बिना बैंड बाजे के मात्र 17 मिनट में हो गए एक-दूजे के हमसफर।

राजस्थान के बारां जिले के छबड़ा नामक कस्बे में एक अनोखी शादी देखने को मिली जिसमें वर पक्ष की ओर से ना तो कोई दहेज लिया गया और ना ही कोई रस्म अदा की गई,विवाह मात्र 17 मिनट में गुरु वाणी से सम्पन्न हुआ जिसमे बेहद सादगी तरीके से दुल्हन को बैठाया गया तथा विवाह होने के पश्चात एक जोड़ी कपड़े में दुल्हन को विदा कर दिया गया।
विवाह में बताया गया कि ये शादी संत रामपाल जी द्वारा उठाये गए कदम जिसमें पूरे भारत को दहेजमुक्त बनाना है उसी के आधार पर इन दो जोड़ो की शादी यहाँ हुई है,जिसमें दूर दूर के लोगों ने आकर सत्संग का आनंद उठाया व बिना दहेज लिए हुई शादी देखी।

विवाह में सत्संग का आयोजन
इस विवाह में एक बात और बहुत ही चर्चे में रही कि इस विवाह में संत रामपाल जी महाराज जी के सत्संग प्रवचन का भी आयोजन किया गया जिसका लाभ गांव व कस्बे वालों ने भी उठाया और संत रामपाल जी द्वारा शास्त्रप्रमाणित सुनकर खूब सराहना भी की।

ऐसी शादी देख कस्बे के लोग हुए आश्चर्यचकित

आजकल के जमाने मे बिना बैंड बाजा व बिना D J किये किसी की शादी हो जाये बिना लाखों रुपये खर्च किये कोई शादी कर दे ये तो नामुमकिन था लेकिन ये गुरुवाणी से शादी जो 17 मिनट में सम्पन्न हुई इसे देखकर कस्बे वाले तो आश्चर्य में पड़ गए कि ऐसी शादी हमने पहली बार देखी है जिसमें एक भी रुपये का लेन देन न हुआ हो।

भारत ही नहीं विदेशों में भी हो रहीं दहेजरहित शादियां
क्या आपको पता है कि दहेजरहित शादियां संत रामपाल जी द्वारा बताए गए तरीके से सिर्फ भारत में ही नहीं विदेशों में भी हो रही हैं जिसमे पाकिस्तान, नेपाल आदि कुछ देश शामिल हैं।
ऐसी शादियां भारत में मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, झारखंड, बिहार,कर्नाटक, पच्छिम बंगाल आदि सभी राज्यों में हो रहीं हैं।