ना डी.जे ना बैंड बाजा और हो गयी शादी।

राजस्थान राज्य के टोंक जिले के उनियारा में ज्योतिबा फुले छात्रावास में एक ऐसी विधि से शादी रचाई गई जिसमें ना तो बैंड बाजा था और ना ही डी.जे मात्र 17 मिनट में दो जोड़ों ने शादी रचाई,इस शादी में कबीर परमेश्वर भक्ति ट्रस्ट के द्वारा प्रोजेक्टर के माध्यम से संत रामपाल जी महाराज जी के सत्संग का भी आयोजन किया गया जिसे सुनकर आस-पास के लोगों ने भी संत रामपाल जी के उद्देश्य की सराहना की तथा प्रण लिया कि हम लोग भी नशा,दहेज आदि समाज मे फैली सारी कुरीतियों से दूर रहेंगे।
लोगों के मन में आश्चर्य की बात यह रही कि इस शादी में बिल्कुल भी कोई फिजूलखर्ची वाला कार्य नही हुआ और ना ही एक रुपया दहेज में दिया गया वधु पक्ष ने मात्र एक जोड़ी कपड़े में दुल्हन को विदा किया,संत रामपाल जी महाराज जी इस कदम से भारत सरकार द्वारा चलाया गया “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” का संकल्प पूरा हो रहा है लोग बेटी का जन्म होते ही वैसे ही खुशी मनाते हैं जैसे बेटे के जन्म पर मनाते थे संत रामपाल जी महाराज जी के इस कदम से समाज में हो रही भ्रूण हत्यायें बिल्कुल बंद हो गयी। ये शादी देखने के लिए दूर दूर से लोग आए और खूब सराहना की।