Haryana, Bhuna News [Hindi] | भारी बारिश के चलते भूना शहर में बाढ़, 1500 परिवारों ने घर छोड़ा, संत रामपाल जी बने लोगों के सहायक

spot_img
spot_img

Haryana News [Hindi] | फतेहाबाद के भूना शहर में बीते दिनों हुई भारी बारिश से हालात बिगड़ गए हैं। बाढ़ में भूना शहर में की आधी आबादी के सामने रहने-खाने की समस्या बनी हुई है। इसी समस्या के चलते 1500 परिवारों ने घर छोड़ दिया है। बाढ़ की स्थिति में संत रामपाल जी लोगों के सहायक बने हैं।

Haryana News [Hindi] : मुख्य बिंदु

  • हरियाणा के फतेहाबाद के भूना शहर में हुई भारी बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं।
  • कुदरत की आफत के सामने बेवश हुए लोग।
  • भूना शहर की 30 हजार आबादी जिंदगी के लिए जद्दोजहद कर रही है।
  • बाढ़ के चलते 1500 परिवारों ने अपना घर छोड़ा।
  • कुदरत की आफत के सामने जिला प्रशासन के राहत के प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं।
  • बाढ़ के इस संकट में संत रामपाल जी के अनुयाई लोगों तक भोजन आदि की पहुंचा रहे मदद।

फतेहाबाद के भूना में बाढ़ जैसे हालात

भूना शहर की कुल आबादी करीब 60 हजार है। फतेहाबाद में चार दिन लगातार हुई भारी बारिश के कारण सबसे अधिक भयावह हालात भूना में बने हुए हैं। भूना की आधी से ज्यादा आबादी बाढ़ की चपेट में है। जलभराव के संकट के बीच भूनावासियों को खाने-पीने की चीजों के लिए मशक्कत करनी पड़ रही है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में बिजली नहीं आने के कारण भी लोग काफी परेशान हैं। जिससे 1500 परिवारों ने घर छोड़कर अपने रिश्तेदारों व धर्मशालाओं में शरण ली हुई हैं।

Haryana News [Hindi] | जायजा लेने पहुंचे SDM को लोगों ने घेरा

जब एसडीएम राजेश कुमार हालातों का जायजा लेने पहुंचे तो लोगों ने उन्हें घेर लिया। बाद में लोगों ने सिरसा-चंडीगढ़ रोड भी जाम कर दिया। उन्होंने एसडीएम को पूरी समस्या बताई कि घरों में कई कई फुट पानी भरा है। लोग बाहर नहीं निकल सकते, न बिजली है, न पानी है। लोग कैसे जी रहे हैं, प्रशासन समझ नहीं सकता।

Bhuna Fatehabad News | ट्रैक्टर और कस्तियां बनी लोगों का सहारा

भूना के बाढ़ग्रस्त क्षेत्र में ट्रैक्टर व प्रशासन द्वारा चलाई जा रही कस्तियां लोगों का सहारा बनी हुई हैं। 25 ट्रैक्टरों व छह कस्तियों के जरिये ही लोग इधर से उधर आते और जाते हैं।

राहत पहुंचाने में लगा प्रशासन

Haryana News [Hindi] | फतेहाबाद उपायुक्त जगदीश शर्मा ने बताया कि “भूना में बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत पहुंचाने में प्रशासन लगा हुआ है। जलभराव को खत्म करने के लिए 16 पंपसेट दिन-रात चल रहे हैं। लोगों की मदद के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। दो दिन में स्थिति सामान्य हो जाएगी।” लेकिन आपको बता दें कि प्रशासन के राहत के प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं। बाढ़ से अब तक भूना वासियों को राहत नहीं मिल सकी है।

■ Also Read | 153वीं गांधी जयंती (Gandhi Jayanti) पर जानिए वर्तमान में कौन है सत्य व अहिंसा का मार्गदर्शक?

संत रामपाल जी के अनुयाई पहुंचा रहे राहत सामग्री

प्राकृतिक संकट के बीच संत रामपाल जी महाराज के अनुयाई बाढ़ में फंसे लोगों की हरसंभव सहायता कर रहे है। खाने-पीने की जरूरी चीजों से लेकर मरीजों के लिए मुफ्त दवाइयां, दूध और अन्य राहत सामग्री की व्यवस्था भी संत जी के अनुयाई द्वारा की जा रही है। संत जी के अनुयायियों का कहना है की संत रामपाल जी महाराज मानव धर्म की शिक्षा देते हैं। उनकी शिक्षा पर ही चलकर हम अनुयाई मानवता और परोपकार का यह कार्य कर रहे है। संत रामपाल जी के आदेश से अंतिम व्यक्ति तक सहायता पहुंचाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।

भूना वासियों पर महामारियों का संकट मंडराया

वैसे तो अभी तक महामारी के फैलने की कोई खबर सामने नहीं आई है। लेकिन इस प्रकार की आपदाओं से हमेशा ही महामारियों के फैलने का भय बना रहता है। यहीं संकट भूना वासियों पर बना हुआ है। इन सबसे भूना वासियों को बचाने के लिए संत रामपाल जी महाराज के अनुयायियों द्वारा स्वास्थ्य शिविर के माध्यम से दवाइयों का भी प्रबंधन किया जा रहा है।

आपदाओं से बचने का उपाय

इस वक्त पृथ्वी पर पूर्णसंत रूप में संत रामपाल जी महाराज विद्यमान हैं जो पूर्ण परमात्मा कबीर साहेब जी की शास्त्रानुकूल भक्ति बताते हैं। जिससे उनके अनुयायियों को वो लाभ मिलते हैं जो परमात्मा देता है। क्योंकि परमात्मा ही वह शक्ति है जो हमारी प्रत्येक आपदाओं, रोगों आदि से रक्षा करता है। जिसके विषय में संतों ने कहा है 

“संकट मोचन कष्ट हरण हो, 

मंगल करन कबीर, 

कि आ गए शरण तेरी।” 

यहीं प्रमाण कबीर सागर में है कि परमेश्वर कबीर जी सबका रक्षक है। लेकिन परमेश्वर कबीर जी से लाभ प्राप्त करने के लिए पूर्णसंत से दीक्षा लेकर सतभक्ति करनी होती है तभी परमेश्वर हमारी पल पल में रक्षा करता है। कबीर सागर, बोधसागर खंड, अध्याय ज्ञानप्रकाश के पृष्ठ 23 की वाणी है कि 

सत्य पुरुष वह सत्यगुरु आहीं। सत्यलोक वह सदा रहाहीं।।

सकल जीवके रक्षक सोई। सतगुरु भक्ति काज जिव होई।।

सतगुरु सत्यकबीर सो आहीं। गुप्त प्रगट कोइ चीन्है नाहीं।।

पूर्णसंत सतगुरु संत रामपाल जी महाराज से नामदीक्षा लेने और सम्पूर्ण आध्यात्मिक ज्ञान को जानने के लिए गूगल प्लेस्टोर से डाऊनलोड करें Sant Rampal Ji Maharaj App

Latest articles

The G7 Summit 2024: A Comprehensive Overview

G7 Summit 2024: The G7 Summit, an annual gathering of leaders from seven of...

16 June Father’s Day 2024: How to Reunite With Our Real Father?

Last Updated on 12 June 2024 IST: Father's day is celebrated to acknowledge the...
spot_img
spot_img

More like this

The G7 Summit 2024: A Comprehensive Overview

G7 Summit 2024: The G7 Summit, an annual gathering of leaders from seven of...

16 June Father’s Day 2024: How to Reunite With Our Real Father?

Last Updated on 12 June 2024 IST: Father's day is celebrated to acknowledge the...