Mahadev Betting App Case: महादेव बेटिंग ऐप केस में एक्टर साहिल खान गिरफ्तार  

spot_img

Mahadev Betting App Case: महादेव बेटिंग मामले में रविवार को अचानक अभिनेता साहिल खान को गिरफ्तार कर लिया गया है। मुंबई की एक अदालत में साहिल खान को पेश किया गया। जहां से एक मई तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। ऑफिसर्स ने बताया मुंबई उच्च न्यायालय ने साहिल की अग्रिम जमानत याचिका ख़ारिज कर दी। साहिल खान जांच में सहयोग भी नहीं कर रहे थे। इसलिए शनिवार को उन्हें छत्तीसगढ़ के जगदलपुर शहर गांव से गिरफ्तार कर लिया गया। जिसके बाद एसआईटी साहिल से पूछताछ कर रही है।

  • महादेव बेटिंग ऐप घोटाले के चलते बॉलीवुड एक्टर साहिल खान गिरफ्तार
  • कैसे करता है ये ऐप काम?
  • कई राजनेता और बॉलीवुड एक्टर्स रडार पर
  • युवाओं के लिए वरदान हैं संत रामपाल जी महाराज के सत्संग

 Mahadev Betting App Latest News : महादेव बेटिंग ऐप एक बेटिंग ऐप हैं। बीते दिनों इस ऐप को लेकर कई केस दर्ज हुए थे जिसमे बॉलीवुड के कई एक्टरों के साथ राजनेताओं से भी पूछताछ की गई थी। बीते गुरुवार को एसटीएफ ने दो शातिरों को गिरफ्तार किया है जिसमे से एक मुजरिम दुबई में बैठे ऐप के घोटाले के मास्टरमाइंड का चचेरा भाई था। महादेव बेटिंग ऐप घोटाले से जुड़े दो लोगों अभय सिंह और संजीव सिंह को 25 अप्रैल, बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से एक अभय सिंह मुंबई में इस ऐप के मास्टरमाइंड का चचेरा भाई है और इस ऐप का इंडिया हेड है। पुलिस ने इन्हें लखनऊ से गिरफ्तार किया।

Mahadev Betting App Case: नगर निगम में काम करने वाले रामेश्वर चंद्राकर छत्तीसगढ़ भिलाई के रहने वाले थे। रामेश्वर का बेटा सौरभ चंद्राकार (28) जूस की दुकान चलाता था, ने रवि उत्पल के साथ मिल कर एक सट्टेबाजी की वेबसाइट और ऐप बनाई जिसका नाम महादेव बेटिंग ऐप रखा। इस ऐप से करोड़ों का घोटाला हुआ। यह ऐप चर्चा में तब आई जब ईडी के माध्यम से यह खुलासा हुआ कि तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यूएई के ऐप प्रमोटर्स से 508 करोड़ रुपए लिए हैं। इस ऐप के जरिए 15000 करोड़ का घोटाला बताया जा रहा है। इस अवैध सट्टेबाजी ऐप के सबसे अधिक खाते छत्तीसगढ़ में खुले।

Mahadev Betting App Case: सौरभ चंद्राकार और रवि उत्पल के माध्यम से बनी ये ऐप सरकार द्वारा बैन है। इस ऐप के जरिए एक दिन में कई करोड़ों का मुनाफा इन लोगो ने कमाया है। सरकार ने गत वर्ष महादेव बेटिंग ऐप समेत 139 सट्टेबाजी के ऐप और 94 लोन ऐप तथा कई वेबसाइट पर प्रतिबंध लगाया था। बेटिंग ऐप को केंद्र सरकार ने इन्फोर्मेशन टेक्नोलोजी अधिनियम की धारा 69 (अ) के तहत बंद करने के आदेश दिए थे। इस ऐप से जुड़े अनेक लोगों के ख़िलाफ़ जांच चल रही है। लोगों के बैंक अकाउंट्स, तकनीकी उपकरणों की भी जांच की जा रही है।

■ यह भी पढ़ें: संत रामपाल जी के शिष्य ने मुस्लिम व्यक्ति का मोबाइल लौटाया, दिया ईमानदारी और भाईचारे का संदेश

Mahadev Betting App Case: महादेव बेटिंग ऐप को कई वेबसाइट के माध्यम से ऑपरेट किया जाता है। यह एक सट्टेबाजी का ऐप है। इसमें एक कॉन्टेक्ट नंबर के जरिए कई खेलों जैसे बैडमिंटन, पोकर, टेनिस, फुटबॉल, क्रिकेट आदि पर लोगों को पैसे लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। धन कमाने के लालच में लोग सट्टे में पैसे लगाते हैं। इस अवैध बेटिंग ऐप घोटाले में अब तक कई राजनेताओं और बॉलीवुड एक्टर एक्ट्रेस के नाम सामने आ चुके है। इस ऐप के चलते अक्टूबर 2023 में कई जगहों पर छापेमारी भी केंद्रीय एजेंसी ने की है। ऐसे ऐप्स में पहले कुछ पैसों का प्रलोभन दिया जाता है फिर धीरे-धीरे व्यक्ति को इसकी आदत सी लग जाती हैं और वह पैसों के लालच में इन ऐप्स पर पैसे लगाते जाता हैं।

सार्वजनिक जुआ अधिनियम 1867 के तहत अवैध सट्टेबाजी को भारत में अपराध माना जाता है। इस अधिनियम के तहत ऐसे अपराधियों के लिए दंड का प्रावधान है। ध्यान देने योग्य है कि अवैध सट्टेबाजी में सामान्य दंडों के अलावा कठोरतर दंड भी हो सकता है, जो कई साल की कारावास के साथ दिया जा सकता है। हालांकि यह विषय राज्यसूची के अंतर्गत आता है अतः राज्य विधानसभाएं भी सट्टेबाजी के लिए कानून लागू कर सकती हैं। अगर भारत के कानून की बात की जाएं तो अवैध सट्टेबाजी अपराध है पूर्ण रूप से बैन नहीं हैं जबकि देश की और जनता की भलाई इसी में हैं कि इस तरह के ऐप्स पर और सट्टेबाजी पर बैन लगाना चाहिए। 

एक तरफ सरकार भी सट्टे को पूर्ण रूप से बैन नहीं कर पा रही हैं और दूसरी ओर संत रामपाल जी महाराज समाज में फैली अनेकों बुराइयों एवं कुरीतियों को छुड़वाने का महान कार्य कर रहें हैं और एक स्वच्छ एवं निर्मल समाज तैयार कर रहे हैं। संत रामपाल जी महाराज अपने आध्यात्मिक प्रवचनों में बताते हैं कि आज की युवा पीढ़ी सत्संग के अभाव में कई बार गलत कदम उठा लेते हैं। यदि मानव पूर्ण गुरु की शरण में आ जाए और भक्ति करें तो उसके सारे कष्ट दूर हो जाएंगे एवं उसकी सारी बुराइयां छूट जाएंगी।

समाज में अपराधों पर लगाम केवल सत्संग के माध्यम से कसी जा सकती है। संत रामपाल जी महाराज ने समाज को सही दिशा सही मायने में दी है। संत रामपाल जी महाराज ने सभी सतग्रंथों को खोलकर सही मायने में सतभक्ति प्रदान की है। समाज में चोरी, भ्रष्टाचार, बलात्कार, ठगी, सट्टेबाजी आदि बुरे कार्यों पर लगाम संत रामपाल जी महाराज ने अपने ज्ञान से कसी है। उनके अनुयायी इन सभी कार्यों से दूर रहते हैं एवं इनमें सहयोग भी नहीं करते हैं। संत रामपाल जी महाराज ने युवाओं को गलत दिशा में बढ़ने से रोका है और उनके जीवन को एक नया आयाम और दृष्टि प्रदान की है। उनके कार्य समाज में अतुलनीय हैं।

संत रामपाल जी महाराज जी के शिष्य अपने गुरुदेव की भक्ति मर्यादा में रहते हुए भक्ति करते हैं जिससे वे सामाजिक बुराइयों से हमेशा बचे रहते हैं। संत रामपाल जी महाराज ने ही उन्हें ये मार्गदर्शन दिया और उन्हें चोरी, नशा, ठगी सट्टे जैसे कई अपराधों से बचने की प्रेरणा दी है। आज संत रामपाल जी महाराज के अनुयाई अपना सारा समय सेवा, भक्ति और अपने जीवन के आध्यात्मिक लक्ष्यों में लगाते हैं। नशा करना तो दूर उसमें कोई सहयोग भी नहीं करते। चोरी, बदमाशी, सट्टेबाजी जैसे अपराधिक कृत्य उन्हें छू भी नहीं सकते। संत रामपाल जी महराज ने सही मायने में समाज सुधार किया है। संत रामपाल जी महाराज जी के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने हेतु देखें यूट्यूब चैनल “संत रामपाल जी महाराज”।

निम्न सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर हमारे साथ जुड़िए

WhatsApp ChannelFollow
Telegram Follow
YoutubeSubscribe
Google NewsFollow

Latest articles

Modernizing India: A Look Back at Rajiv Gandhi’s Legacy on his Death Anniversary

Last Updated on 18 May 2024: Rajiv Gandhi Death Anniversary 2024: On 21st May,...

Rajya Sabha Member Swati Maliwal Assaulted in CM’s Residence

In a shocking development, Swati Maliwal, a Rajya Sabha member and chief of the...

International Museum Day 2024: Museums Are a Means of Cultural Exchange

Updated on 17 May 2024: International Museum Day 2024 | International Museum Day (IMD)...

Sunil Chhetri Announces Retirement: The End of an Era for Indian Football

The Indian sporting fraternity is grappling with a wave of emotions after Sunil Chhetri,...
spot_img

More like this

Modernizing India: A Look Back at Rajiv Gandhi’s Legacy on his Death Anniversary

Last Updated on 18 May 2024: Rajiv Gandhi Death Anniversary 2024: On 21st May,...

Rajya Sabha Member Swati Maliwal Assaulted in CM’s Residence

In a shocking development, Swati Maliwal, a Rajya Sabha member and chief of the...

International Museum Day 2024: Museums Are a Means of Cultural Exchange

Updated on 17 May 2024: International Museum Day 2024 | International Museum Day (IMD)...