FAU-G Game Details Hindi: 2 सितंबर 2020 को सरकार द्वारा 118 चीनी ऐप्स को बैन किया गया था और साथ में इन एप्स से हमारे देश की सुरक्षा को बहुत खतरा बताया था । इसके चलते एक और बड़ी खबर सामने आ रही है और इसके लिए अभिनेता अक्षय कुमार ने किया है ऐलान एक नए एप्प का।

FAU-G Game Details Hindi: मुख्य बिंदु

  • 2 सितंबर 2020 को 118 चीनी एप्स पर लगाई गई थी रोक जिनमें शामिल था युवाओं में लोकप्रिय गेम एप्प PUBG
  • चीनी ऐप्स के उपयोग से बताया गया था देश की सुरक्षाओं को बड़ा खतरा । PUBG जैसे गेम ने डाला विद्यार्थी जीवन पर बुरा असर
  • अक्षय कुमार ने किया ऐलान की PUBG के बदले FAU-G गेम। FAU-G गेम को बताया आत्मनिर्भर भारत मूवमेंट का हिस्सा
  • विशाल गोंदाल के इंडिया गेम्स और बेंगलुरु के एनकोर गेम्स ने बनाया है FAU-G एप्प
  • इन नकली खेलों के महत्व ने समय के महत्व को छुपा दिया है। मानव जीवन का कार्य यह खेलों का खेलना नहीं बल्कि आत्मकल्याण करवाना है।
  • सद्भक्ति द्वारा आत्मकल्याण ही आत्मनिर्भरता है जिससे यह लोक भी सुखी और परलोक भी सुखी। तत्वदर्शी संत ही बताते है आत्मकल्याण हेतु मोक्षदायिनी सद्भक्ति।

सरकार ने किए 118 चीनी ऐप्स बैन

बीते दिनों सरकार ने देश में सुरक्षा की दृष्टि से कुछ एप्प्स को बंद किया है। इसमें युवाओं का एक लोकप्रिय खेल PUBG भी बंद हुआ। यह जानकर उन लोगों को बहुत खुशी हुई थी जिनके बच्चे पूरा समय PUBG गेम में बर्बाद कर रहे थे। बच्चे यह भी भूल गए थे कि खाना भी समय पर लेना है और पढ़ाई भी करना है। जिन बच्चों की रुचि चीनी ऐप्स में थी वह केवल हाथ में मोबाइल लेकर गेम्स में बिजी रहते थे । जिससे बच्चों के माता पिता दोनों परेशान थे। सरकार ने 2 सितंबर 2020 को एक साथ 118 चीनी ऐप्स पर रोक लगा दी जिसमें सबसे पॉपुलर PUBG गेम भी बैन हो गया है ।

सरकार ने बताया था कि हमारे देश में जिन ऐप्स का उपयोग किया जा रहा है तो इससे हमारे देश की सुरक्षाओं को बहुत बड़ा खतरा है। इस लिए सरकार ने चीनी ऐप्स के उपयोग पर रोक लगाई है। जिस देश से हमारे भारत देश का हित नहीं हो सकता है उस देश की टेक्नोलॉजी हम प्रयोग नहीं करेंगे।

PUBG गेम था विद्यार्थी जीवन का दुश्मन

यदि हम इसके दुष्परिणाम की बात करें तो इससे विद्यार्थियों के जीवन पर बहुत बुरा और ख़तरनाक असर पड़ा है। बच्चों को दिन रात केवल PUBG ही दिखाई देता रहा है जब तक वह उनके मोबाइल में था । उनके लिए खेलकूद, पढ़ाई, परिवार, किताबों की जगह केवल PUBG ही सब कुछ था । जिसके चलते उनकी पढ़ाई पर भी असर देखने को मिला । जब परीक्षा परिणाम आया तो बच्चे चुप थे । सरकार ने बहुत ही अहम और महत्वपूर्ण कदम उठाया जिससे समय बचा जिसमें टेक्नोलॉजी में समय बर्बाद कर रहे थे ।

FAU-G Game Details: PUB-G के बदले FAU-G

प्रसिद्ध गेमिंग ऐप PUBG जिस पर भारत सरकार ने बैन लगा दिया है इसके दो दिन बाद ही अभिनेता अक्षय कुमार ने PUBG की जगह एक नया भारतीय ऐप FAU-G यानी फौजी गेम लॉन्च करने का ऐलान किया है। FAU-G का फूल फार्म है फियरलेस एंड यूनाइटेड गार्ड्स (fearless and united guards) आपको बता दे कि इस गेम को खेलने वालों को देश के जवानों के बलिदान के बारे में भी जानकारी मिलेगी और साथ ही भारतीय सेना कैसे अपने देश के लिए लड़ रही है और कैसे दुश्मनों को जवाब दे रही है सब कुछ जानने को मिलेगा । यह अक्षय कुमार का पहला गेमिंग वेंचर बताया जा रहा है।

साथ में अक्षय कुमार ने ट्वीट करते हुए लिखा- पीएम मोदी के आत्मनिर्भर मूवमेंट को सपोर्ट करते हुए इस एक्शन गेम का प्रदर्शित करने में बहुत गर्व महसूस हो रहा है। निडर और एकता की मिसाल गार्ड्स – फौजी। खुशी की बात तो यह है कि मनोरंजन के अलावा इस खेल में खिलाड़ी हमारे सैनिकों के बलिदान को जान सकेंगे।

FAU-G Game Details: ट्विटर पर ट्वीट करते ही टॉप ट्रेंड हुआ फौजी

अक्षय के इस गेम की जानकारी को जब ट्वीट के द्वारा शेयर किया गया तो कुछ ही समय में यह ट्विटर पर टॉप ट्रेंड करने लगा। आपको बता दे कि यह गेम ऐप बिल्कुल हमारे भारत का बनाया हुआ गेमिंग ऐप है। PUBG बैन होने के चलते गेम खेलने वाले बड़े उदास थे। उनके लिए यह बहुत ही बड़ी खुशखबरी है कि भारत अपना खुद का गेमिंग ऐप लॉन्च करने जा रहा है। आपको बता दें कि यह गेमिंग ऐप FAU-G यानी फौजी गेम को विशाल गोंदाल के इंडिया गेम्स और बैंगलुरु के एनकोर गेम्स ने मिलकर तैयार किया है। इंडिया ट्रेंडिंग में आते ही महज एक घंटे के अंदर इस पर करीब 20 हजार से ज्यादा ट्वीट्स किए जा चुके हैं। लोगों को इंतजार था कि कब गेमिंग ऐप वापिस आएगा इसके चलते PUBG के बदले मिलने वाला है भारतीय FAU-G गेमिंग ऐप ।

रेवेन्यू का कुछ हिस्सा जाएगा भारत के वीर ट्रस्ट को

अक्षय कुमार ने इंस्टाग्राम के माध्यम से बताया है कि पीएम मोदी के आत्मनिर्भर मूवमेंट को सपोर्ट करते हुए इस एक्शन गेम का प्रदर्शित करते हुए गर्व हो रहा है। निडर और एकता की मिसाल गार्ड्स – फौजी। एंटरटेनमेंट से इतर इस खेल में प्लेयर्स हमारे सैनिकों के बलिदान को जान सकेंगे। इस मोबाइल गेम से मिलने वाले रेवेन्यू का 20 फीसदी हिस्सा भारत के वीर ट्रस्ट को दान किया जाएगा। जिससे भारत के वीर जवानों ,हमारे अपने सैनिकों को मदद मिल सके।

यह पहल बहुत अच्छी नजर आ रही है । PUBG को भारत में 17.5 करोड़ लोगों ने डाउनलोड कर रखा था। फौजी गेम के बारे में वर्तमान में अभी इतनी ही इन्फॉर्मेशन सामने आई है। यह गेम तब लॉन्च किया जा रहा है, जब PUBG पर बैन लगा दिया है। PUBG भारत में बेहद लोकप्रिय/पॉपुलर था। गलवान घाटी में भारत-चीन के सैनिकों की झड़प के बाद केंद्र ने 29 जून को 59 चीनी ऐप्स, 27 जुलाई को 47 ऐप और 2 सितंबर को PUBG समेत 118 ऐप्स बैन किए हैं। हालांकि, PUBG का मोबाइल और डेस्कटॉप वर्जन अभी भी मौजूद है। लेकिन, अक्षय कुमार के अनाउंसमेंट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने फौजी को लेकर पॉजिटिव कमेंट्स दिए हैं। लोगों में बहुत खुशी है कि PUBG के बदले मिल रहा FAU-G गेमिंग ऐप ।

अध्यात्म की दृष्टिकोण से इन नकली खेलों के महत्व ने समय का महत्व छुपा दिया है

आपको जानकर हैरानी होगी कि हम वर्तमान में वही कर रहे है जो कार्य प्रत्येक पशु-पक्षी कर रहे है । जैसे पशु-पक्षी जन्म देते-लेते है । बच्चों का लालन-पालन और बड़े करते है । रहने और खाने – पीने के लिए दिनभर महनत भी करते है और अंत में उम्र ढलते ही मृत्यु को प्राप्त हो जाते है । सोचिए उन पशु -पक्षियों ने क्या पाया अपने जीवन में और क्या लेकर गए और किसने उनका अंत समय में साथ दिया । यही हाल मानव जीवन में इंसान कर रहा है और अंत में मौत हो जाती है। पांच तत्व का मानव शरीर केवल भक्ति के लिए मिला है और मोक्ष प्राप्ति इसी शरीर मे सम्भव है।

देवता भी इस शरीर के लिए तरसते हैं। समय रहते हम धन-दौलत कमाने में लगे रहते है । यह भूल जाते है कि मानव जन्म बार बार नहीं मिलता है । हम क्यों इन नकली खेलों के खेल में उलझ जाते है साथ में बच्चों को भी केवल वही पाठ पढ़ाया जाता है कि पैसे और नाम कमाना है और अंत में परिवार बनाकर मर जाना है। आखिर में कुछ नहीं बचता है पछताने और रोने के अलावा। समय बड़ा बलवान है इसका सदुपयोग करना सीखें और सद्भक्ति कि तरफ कदम बढ़ाएं।

युवा पीढ़ी का हो रहा है नाश

ऑनलाइन गेमिंग, फिल्मों आदि ने युवा पीढ़ी का नाश करके रख दिया है। आज किताबें पढ़ने भक्ति करने सही राह पर चलने की बजाय गेमिंग में अपने आपको झोंक कर समय और जीवन दोनों हो बर्बाद कर लिया है। इससे देश आत्मनिर्भर नहीं बनेगा बल्कि गर्त में चला जायेगा। जिस देश का युवा केवल अपने देश मे बने गेम एप्प से खेलने को आत्मनिर्भर बनना समझता हो वह देश कैसे तरक्की कर सकता है? पैदा होना, भोजन करना और प्रजनन करके मर जाना पशु भी करते हैं। यह मानव जीवन का उद्देश्य नहीं है। मानव जीवन का उद्देश्य है भक्ति करना।

मानव जीवन में ही आत्मकल्याण हो सकता है

Satlok Ashram

परमात्मा हमें यह मानव जन्म बार बार न देकर केवल भक्ति करने के लिए मौका देता है । यदि हम आत्म कल्याण के लिए नहीं सोचते है तो वह परमात्मा नाराज हो जाते है और फिर से मानव जन्म की जगह पशु- पक्षी की योनियों में भटकना पड़ता है। केवल मानव को ही ज़ुबान मिली है जो परमात्मा के नाम का सुमरण-जाप करके अपना कल्याण करवा सकती है।

कबीर साहेब जी कहते है:-

मन नेकी करले,दो दिन का मेहमान, मन नेकी करले |
जोरू ,लड़का और कुटुंब कबीला।

दो दिन का तन मन का मेला।
अंतकाल चल उठे अकेला,यह तज माया-अभिमान ||

समय रहते अच्छे कर्म करते सद्भक्ति करना ही मानव के हित में है। न जाने कब मौत की बिजली गिर जाए हमारे ऊपर इसलिए समझदार को समझ लेना चाहिए कि पत्नी, बेटा, घर परिवार सब कुछ तन- मन का नकली खेल है मौत के बाद सब कुछ बर्बाद है । कुछ साथ नहीं जाएगा न कोई मदद करेगा । इसलिए माया का नशा और अभिमान को छोड़कर पूर्ण गुरु से नाम दीक्षा लेकर भक्ति करके जीवन कल्याण करवा लेना चाहिए।

वर्तमान में केवल तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी आत्मकल्याण के लिए सद्भक्ति प्रदान करते हैं

वर्तमान में पूरे विश्व में एकमात्र केवल तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी ही हैं जो वास्तविक तत्वज्ञान पर आधारित पूर्ण परमात्मा की साधना बताते हैं। वह पूर्ण परमात्मा ही है जो हमें धनवृद्धि कर सकता है ,सुख शांति दे सकता है व रोग रहित कर मोक्ष दिला सकता है। वही परमात्मा सबका रक्षक है। सर्व सुख और मोक्ष केवल तत्वदर्शी संत की शरण में जाने से सम्भव है। तो सत्य को जाने और पहचान कर पूर्ण तत्वदर्शी सन्त रामपाल जी महाराज से मंत्र नामदीक्षा लेकर अपना जीवन कल्याण करवाएं । सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल पर सत्संग श्रवण करें और जीने की राह पुस्तक पढ़ें। यही आपके हित में है। अध्यात्म ज्ञान ही हमें इस मानव जीवन का महत्व सिखा सकता है और कल्याण करा सकता है।