेनों में सफर मेडिकल स्टाफ, अत्यावश्यक सेवाओं और महिलाओं तक सीमित।
  • पब्लिक प्लेस और गार्डन वॉकिंग और साइक्लिंग के लिए सुबह पांच से नौ बजे तक छूट दी गई है।
  • सरकारी दफ़्तरों में सिर्फ 50 फीसदी उपस्थिति की इजाजत दी गई है।
  • शादी समारोह में अधिकतम 50 लोगों के मौज़ूद रहने की छूट है।
  • अंतिम संस्कार में अधिकतम 20 लोगों के शामिल होने की छूट है भाग।
  • रैपिड एंटीजन जांच के बजाय आरटी-पीसीआर जांच के आधार पर पाबंदियों को घटाया-बढ़ाया जाएगा।  

महाराष्ट्र में फिर से कोरोना का तेजी से बढ़ता दुष्प्रभाव

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री के अनुसार शुक्रवार के दिन कोरोना के कुल 9677 मामले महाराष्ट्र में देखने को मिले । इसी के साथ राज्य में वर्तमान संक्रमितों की संख्या 1,20,715 हो चुकी है । ठीक होने का दर 95.94% है और कूल ठीक होने वाले संक्रमितों की संख्या 57,72,799 है । आपको बता दें कि कहा गया है अबतक मरने वालों की कुल संख्या 1,19,859 पहुँच  चुकी है ।

किस रणनीति से समस्या का हल निकालेगी महाराष्ट्र सरकार? 

जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र सरकार में स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि डेल्टा प्लस वेरिएंट महाराष्ट्र में ना फैले इसके लिए व्यापक कार्य किए जाने की जरूरत है –

  • सभी को अपने आप में स्वयं इस विकट परिस्थिति से दूर रखने के लिए एक-दूसरे से दूरी रखनी होगी।
  • इसके लिए राज्य सरकार द्वारा सभी 36 जिलों से 100-100 सैंपल मंगवाए गए हैं । जिनको टेस्ट कर पता कर सकें, यह तेजी से तो नहीं बढ़ रहा है।  दूसरी ओर यह भी पता लगाया जा रहा है कि यह वेरिएंट कहां से आया है।  
  • मुंबई समेत महाराष्ट्र के सभी बड़े शहरों में बाजारों में बढ़ रही भीड़ के कारण कहीं न कहीं कोरोना संक्रमण के मामलों में वृद्धि देखने को मिल रही है। भीड़ इकट्टा होना रोकना है । 
  • सरकार के नए दिशानिर्देश (नई गाइडलाइन ) का सभी को पूर्णता पालन करना है।
  • टीकाकरण पर जोर देना है जिससे फैल रहे इस भयानक संक्रमण को रोका जा सके ।

जरूरत है दवा के साथ दुआ की 

जहां दवा काम नहीं करती है वहाँ दुआ की जरूरत पड़ती है। श्रद्धालु अपने मनमाने ढंग से पूजा साधना करते हैं  इसी कारण परिणाम इच्छा के अनुरूप नहीं आते हैं। कोविड महामारी में सरकार के साथ जनता की भी जिम्मेदारी है कि कोरोना प्रोटोकॉल का पूरा पालन करे और शास्त्रों के अनुसार साधना सतभक्ति को करें। पूर्ण परमात्मा कविर्देव (कबीर साहेब) सभी कष्टों को दूर करते हैं । सही साधना विधि को जानने के लिए पवित्र पुस्तक ज्ञान गंगा को पढ़ें और अपने कष्टों को दूर करते हुए समाज की भलाई के लिए भी अग्रसर हों।

SA NEWS
SA NEWShttps://news.jagatgururampalji.org
SA News Channel is one of the most popular News channels on social media that provides Factual News updates. Tagline: Truth that you want to know

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − fifteen =

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related