मशहूर आलराउंडर क्रिकेटर युवराज सिंह ने किसान आंदोलन के चलते नहीं मनाया अपना जन्मदिन। भारत के स्टार बल्लेबाज़ रहे युवराज सिंह 12 दिसंबर, 1981 को चंडीगढ़ में जन्मे। यह उनका 39 वां जन्मदिन था।

आइए जानते हैं युवराज सिंह के पिता के गैर जिम्मेदाराना बयान के बारे में

  • युवराज सिंह भारतीय पूर्व क्रिकेटर हैं जिन्होंने खेल के सभी प्रारूपों में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेला है। युवराज सिंह पूर्व भारतीय तेज़ गेंदबाज और पंजाबी अभिनेता योगराज सिंह के बेटे हैं।
  • युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह की गिरफ्तारी की मांग तेज हो रही है । युवराज सिंह ने कहा कि वे अपने पिता योगराज सिंह के बयान से बेहद आहत और परेशान हैं।
  • युवराज सिंह ने सरकार से अपील कि है की वे किसानों की मांगें पूरी करें और बातचीत से हल निकालें।
  • युवराज सिंह ने कोरोना को हल्के में ना लेने और लोगों को सावधानी बरतने के लिए की अपील है।
  • युवराज को तत्वज्ञान और सतभक्ति के अभाव में हुई थी असाध्य बीमारी ( कैंसर) ।
  • अंत में पढ़िए तत्वज्ञान और शास्त्र अनुकूल साधना क्या है? वर्तमान समय में कौन है परम संत ?

किसान आंदोलन के संदर्भ में युवराज सिंह का बयान

युवराज सिंह ने कहा कि मेरे पिताजी के द्वारा दिए बयान से मैं उसे बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं। इस बात को उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करके स्पष्ट किया। युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह ने किसान कानून बिल के विरोध में हुई एक रैली में कुछ हिंदू विरोधी बातें कहीं जिसकी वजह से योगराज सिंह और युवराज सिंह को सोशल मीडिया पर बहुत ही ज़्यादा ट्रोल किया गया।

युवराज ने कहा किसानों को खुश रखना देश की और सरकार की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए, साथ ही सरकार से अपील की है कि वे जल्द से जल्द किसानों की मांगों को पूरा करें। सरकार द्वारा लाए गए किसान कानून बिल के विरोध में हरियाणा और पंजाब के किसान पिछले अठारह दिनों से दिल्ली के विभिन्न बार्डरों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं युवराज सिंह ने उसी संदर्भ में यह सब कहा। युवराज सिंह ने कहा कि ऐसा कोई भी काम नहीं है जिसे बातचीत से हल न किया जा सके किसानों का इस तरह सड़कों पर रहना ठीक नहीं है और यह दुखद है।

क्यों की जा रही है युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह की गिरफ्तारी की मांग?

किसान आंदोलन की एक रैली में गुजरातियों और हिंदुओं के बारे में गलत बयानबाजी देकर फंसे योगराज सिंह की गिरफ्तारी की मांग तेज हो गई है, आम जनता का मानना है कि योगराज सिंह की गिरफ्तारी होनी चाहिए इस तरीके की बयानबाज़ी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

धुरंधर बल्लेबाज रहे हैं युवराज सिंह

भारत के धुरंधर बल्लेबाज युवराज सिंह (युवी, सिक्सर किंग) का जन्म 12 दिसंबर 1981 को चंडीगढ़,भारत के एक सिख परिवार में हुआ। इनके पिता जी का नाम योगराज सिंह और माता जी का नाम शबनम सिंह है तथा भाई ज़ोरावर सिंह है। युवराज सिंह की शादी 2016 में हेज़ल कीच से हुई। युवराज सिंह को लोग, युवराज सिंह, यूवी, सिक्सर किंग इत्यादि नामों से जानते हैं।
युवराज सिंह को कैंसर की वजह से अपने इलाज के लिए क्रिकेट से दूर रहना पड़ा बाद में उन्होंने काफी प्रयत्न किया लेकिन वह टीम में जगह नहीं बना पाए। भारतीय इंटरनेशनल क्रिकेट का हिस्सा रहे युवराज सिंह बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं, 2019 में हुए वर्ल्ड कप में जगह ना मिल पाने के कारण उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया, युवराज सिंह, कुछ समय पहले कनाडा ग्लोबल T20 का हिस्सा रह चुके हैं और अब ऑस्ट्रेलियाई बिग बेस लीग की तैयारी में हैं।

तत्वज्ञान और शास्त्र आधारित भक्ति क्या है?

सभी धर्मों के सदग्रंथ जैसे कि पवित्र चारों वेद, श्रीमद्भगवद्गीता, पवित्र कुरान शरीफ, पवित्र गुरूग्रंथ साहेब, पवित्र बाइबल का जो मूल ज्ञान है उसी को तत्वज्ञान कहा जाता है। सभी ग्रंथों में यह प्रमाण है कि कबीर साहेब ही भगवान हैं, पूर्ण परमेश्वर हैं और कबीर परमेश्वर की साधना करने के लिए आपको तत्वदर्शी संत की खोज करनी चाहिए और जो तत्वदर्शी संत साधना बताते हैं उसे शास्त्र अनुकूल साधना कहा जाता है।

वर्तमान समय में कौन है परमसंत ?

वर्तमान समय में पूरी पृथ्वी पर एकमात्र जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज ही तत्वज्ञान और शास्त्र अनुकूल साधना देकर मनुष्यों का मोक्ष करा रहे हैं। विश्व विजेता संत रामपाल जी महाराज जी से जो भी नाम दीक्षा लेता है उसको अनेकों शारीरिक व आध्यात्मिक लाभ, मानसिक शांति प्राप्त होती है।