एलोपैथी को स्टूपिड और दिवालिया साइंस बोलने पर IMA ने की बाबा रामदेव के खिलाफ कार्रवाई की मांग, सत साधना है सबसे अचूक औषधि

spot_img

बाबा रामदेव (Baba Ramdev) का आजकल एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है जिसमें वह एलोपैथी को बेकार साइंस बता रहे हैं, बाबा रामदेव का कहना है कि एलोपैथी की दवाएं कारगर नहीं है। जिसको लेकर के अब विवाद बढ़ गया है। साथ ही जानिए सत साधना ही है एकमात्र अचूक औषधि, जिससे खत्म हो जाती है सारी परेशानियां और समस्याएं।

मुख्य बिंदु 

  • बाबा रामदेव (Baba Ramdev) का एलोपैथी के खिलाफ दिया बयान वाला वीडियो हुआ वायरल। 
  • बाबा रामदेव के इस बयान से IMA जाहिर की अपनी नाराजगी।
  • स्वास्थ्य मंत्री से की महामारी के तहत बाबा रामदेव के खिलाफ कार्रवाई की अपील।
  •  क्या है सत् साधना है और कौन सी दवा है सबसे अचूक औषधि?
  • वर्तमान में कौन है आदि योग गुरु, नाम दीक्षा देने का अधिकारी और पूर्ण संत?

बाबा रामदेव (Baba Ramdev) की एलोपैथिक साइंस को लेकर की गई विवादित टिप्पणी से उपजा विवाद

एलोपेथी साइंस को लेकर योग गुरु बाबा रामदेव का एक बयान सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है। इस वायरल वीडियो में बाबा राम देव एलोपेथी को दिवालिया साइंस कहते नजर आ रहे हैं। अब बयान को लेकर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने नाराजगी ज़ाहिर की है।

वायरल वीडियो में बाबा रामदेव (Baba Ramdev) कह रहे हैं कि एलोपैथी दवाओं को खाने से लाखों लोगों की मौतें हुई हैं। अब इस बयान पर विवाद छिड़ गया है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने तो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को चिट्ठी लिखकर रामदेव पर कार्रवाई करने की मांग की है।

वीडियो में रामदेव बोल रहे हैं-

“एलोपैथी बेकार साइंस है। पहले इनकी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन फेल हो गई, फिर रेमडेसिवीर, फिर एंटीबायोटिक्स, स्टेरॉयड सब फेल हो गए। प्लाज़्मा थेरेपी के ऊपर भी कल बैन लग गया। आइवरमेक्टिन भी फेल हो गई। बुखार के लिए फैबिफ्लू दे रहे हैं, वो भी फेल है।”

साथ ही रामदेव (Baba Ramdev) ने आगे कहा:

“लोग कह रहे हैं कि यह क्या तमाशा हो रहा है। आप बॉडी का तापमान उतार देते हो, लेकिन शरीर के अंदर उस वायरस को खत्म नहीं कर रहे हो। जिस कारण बुखार हो रहा है उसका तो निवारण तुम्हारे पास है नहीं।”

इसलिए मैं जो बात कह रहा हूं, उस पर हो सकता है कि कुछ लोग बड़ा विवाद करें। लाखों लोगों की मौत एलोपैथी की दवा खाने से हुई है। जितने लोगों की मौत हॉस्पिटल न जाने और ऑक्सीजन न मिलने से हुई है, उससे ज्यादा मौतें एलोपैथी की वजह से हुई है । स्टेरॉयड की वजह से हुई है।”

IMA ने बाबा रामदेव के इस बयान पर दी तीखी प्रतिक्रिया

कोरोना महामारी ( Covid-19) को लेकर भारत एक अभूतपूर्व स्वास्थ्य संकट का सामना कर रहा है और इससे निपटने में भारत के तमाम डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ और इस कार्य से जुड़े तमाम लोग जुटे हुए हैं। रात दिन लोगों की जान बचाने में लगे हुए हैं। भारत भर में सैकड़ों डॉक्टर कोरोना मरीजों का इलाज करते हुए अपनी जान गंवा चुके हैं। 

IMA ने स्वास्थ्य मंत्री से मांग है कि वो बाबा रामदेव (Baba Ramdev) के खिलाफ कार्रवाई करें, इस पर आईएमए ने प्रेस रिलीज़ जारी की है और उसके माध्यम से हेल्थ मिनिस्टर से बाबा रामदेव के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है।

आईएमए ने मांग उठाई है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री या तो वीडियो में लगाए गए आरोपों को स्वीकार करें और देश की आधुनिक चिकित्सा सुविधाओं को भंग करें या फिर बाबा रामदेव (Baba Ramdev) पर मुकदमा चलाकर ‘महामारी रोग अधिनियम’ के तहत मामला दर्ज करें। आईएमए ने रामदेव के खिलाफ कार्रवाई नहीं किए जाने पर कानूनी कार्रवाई करने की धमकी दी है।

कौन हैं बाबा रामदेव (Baba Ramdev) और क्या सुझाव देते हैं निरोगी रहने के लिए

  • हिंदुस्तान में कुछ लोग बाबा रामदेव को योग गुरु के नाम से जानते हैं , कईयों के लिए वह एक व्यापारी हैं तो कुछ लोगों के लिए वह संत हैं। रामदेव का कहना है कि अगर सभी लोग योग करें तो  निरोगी रहेंगे।
  • अगर बात करे एक्सरसाइज़ की तो हिंदुस्तान की 70 पर्सेंट आबादी गांव में रहती है। कृषि कार्य करती है पूरे दिन खेत में काम करने के बाद में उन्हें किसी भी एक्सरसाइज़ की जरूरत नहीं होती क्योंकि जो एक्सरसाइज़ वह करते हैं उससे ना सिर्फ उनका शरीर मज़बूत होता है बल्कि पूरे देश को पालने के लिए अन्न भी पैदा होता है।
  • शहरों की बात करे तो ज्यादातर लोग मॉर्निंग वॉक पर  जाना पसंद करते हैं या फिर अपने शरीर को फिट रखने के लिए और अच्छी बॉडी बनाने के लिए जिम में जाते हैं जहां पर बाबा रामदेव (Baba Ramdev) की किसी भी एक्सरसाइज का दूर-दूर तक कोई लेना देना नहीं है क्योंकि जिम ट्रेनर उनको मशीनों पर ट्रेनिंग देते हैं। साथ ही यदि हम बात करें बुजुर्गों की तो वह मॉर्निंग वॉक पर भी जाते हैं और थोड़ी बहुत एक्सरसाइज़ वह पहले से ही जानते हैं वह कर लेते हैं।

विवादों से पुराना नाता रहा है बाबा रामदेव (Baba Ramdev) का  

  • विवादों से पुराना नाता रखने वाले बाबा रामदेव के ऊपर कुछ लोग आरोप लगाते है कि उन्होंने अपने गुरु जी को गायब करवाया था।
  • जब कांग्रेस की सरकार थी और बाबा रामदेव जंतर मंतर पर धरना दे रहे थे तब बाबा रामदेव का कहना था कि वह जंतर मंतर से नहीं हटेंगे किंतु जब पुलिस वालों ने लाठीचार्ज किया तो एक महिला के वस्त्र धारण कर अर्थात सलवार सूट पहनकर वह महिलाओं के बीच में छुप कर निकल गए थे। 
  • तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी के ऊपर जब झूठे आरोप एक षड्यंत्र के तहत लगाए गए और उनको फंसाया गया तब भी बाबा रामदेव ने एक ऊटपटांग बयान दिया था जो संत रामपाल जी महाराज जी के प्रति उनकी दुर्भावना को स्पष्ट दर्शा रहा था ।

कैसे हुए बाबा रामदेव (Baba Ramdev) इतने प्रसिद्ध ? 

अपने आप को योग गुरु कहने वाले बाबा रामदेव (Baba Ramdev) सिर्फ एक पीटी टीचर का कार्य करते थे। क्योंकि ये गेरुआ कपड़े पहनते है, पुराने संतों जैसी वेशभूषा बना रखी है, बड़ी दाढ़ी है इसी वजह से हिंदुस्तान के लोग उन्हें एक संत समझते हैं और उनके द्वारा बनाए हुए प्रोडक्ट्स (स्वदेशी छाप वाले जबकि लैब टैस्ट में अधिकतर उत्पादों के सैंपल फैल हो चुके हैं) को खरीदना ज़्यादा अच्छा मानते हैं । पहले बाबा रामदेव ने भारत स्वाभिमान आंदोलन करके भारत के लोगों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया जिसकी वजह से भारत के लोगों ने अन्य कंपनियों के प्रोडक्ट खरीदना कम कर दिया। 

योग से नहीं मानव कल्याण आध्यात्मिक ज्ञान से होता है

तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी ने जब विश्व के सभी धर्म गुरुओं को ज्ञान चर्चा के लिए आमंत्रित किया था तब बाबा रामदेव की कोई भी प्रतिक्रिया नहीं आई क्योंकि बाबा रामदेव को कोई आध्यात्मिक ज्ञान नहीं है। अगर होता तो आध्यात्मिक ज्ञान चर्चा करने ज़रूर आते ।

क्या है सत् साधना और कौन सी दवा है सबसे अचूक औषधि 

अपने मनमाने आचरण को न करते हुए शास्त्रों के अनुसार जैसे कि पवित्र चारों वेद, पवित्र श्रीमद्भगवद्गीता, पवित्र कुरान शरीफ व पवित्र बाइबल के अनुसार भक्ति करना ही सत साधना कहलाती है। इसके लिए आपको तत्वदर्शी बाखबर परम संत से नाम दीक्षा लेकर ही भक्ति करनी चाहिए क्योंकि ऐसा ही हमारे सभी सदग्रंथ बताते हैं।

सतनाम है अचूक औषधि

सतनाम रुपी औषधि ही सबसे अचूक औषधि है। गुरु नानक देव जी व अन्य सभी संतों ने सतनाम को अनमोल औषधि बताया है जो वर्तमान के सभी कष्टों को खत्म करने के साथ-साथ जीवन और मरण के चक्कर से मुक्ति दिलाने का सामर्थ्य भी रखती है। उस औषधि को प्राप्त करके हम मोक्ष प्राप्त कर सकते हैं जो वर्तमान में तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी द्वारा नि:शुल्क प्रदान की जा रहा है ।

सतनाम मंत्र की महिमा में पूर्ण परमेश्वर कबीर साहिब जी ने कहा है ,

जब ही सत्यनाम हृदय धरयो, भयो पाप को नाश |

मानो चिंगारी अग्नि की, पड़ी पुराने घास ||

 अर्थात परम संत अधिकारी संत से सतनाम प्राप्त करने के बाद आपके पाप कर्म दंड, सभी बीमारियां, परेशानियां, सभी रोग पल में खत्म हो जाते हैं और नियम मर्यादा में रहकर भक्ति करते रहने पर मोक्ष भी प्राप्त होता है।

कौन है आदि योग गुरु ? 

कुछ लोग भगवान शिव जी को आदि योग गुरु मानते हैं क्योंकि हमें टेलीविजन धारावाहिकों और फिल्मों के माध्यम से झूठ दिखाया गया है। लोगो को पता है कि भगवान शिव जी ज्यादातर तपस्या में लीन रहते हैं किंतु तत्वज्ञान ना हो पाने के कारण हम यह नहीं जानते कि भगवान शिव जी किस की साधना करते हैं। तत्वज्ञान से हमें पता चलता है कि भगवान शिव जी पूर्ण परमेश्वर कबीर साहिब जी द्वारा दिए गए एक गुप्त मंत्र का जाप करते हैं। आदि योग गुरु परमेश्वर कबीर साहिब जी स्वयं ही हैं क्योंकि कबीर साहेब जी ही स्वयं को पाने का योग, भक्ति विधि बताते हैं ।

वर्तमान में कौन हैं आदि योग गुरु, नाम दीक्षा देने का अधिकारी और पूर्ण संत? 

सभी भविष्यवक्ताओं, संतों और स्वयं कबीर परमेश्वर जी  द्वारा दिए गए सूक्ष्म ज्ञान  (कबीर सागर) के अनुसार वह आदि योग गुरु, जगत के उद्धारक संत कोई और नहीं तत्वदर्शी, बाखबर, विश्व विजेता, जगतगुरु संत रामपाल जी महाराज हैं। उन्होंने विश्व के सभी धर्म गुरुओं को, सभी संतों- महंतों, आचार्य, शंकराचार्य, काजी, मुल्ला, पीर, फकीर, फादर इत्यादि सभी को आध्यात्मिक ज्ञान चर्चा में पहले ही हरा दिया है। किसी भी धार्मिक गुरु के पास बोलने के लिए एक शब्द नहीं है। संत रामपाल जी महाराज जी ने ही पवित्र धर्मों के पवित्र सदग्रंथों का सच्चा ज्ञान समाज के सामने रख दिया है और उन्होंने प्रमाणित किया है कि पूर्ण परमेश्वर साकार है, उसका नाम कबीरदेव है अर्थात कबीर साहेब है जिनको हम अन्य सभी ग्रंथों में अन्य नामों से भी जानते हैं जैसे कि पवित्र कुरान शरीफ में अल्लाह हू कबीर, कबीर, कबीरन्, खबीरन, पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब में, हक्का कबीर, पवित्र बाइबल में अल कबीर और पवित्र चारों वेदों में कबीर देव। इस प्रमाणित ज्ञान से यह सिद्ध होता है की वर्तमान में एकमात्र संत रामपाल जी महाराज पूर्ण गुरु और सच्चे संत हैं जिन्होंने हमें यह गुप्त ज्ञान तत्वज्ञान बताया है।

सुखी जीवन और निरोगी काया पाने के महत्वाकांक्षी पृथ्वी के सभी भाई बहनों से प्रार्थना है कि संत रामपाल जी महाराज जी के ज्ञान को समझें उनकी पुस्तक ज्ञान गंगा के माध्यम से। संत रामपाल जी से नाम दीक्षा लेकर भक्ति करके हमेशा हमेशा के लिए अपनी समस्याओं और जानलेवा बीमारियों के प्रकोप से समाधान पाएं और मोक्ष को प्राप्त करें।

Latest articles

Guru Purnima 2024: Know about the Guru Who is no Less Than the God

Last Updated on18 July 2024 IST| Guru Purnima (Poornima) is the day to celebrate...

Rajasthan BSTC Pre DElED Results 2024 Declared: जारी हुए राजस्थान बीएसटीसी प्री डीएलएड परीक्षा के परिणाम, उम्मीदवार ऐसे करें चेक

राजस्थान बीएसटीसी परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे छात्रों के लिए एक अच्छी खबर...

Indore Breaks Guinness World Record of Plantation: Significant Contribution from Sant Rampal Ji 

Indore, Madhya Pradesh, achieved a Guinness World Record on July 14, 2024. It was...

Muharram 2024: Can Celebrating Muharram Really Free Us From Our Sins?

Last Updated on 15 July 2024 IST | Muharram 2024: Muharram is one of...
spot_img

More like this

Guru Purnima 2024: Know about the Guru Who is no Less Than the God

Last Updated on18 July 2024 IST| Guru Purnima (Poornima) is the day to celebrate...

Rajasthan BSTC Pre DElED Results 2024 Declared: जारी हुए राजस्थान बीएसटीसी प्री डीएलएड परीक्षा के परिणाम, उम्मीदवार ऐसे करें चेक

राजस्थान बीएसटीसी परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे छात्रों के लिए एक अच्छी खबर...

Indore Breaks Guinness World Record of Plantation: Significant Contribution from Sant Rampal Ji 

Indore, Madhya Pradesh, achieved a Guinness World Record on July 14, 2024. It was...