Covid cases in India [Hindi] | 24 घंटे में 750 से ज्यादा कोरोना के नए मामले दर्ज, देश के 11 राज्यों में फैला कोविड का नया JN.1 वैरिएंट

spot_img

Covid cases in India [Hindi] : पूरे विश्व में कोविड-19 (Covid-19) के 70 करोड़ से ज्यादा मामले रिपोर्ट किए जा चुके हैं। जिनमें से अब तक 69.58 लाख से अधिक लोगों की मौत भी हो चुकी है। वहीं देश में पिछले 24 घंटे के भीतर 750 से भी ज्यादा कोरोना केस मिलने से एक्टिव कोरोना केसों की संख्या 3000 से भी अधिक हो चुकी है। इसी बीच दुनियाभर के कई देशों में कोविड-19 के नए JN.1 वैरिएंट (Corona JN. 1 Variant) का पता चला है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, अब तक पूरे विश्व में इस नए वैरिएंट के 7,300 से ज्यादा मामले रिपोर्ट किए जा चुके हैं। वहीं इस नए वैरिएंट JN.1 से भारत भी अछूता नहीं रहा है। आखिर जेएन.1 कोविड वैरिएंट कितना घातक है? कोरोना से बचने के क्या उपाय है? जानिए इस लेख में

  • भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 750 से ज्यादा नए मामले हुए दर्ज।
  • देश में एक्टिव कोरोना केसों की संख्या 3.5 हजार के करीब पहुंची।
  • कोविड-19 का नया वैरिएंट (Corona JN. 1 Variant) देश के 11 राज्यों में फैला।
  • कोविड-19 के नए वैरिएंट JN.1 को WHO ने ‘वैरिएंट ऑफ इंटरेस्ट’ के रूप में वर्गीकृत किया।
  • कोविड-19 JN.1 वैरिएंट दुनियाभर के 41 देशों में पहुंचा।
  • पूर्ण परमात्मा की शास्त्रानुकूल भक्ति करने से सर्व रोगों से मिलती है मुक्ति।
  • सद्ग्रंथों के अनुसार, कबीर परमेश्वर हैं सर्व प्राणियों के रक्षक।

भारत (Covid cases in India) में बीते 24 घंटों में कोरोना के 752 नए केस दर्ज हुए, जबकि 4 लोगों की मौत हो गई। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, शनिवार को कोविड (Covid-19) के एक्टिव मामलों की संख्या 3,420 पर पहुंच गई है। वहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि लोगों को घबराने की नहीं बल्कि सतर्क रहने की जरूरत है।

देश में कोरोना के बढ़ते मामले एक बार फिर लोगों को डरा रहे हैं। वहीं चिंता बढ़ाने वाली बात यह है कि अकेले एक दिन में यानि बीते गुरुवार को देशभर में कोरोना से 6 मरीजों की मौत हुई। करीब 7 महीने बाद किसी एक दिन में कोरोना से इतनी मौतें हुई हैं। वहीं बीते 24 घंटे के भीतर 4 और मरीजों की मौत कोरोना के कारण हो गई।

Covid cases in India [Hindi] : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, 17 राज्यों में कोविड-19 के एक्टिव मामलों में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है, जिसमें केरल (266), कर्नाटक (70), महाराष्ट्र (15), तमिलनाडु (13) और गुजरात (12) शामिल हैं। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से शनिवार सुबह 8 बजे तक जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, देश में अब तक सामने आए कोरोना के केसों की कुल संख्या 4.50 करोड़ (4,50,07,964) है। 

वहीं देश में बीते 24 घंटे में संक्रमण से चार लोगों की मौत होने के कारण इस महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 5,33,332 हो गई है। तो वहीं इस बीमारी से उबरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 4,44,71,212 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना से स्वस्थ होने की दर 98.81% है, तो वहीं मृत्यु दर 1.19% है। जबकि देश में अब तक कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान के तहत 220.67 करोड़ वैक्सीन लगाई जा चुकी हैं।

कोविड-19 के फैलने के मुख्य 4 चार कारण हैं: खांसी या छींक से हवा, व्यक्तिगत संपर्क, दूषित वस्तुएँ, विशाल सम्मेलन। वहीं कोविड-19 के मुख्य लक्षणों में तेज़ बुखार, सूखी खाँसी, गला खराब होना, सांस लेने में कठिनाई शामिल हैं। कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए लोगों को अपने हाथ बार-बार धोना चाहिए, फेस मास्क पहनना चाहिए, बीमार लोगों के संपर्क से बचें, अपनी खांसी या छींक को हमेशा ढककर करें।

■ यह भी पढ़ें: Coronavirus Omicron Variant: क्या है कोरोना का ओमीक्रॉन वेरिएंट तथा क्या है इससे बचाव का रास्ता?

Covid cases in India [Hindi] : जहां पूरे विश्व में एक बार फिर कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं तो वहीं इस बीच दुनिया के कई देशों में कोविड-19 के नए JN.1 वैरिएंट का पता चला है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, अब तक पूरे विश्व में इस नए वैरिएंट के 7,300 से ज्यादा मामले रिपोर्ट किए जा चुके हैं। वहीं इस नए वैरिएंट JN.1 से भारत भी अछूता नहीं रहा है। 21 दिसंबर तक की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में COVID-19 JN.1 वैरिएंट के 22 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं आपको बता दें कि कोविड-19 JN.1 का पहला मामला सितंबर में अमेरिका में आया था। पिछले हफ्ते, चीन में इसके सात मामले सामने आए। अब यह 41 देशों में फैल चुका है। जबकि इस वैरिएंट के सबसे अधिक मामले यूरोपीय देश फ्रांस में दर्ज किए गए हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO-World Health Organization) ने कोरोना के नए वैरिएंट जेएन.1 का वर्गीकरण “वैरिएंट ऑफ इंटरेस्ट” के रूप पर किया। WHO ने अनुसार, इस नए वैरिएंट से आम जनता के स्वास्थ्य को बड़ा खतरा नहीं है। लेकिन अन्य न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना महामारी (कोविड-19) का जेएन.1 वैरिएंट शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को प्रभावित कर सकता है और यह दूसरे कोविड-19 वैरिएंट की तुलना में अधिक आसानी से फैल सकता है। हालांकि, अभी तक की रिपोर्ट के अनुसार, इससे बेहद गंभीर बीमारी के कोई संकेत नहीं मिले हैं। 

हमारे पवित्र सद्ग्रंथ ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 80 मंत्र 2, ऋग्वेद मण्डल 10 सुक्त 161 मंत्र 2, 5, सुक्त 162 मंत्र 5, सुक्त 163 मंत्र 1 – 3 में लिखा है कि पूर्ण परमात्मा अपने साधक की आयु बढ़ा सकता है और कोई भी रोग चाहे आंख, कान, नाक, सिर, गले, हृदय, त्वचा या फिर शरीर के किसी भी अंग का हो उसे नष्ट कर सकता है। वहीं ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 20 मण्डल 1 में कहा गया है कि कविर्देव (कबीर परमेश्वर) सर्व का रक्षक है। उसी कबीर परमात्मा के विषय में गीता अध्याय 15 श्लोक 17 में गीता ज्ञान दाता ने कहा है कि उत्तम पुरुष तो अन्य है जो तीनों लोकों में प्रवेश करके सबका धारण पोषण करता है और गीता अध्याय 18 श्लोक 62 में कहा है कि तू उस परमात्मा की शरण में जा जिसकी कृपा से तू परम शांति को और सनातन परम धाम यानि जहां जन्म मृत्यु का कष्ट नहीं है उस लोक को प्राप्त होगा।

वहीं परमात्मा प्राप्त संतों ने बताया है कि कबीर परमात्मा सबसे बड़े वैद्य यानि डॉक्टर हैं जो मानव को जन्म मृत्यु के रोग से मुक्ति दिलाते हैं। आदरणीय संत गरीबदास जी ने अपनी अमृतवाणी में कहा है:

हरदम खोज हनोज हाजर, त्रिवेणी के तीर हैं।

दास गरीब तबीब सतगुरु, बन्दी छोड़ कबीर हैं।।

अर्थात शास्त्रानुकूल भक्ति करके परमात्मा की खोज करो। वह परमात्मा सतगुरू रूप में त्रिकुटी में बने राजदूत भवन में रहता है जो स्थान त्रिवेणी के किनारे पर है। आदरणीय संत गरीबदास जी ने कहा है कि तबीब अर्थात् सर्व रोगनाशक वैद्य सतगुरू बन्दीछोड़ कबीर जी हैं। शारीरिक रोग तथा जन्म-मरण के रोगों के वैद्य परमेश्वर कबीर जी ही हैं। उनके बताए भक्ति मार्ग से असाध्य रोग जो शरीर के हैं, वे समाप्त हो जाते हैं तथा जन्म-मृत्यु का दीर्घ रोग जो श्री ब्रह्मा, श्री विष्णु तथा श्री शिव जी को भी लगा है, वह भी कबीर तबीब अर्थात् वैद्य रूपी कबीर परमेश्वर से समाप्त हो जाता है। कबीर जी बन्दी छोड़ हैं। “अमर करूं सतलोक पठाऊँ, ताते बन्दी छोड़ कहाऊँ।” कर्म बन्धनों से मुक्ति मिलने पर प्राणी अमर मोक्ष प्राप्त करता है। परमेश्वर कबीर जी की सत्य साधना करने से सर्व पाप कर्म नष्ट हो जाते हैं। तब भक्त अमर होता है, परमात्मा उसको सतलोक भेज देते हैं।

अधिक जानकारी के लिए Sant Rampal Ji Maharaj App गूगल प्ले स्टोर से डाऊनलोड कीजिये।

निम्नलिखित सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर हमारे साथ जुड़िए

WhatsApp ChannelFollow
Telegram Follow
YoutubeSubscribe
Google NewsFollow

Latest articles

The Accordion’s 195th Patent Anniversary: Google Doodle Showcases Accordion’s Diversity

On May 23rd, 2024, Google celebrated the accordion's 195th patent anniversary with a delightful...

કબીર પ્રગટ દિવસ 2024 [Gujarati] : તિથિ, ઉત્સવ, ઘટનાઓ, ઇતિહાસ

કબીર પ્રગટ દિવસ ધરતી પર પરમાત્મા કબીર સાહેબના પ્રાગટ્ય પ્રસંગે ઉજવવામાં આવે છે. ભગવાન...

ಕಬೀರ ಪ್ರಕಟ ದಿವಸ 2024 [Kannada] : ದಿನಾಂಕ, ಆಚರಣೆ, ಘಟನೆಗಳು, ಇತಿಹಾಸ

ಕಬೀರ ಪ್ರಕಟ ದಿವಸ ಪರಮಾತ್ಮಕಬೀರ ಸಾಹೇಬರು ಪೃಥ್ವೀ ಮೇಲೆ ಪ್ರಕಟವಾಗಿರುವ ಸಂದರ್ಭದ ಮೇರೆಗೆ ಆಚರಿಸಲಾಗುತ್ತದೆ. ಭಗವಂತ ಕಬೀರ ಸಾಹೇಬರು...

কবীর প্রকট দিবস 2024 [Bengali] : তিথি, উৎসব, ঘটনা সমূহ, ইতিহাস

কবীর প্রকট দিবস, পরমাত্মা কবীর সাহেবের এই ধরিত্রী-তে প্রকট হওয়া উপলক্ষে পালন করা হয়।...
spot_img

More like this

The Accordion’s 195th Patent Anniversary: Google Doodle Showcases Accordion’s Diversity

On May 23rd, 2024, Google celebrated the accordion's 195th patent anniversary with a delightful...

કબીર પ્રગટ દિવસ 2024 [Gujarati] : તિથિ, ઉત્સવ, ઘટનાઓ, ઇતિહાસ

કબીર પ્રગટ દિવસ ધરતી પર પરમાત્મા કબીર સાહેબના પ્રાગટ્ય પ્રસંગે ઉજવવામાં આવે છે. ભગવાન...

ಕಬೀರ ಪ್ರಕಟ ದಿವಸ 2024 [Kannada] : ದಿನಾಂಕ, ಆಚರಣೆ, ಘಟನೆಗಳು, ಇತಿಹಾಸ

ಕಬೀರ ಪ್ರಕಟ ದಿವಸ ಪರಮಾತ್ಮಕಬೀರ ಸಾಹೇಬರು ಪೃಥ್ವೀ ಮೇಲೆ ಪ್ರಕಟವಾಗಿರುವ ಸಂದರ್ಭದ ಮೇರೆಗೆ ಆಚರಿಸಲಾಗುತ್ತದೆ. ಭಗವಂತ ಕಬೀರ ಸಾಹೇಬರು...