PUBG Mobile India: PLAYER UNKNOWN BATTLE GROUNDS (#PUBG) और दक्षिण कोरिया के KRAFTON, Inc. की सहायक कंपनी ने 20 नवंबर,2020 को यह घोषणा की कि वह PUBG मोबाइल इंडिया को लॉन्च करने की तैयारी कर रही है, जो कि भारतीय बाज़ार के लिए विशेष रूप से बनाया गया एक नया गेम है।‌ PUBG ने अभी इस गेम की लॉन्च डेट या रजिस्ट्रेशन की आधिकारिक घोषणा नहीं की है। (PUBG Mobile Unban in india) को लेकर अभी भारत सरकार के आधिकारिक रुख की भी जानकारी सामने नहीं आई है। माना जा रहा है कि इसी के चलते PUBG कॉर्पोरेशन अभी कोई ऑफिशियल अनाउंसमेंट नहीं कर रहा है।

Contents hide

PUBG की भारत में दुबारा वापसी हो रही है

PUBG Mobile India की दोबारा शुरूआत की घोषणा कर दी गई है। हांलाकि इसे खेलने वाले अभी भी इसके शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं। PUBG पर सितंबर में भारत में बैन लगने के बाद अब PUBG Corporation दोबारा बैटल रॉयल गेम को देश में वापस लाने की पूरी तरह तैयारी में है।

सितंबर 2020 में भारत सरकार ने लगा दिया था प्रतिबंध

केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए 2 सितंबर को देश में PUBG Mobile के साथ-साथ 118 चाइनीज मोबाइल ऐप्‍स पर रोक लगा दी गई थी। इन ऐप्स पर रोक लगाने के पीछे का मुख्य कारण यह था कि सरकार को ऐसी रिपोर्ट मिली थी कि ऐंड्रॉयड और iOS प्लेटफॉर्म पर उपलब्‍ध ये मोबाइल ऐप यूजर्स का डाटा चोरी कर रहे हैं और यह डाटा देश से बाहर स्थित सर्वर पर अवैध रूप से पहुंचा रहे हैं।

PUBG Mobile India की गोपनीयता

PUBG के अधिकार रखने वाली दक्षिण कोरिया की KRAFTON Inc ने घोषणा की कि वह सुरक्षा और गोपनीयता संबंधी चिंताओं को कम करने के लिए एक नया गेम PUBG मोबाइल इंडिया बनाने जा रही है। पिछले हफ्ते, KRAFTON ने Azure पर गेम को होस्ट करने के लिए Microsoft के साथ एक वैश्विक समझौते पर हस्ताक्षर भी किए।

PUBG Corporation के लिए भारतीय खिलाड़ी डाटा (data) की गोपनीयता और सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता है, कंपनी सुरक्षा को सुदृढ़ करने के लिए भारतीय उपयोगकर्ताओं की व्यक्तिगत पहचान रखने वाली भंडारण प्रणालियों पर नियमित ऑडिट और सत्यापन करेगी और यह सुनिश्चित करेगी कि उनका डेटा सुरक्षित रूप से प्रबंधित हो।

निको पार्टनर्स के विश्लेषक डैनियल अहमद ने कहा कि PUBG अपनी पिछली स्थिति तक पहुंचने की कोशिश करेगा, जिसने नियामकों को संतुष्ट करते हुए इसे देश में सबसे अधिक कमाई वाला खेल बना दिया।

PUBG Mobile India के बारे मे कुछ बातें

  • अभी गेम लॉन्च की कोई निर्धारित तिथि तय नहीं की गई है, लेकिन PUBG की भारत में दुबारा वापसी एक नए नाम के साथ हो सकती है।
  • PUBG Mobile India में ट्रांसफर हो सकती है पुरानी Player ID के साथ।
  • डेवलपर्स की पुष्टि के मुताबिक PUBG Mobile India गेम के ग्लोबल वर्जन से अलग होगा।
  • रिपोर्ट में डेवलपर्स ने कहा है कि 10 साल बैन की स्थिति में PUBG Mobile के प्लेयर्स की आईडी को इंडियन वर्जन में माइग्रेट नहीं किया जा सकेगा।
  • ऐसा कहा जा रहा है की PUBG Mobile India का प्री – रजिस्ट्रेशन शुरू होगा। साथ ही इसकी वेबसाइट लॉन्च /टीज़र भी जारी हो चुका है।
  • PUBG मोबाइल भारत में शीर्ष डाउनलोड किए गए खेलों में से एक था, जिसमें 50 मिलियन से अधिक मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता थे।
  • PUBG Mobile India की थीम काफी हद तक ग्लोबल वर्जन की तरह ही होगी।
  • हम युगों-युगों से जन्म-मरण के चक्रव्यूह में फंसे हुए हैं। हमें जीवन रूपी मैदान इस चक्रव्यूह को समझ कर तोड़ने के‌ लिए मिला है।
  • केवल शास्त्रानुकूल भक्ति विधि ही कर सकती है जन्म- मरण जैसे खेल का अंत।
  • वर्तमान समय में जन्म -मरण के खेल को जीत कर पूर्ण मुक्ति तत्त्वदर्शी संत की शरण में जाने और उनके द्वारा बताई भक्ति- साधना करने से ही मिलेगी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक प्लेयर्स को शुरुआत से शुरू नहीं करना पड़ेगा

डेवलपर्स के अनुसार PUBG मोबाइल इंडिया ,गेम के ग्लोबल वर्जन से अलग होगा। प्लेयर ID (PUBG Mobile player ID) को बरकरार रखा जाएगा। इसके डेवलपर्स ने कहा है कि प्लेयर आईडी को पबजी मोबाइल के ग्लोबल वर्जन से इंडियन वर्जन में ट्रांसफर किया जा सकेगा।

इस जानकारी के मुताबिक संकेत मिलते हैं कि PUBG Mobile India के प्लेयर्स को शुरुआत से शुरू नहीं करना पड़ेगा। जिसका मतलब यह है कि प्लेयर्स अपने पुराने रिवॉर्ड, अचीवमेंट्स, फ्रेम्स, पबजी मोबाइल इंडिया यूसी, टियर रिसेट्स, स्किन्स और 2-2 रिनेम कार्ड्स जैसे अपने पुराने रिवॉर्ड्स को इंडियन वर्जन में भी पा सकेंगे।

आईडी बैन की स्थिति में माइग्रेट नहीं किया जा सकेगा

डेवलपर्स के अनुसार 10 साल बैन की स्थिति में PUBG Mobile के प्लेयर्स की आईडी को इंडियन वर्जन में माइग्रेट नहीं किया जा सकेगा। ऐसा होने पर प्लेयर्स को नई आईडी बनानी होगी और गेम को शुरुआत से शुरू करना होगा । अभी भी न्यू वर्जन पूरी तरह बन नहीं पाया है।

PUBG Mobile India गेम में किए गए हैं सुधार

गेम को विशेष रूप से इंडियन मार्केट के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह नया गेम इंडियन-स्पेसिफिक फीचर्स के साथ आएगा, जिनमें कोई खून-खराबा नहीं होगा और केरेक्टर पूरे कपड़े पहने हुए होंगे साथ ही अन्य बदलाव भी शामिल किए गए हैं। ऐसा दावा किया जा रहा है कि इसका प्लेयर्स पर कोई गलत प्रभाव नहीं पड़ेगा।

PUBG Mobile India की वेबसाइट और टीज़र लॉन्च अपडेट

PUBG कार्पोरेशन ने PUBG Mobile India की नई वेबसाइट (PUBG Mobile India Website) लॉन्च कर दी है । वेबसाइट पर PUBG Mobile India के फेसबुक व इंस्टाग्राम पेज और यूट्यूब चैनल के लिंक दिए गए हैं। कंपनी ने इस गेम का टीज़र भी जारी कर रही है। टीज़र में फेमस PUBG Mobile पर्सनैलिटी दिखाए गए हैं।

क्या है PUBG Game?

पब्जी मोबाइल एक तरह का वर्चुअल वीडियो गेम है जिसे मोबाइल और कंप्यूटर पर खेला जाता है। इसका पूरा नाम Player Unknowns Battle Grounds है। यह एक बैटलग्राउंड वाला वीडियो गेम है जहां सौ खिलाड़ी खेल को खेलते हैं और अंत में एक विजेता घोषित होता है। इस गेम को चलाने वाली कंपनी का नाम Tancent Company है और Pubg mobile को बनाने वाले का नाम है Branden Greene जो कि आयरलैंड के रहने वाले हैं।

PUBG Mobile India हिंसा को दे रहा है बढ़ावा

यह एक ऑनलाइन गेम है जिसे खेलने वाले बड़ी जल्दी इसके आदी बन जाते हैं और उसके बाद उनके व्यवहार में बदलाव होने लगता है जिससे कई तरह की मानसिक समस्याएं पैदा हो सकती हैं। प्लेयर अननोन बैटलग्राउंड या PUBG, इस वक्त दुनिया का सबसे फेमस ऑनलाइन मल्टीप्लेयर गेम बन गया है और यह युवाओं के बीच तेजी से पॉप्युलर हो रहा है। इस गेम का एक ही उद्देश्य है मारो और लूटो। बच्चों और युवाओं के बीच इस ऑनलाइन गेम का क्रेज़ इस कदर बढ़ गया है कि इसे खेलने वालों में इस गेम की ऐसी लत लग जाती है कि उनका मानसिक और शारीरिक विकास प्रभावित होने लगता है।

PUBG की लत खतरनाक होने के साथ दे रही है कई मानसिक बीमारियों को जन्म

इस खेल की ऐसी लत बन जाती है जिसे खेलने वाले को हो रहे मानसिक बदलावों की तरफ ध्यान नहीं जाता।
PUBG गेम दुनियाभर के कई प्लेयर्स के साथ खेला जाता है और सबके टाइम ज़ोन अलग-अलग होते हैं जिस वजह से भारत में इस गेम को खेलने वाले ज़्यादातर लोग इसे रात में 3-4 बजे तक जगकर खेलते हैं जिस वजह से उन्हें सिर्फ नींद ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य से जुड़ी दूसरी कई समस्याएं भी शुरू हो जाती हैं।

नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरो साइंस NIMHANS में 120 से ज़्यादा मामले रिपोर्ट किए गए हैं, जिनमें बच्चों के मेंटल हेल्थ पर PUBG गेम का विपरीत प्रभाव देखा गया। PUBG गेम सिर्फ बच्चों तक की सीमित नहीं है बल्कि 6 साल के बच्चे से लेकर 30-32 साल के युवाओं तक में इस गेम को लेकर ज़बरदस्त क्रेज़ है।

PUBG मोबाइल गेम की वजह से होने वाले मानसिक बदलाव

  • नींद की कमी या नींद से जुड़ी परेशानियां
  • ज़रूरत से ज्यादा गुस्सा आना
  • एंजाइटी की समस्या
  • पढ़ाई या अन्य कामों में ध्यान न लगा पाना
  • युवाओं में व्यवहार संबंधी परेशानियां आना
  • नींद पूरी न होने से ब्लड प्रेशर और मधुमेह का खतरा
  • एकाग्रता की कमी और कमज़ोर याददाश्त
  • गेम में हिंसा दिखाई जाती है और हथियारों का इस्तेमाल होता है जिससे बच्चों के स्वभाव में चिड़चिड़ापन और हिंसा बढ़ रही है।

क्या आपको याद है कि कुछ समय पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बच्चों, अभिभावकों और शिक्षकों से ‘परीक्षा पे चर्चा’ के दौरान पबजी का उल्लेख किया था। जब एक मां ने कहा था कि बच्चा पढ़ाई नहीं करता तो पीएम मोदी ने पूछा था कि ‘क्या बच्चा पबजी वाला है?’

अब यह तय आपको करना है कि मानसिक विनाश चाहिए या आत्मशांति और उन्नति। भले ही गेम नए नाम , सुधार और टीज़र के साथ आए परंतु उसका उद्देश्य यही है कि लोगों को मनोरंजन के नाम पर कैसे उलझाए रखना है।

इंसान उलझा हुआ है जन्म मरण के खेल में

मानव जन्म बार बार नहीं मिलता है। इसका मुख्य कार्य है परमात्मा की सद्भक्ति करना और मोक्ष पा कर जन्म मरण के चक्कर रूपी खेल से मुक्त होना । इस नाशवान संसार में धन ,दौलत ,पद ,इज्ज़त पाकर इंसान समझता है सब कुछ पा लिया। क्या कोई वीडियो गेम जीतकर या गोल्ड मैडल पाकर अपने ही शरीर का रोग खत्म कर सकता है? नहीं! हम युगों – युगों से 84 लाख योनियों में भटक रहे हैं , इस जन्म मरण के खेल ने हमें उलझा रखा है। यदि हम इस जन्म मरण के खेल से मुक्ति पा लें तब मानना कि सब कुछ जीत गए।

जो जीता वो सिकंदर जो हार जाएगा वह बनेगा बंदर

यहां के काल्पनिक टेक्नोलॉजी सशक्त विडियो गेम और मनोरंजन हमारा जीवन कल्याण नहीं कर सकते। न ही यह हमें अनमोल मनुष्य जीवन का उद्देश्य ही समझा सकते हैं। यह तो हमें परमात्मा की भक्ति से कोसों दूर कर देते हैं। यह खेल जीवन संवार नहीं रहे बल्कि ध्वस्त कर रहे हैं। आपके पास यदि आधुनिक फोन है तो इसका मतलब यह कतई नहीं है कि वह केवल फिल्म, वीडियो गेम्स, गीत संगीत और मनोरंजन के लिए ही उपयोगी होगा। उसका उपयोग तो आपको आत्म उत्थान के‌ लिए करना चाहिए। हमें पूर्ण परमात्मा की सद्भक्ति करनी चाहिए।

फोन में सत्संग डाउनलोड कीजिए और जानिए कि सत्संग सुनना क्यों ज़रूरी है?

यदि हम अपने समय को मोबाइल गेम्स खेलने, कार्टून-फिल्मस देखने और म्यूज़िक सुनने जैसे दोयम दर्जे के मनोरंजन करने के लिए ही इस्तेमाल करते हैं और इनमें ही समय बर्बाद करते हुए मृत्यु को प्राप्त हो जाते हैं तो परमात्मा के विधान के अनुसार हमें अगला जन्म पशु का मिलता है क्योंकि बिना सतभक्ति के जीवन व्यर्थ चला जाता है और मनुष्य को चौरासी लाख योनियों में कष्ट उठाने पड़ते हैं। जिसके कारण इस जन्म में भी दुखी और अगले जन्म में भी दुखी होना पड़ता है।

इसलिए समझदार को संकेत ही काफी है। मोबाइल फोन आज एक ऐसी वस्तु बन गई है जो बच्चे से लेकर वृद्ध सभी इस्तेमाल करते हैं और हमेशा पास में भी रखते हैं। मोबाइल फोन में जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी के सत्संग डाउनलोड कीजिए जिससे आपको यह ज्ञान होगा कि परमात्मा कौन है? हम कौन हैं और कहां से आए हैं? मानव होने का उद्देश्य क्या है और यह कैसे पूरा होगा? सत्संग में संत क्या शिक्षा देते हैं और जिसे सुनकर हम कैसे लाभान्वित हो पाएंगे?

जन्म-मरण खेल से जीत केवल तत्त्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज ही दिला सकते हैं

जन्म मरण एक बहुत बड़ा जाल है जिसके चक्कर में हम फँसे पड़े हैं। कबीर साहेब जी कहते हैं:-

अच्छे दिन पीछे गए, गुरु से किया न हेत ।
अब पछताए क्या करे, जब चिड़िया चुग गई खेत ।।

भावार्थ है :- कबीर साहेब जी मानव को समझा रहे हैं कि यदि समय रहते मनुष्य सद्भक्ति नहीं करता है फिर अंत में पछताने के अलावा कुछ नहीं मिलता। इसलिए सच्चे सद्गुरु की शरण में जाकर जन्म – मरण के खेल को समझ कर इससे जीत प्राप्त करना ही मुख्य कार्य है।

वर्तमान में तत्वज्ञान केवल पूर्ण संत रामपाल जी महाराज जी ही प्रदान कर रहे हैं । पूरे विश्व में वही केवल तत्वज्ञानी संत हैं जिसका प्रमाण श्रीमद्भागवत गीता जी अध्याय 15:1से 4 व 16 और 17 में है।

आध्यात्मिक ज्ञान के अनुसार हम इस तरह के काल्पनिक खेलों (Games) और काल्पनिक कार्टून युक्त वीडियो को देखकर अपना अमूल्य समय और‌ जीवन दोनों को बर्बाद कर रहे हैं । यह समय नकली, निष्क्रिय खेल खेलकर खोने और बर्बाद करने का नहीं बल्कि बचे हुए जीवन को समय रहते संभालने का है। तो आज ही अपने मोबाइल फोन में संत रामपाल जी के सत्संग डाउनलोड करें