Punjabi Singer Diljaan Death [Hindi]

Punjabi Singer Diljaan Death: मशहूर पंजाबी गायक दिलजान की सड़क हादसे में मृत्यु : सतभक्ति से रह गए वंचित

Hindi News
Share to the World

Punjabi Singer Diljaan Death: मशहूर पंजाबी गायक दिलजान की मंगलवार सुबह 03:45 पर सड़क हादसे में 31 वर्ष की आयु में मृत्यु हो गयी। तत्वदर्शी संत द्वारा दी गयी सतभक्ति से नहीं होती है अकस्मात मृत्यु, क्योंकि पूर्ण परमात्मा कविर्देव जी साधक की रक्षा करते हैं।

मशहूर गायक दिलजान जी (Punjabi Singer Diljaan) से संबंधित कुछ खास बातें

  • देश के दिलों की धड़कन आज थम गई संगीत ने खोया एक गायक
  • 2 अप्रैल को रिलीज होने वाला था नया गाना
  • फैन्स और सितारे दे रहे हैं श्रद्धांजलि
  • छोटी सी उम्र में संगीत की दुनिया को कहा अलविदा
  •  सही वक्त पर सतभक्ति की होती तो नहीं होती अकस्मात मृत्यु
  • पूर्ण परमात्मा कविर्देव जी सबके रक्षक हैं
  • वास्तव में नाचना और गाना हमारे लिए है नुकसानदायक

Punjabi Singer Diljaan Death: पंजाबी गायक दिलजान की मंगलवार की सुबह कार दुर्घटना में हुई मृत्यु

पंजाबी गीतों के चर्चित गायक दिलजान की कार दुर्घटना सड़क हादसे में मंगलवार की सुबह 03:45 पर मृत्यु हो गयी। बताया गया है कि दिलजान जी अपनी गाड़ी से अमृतसर से करतारपुर जा रहे थे, तभी रास्ते में जंडियाला गुरु के पास उनकी कार तेज रफ्तार के कारण अनियंत्रित होकर एक डिवाइडर से टकरा गई। जिससे उन्हें गंभीर चोटें आईं और रास्ते से निकल रहे लोग उन्हें अस्पताल ले जा रहा थे तभी उनकी 31 वर्ष की अल्पायु में ही मृत्यु हो गयी।

कौन थे दिलजान (Punjabi Singer Diljaan)?

पंजाब के गायकों में शुमार दिलजान का जन्म करतारपुर (नजदीक जालंधर) में एक मध्य वर्गीय परिवार में हुआ था। दिलजान को संगीत उस्ताद सलीम के पिता उस्ताद पूर्ण शाहकोटी ने सिखाया। वे रियलिटी शो ‘आवाज पंजाब दी’ में भी भाग ले चुके थे। पटियाला घराने से जुड़े दिलजान पाकिस्तानी रियलिटी शो ‘सुर क्षेत्र’ में भी प्रतिभागी रह चुके हैं। वह इस प्रतियोगिता के ओवरऑल रनर अप थे। इसके अलावा उन्होंने अवाज पिंड दी में भी हिस्सा लिया था। इन शोज से उन्हें खूब शोहरत हासिल हुई थी। दिलजान अपनी गायकी के जरिए फैंस के बीच चर्चित थे।

दिलजान जी की आवाज सुन आशा भोंसले जी के भी छलक आये थे आंसू

सुरक्षेत्र प्रतियोगिता में ही मशहूर पंजाबी गायक दिलजान के गीत को सुनकर प्रसिद्ध गायिका आशा भोंसले जी की आंखों से भी आंसू निकल आए थे।

Also Read: Remained Untouched From the Prime Motive of Human Life, Punjabi Singer Sardool Sikander Passed Away at 60

दिलजान जी चर्चा का विषय कैसे बने?

दिलजान की बात करें तो उनके गीत काफी प्रसिद्ध रहे हैं। दिलजान संगीत की दुनिया में एक उभरते हुए सितारे थे। दिलजान की फैंस के बीच अच्छी फैन फॉलोइंग थी। दिलजान ने कई गीत (गाने) गाए हैं जिसमे से कई गीत काफी चर्चा में रहे  हैं ।

पूर्ण परमात्मा कविर्देव जी अकाल मृत्यु को भी टाल देते हैं

दिलजान ने समय रहते वर्तमान समय में उपस्थित पूर्ण संत रामपाल जी महाराज से सतभक्ति प्राप्त कर ली होती तो दिलजान की अकस्मात दुर्घटनावश मृत्यु न होती, क्योंकि वेदों में प्रमाण है कि पूर्ण परमात्मा कविर्देव जी अपने साधक की सभी दुखों से रक्षा करते हैं।

गरीब, जम जौरा जासे डरें, मिटें कर्म के अंक।

कागज कीरें दरगह दई, चौदह कोट न चंप।।

ऋग्वेद मंडल 10 सूक्त 161 मंत्र 2 में तथा मंडल 9 सूक्त 80 मंत्र 2 में लिखा है कि यदि किसी व्यक्ति (साधक) की आयु समाप्त हो चुकी हो अर्थात उसकी (साधक की) आयु शेष न रही हो तो उसके (साधक के) प्राणों की रक्षा स्वयं पूर्ण परमात्मा कविर्देव जी करते हैं तथा उसे (साधक को) 100 वर्ष की आयु प्रदान करके अर्थात उसकी (साधक की) आयु बढ़ाकर सर्व सुख प्रदान करते हैं।

गरीब, जम जौरा जासै डरै, मिटें कर्म के लेख।

अदली अदल कबीर हैं, कुल के सतगुरु एक।।

पाठकों से निवेदन है कि दिलजान जी ने तो देर कर दी परंतु आप न करें

दिलजान ने तो देर कर दी औऱ उसका परिणाम उन्हें अपने प्राणों की आहुति देकर उठाना पड़ा। पाठकों से निवेदन है कि सर्व प्रकार के दुःखों से मुक्ति पाने के लिए बिना समय गवाएँ पूर्ण सन्त रामपाल जी महाराज जी से आज निःशुल्क नाम दीक्षा प्राप्त करें व अपने जीवन को सुखमय बनाएं।

सतगुरु दाता हैं कलि माहिं, प्राण उधारण उतरे साईं।

सतगुरु दाता दीन दयालं, जम किंकर के तोड़ें जालं।।

अधिक जानकारी के लिए सतलोक आश्रम यूट्यूब चैनल विजिट करें।


Share to the World

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 + thirteen =