संत रामपाल जी महाराज के सतलोक आश्रम धनाना धाम में लगाया गया नेत्रदान और नेत्र जांच शिविर

spot_img

चाहे सामाजिक सुधार हो या समाज हित, जन कल्याण तथा मानव सेवा के कार्यों में सबसे पहला नाम जो मन में आता है वह है “संत रामपाल जी महाराज”। प्राकृतिक आपदाओं में लोगों की मदद करने से लेकर रक्तदान शिविर, नेत्र दान शिविर और अन्य कार्यक्रमों के आयोजन तक, संत रामपाल जी महाराज और उनके अनुयायी जरूरतमंदों की मदद करने के लिए जाने जाते रहे हैं। हाल ही में, संत रामपाल जी महाराज जी ने सतलोक आश्रम धनाना में निःशुल्क नेत्र जांच शिविर और नेत्र दान अभियान का आयोजन किया। यह कार्यक्रम संत रामपाल जी महाराज जी के 37वें बोध दिवस और परमात्मा कबीर साहेब जी के 506वें निर्वाण दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया था। आइए इस आयोजन के बारे में विस्तार से जानें क्योंकि इसमें दहेज मुक्त विवाह, अंग दान शिविर और दंत चिकित्सा शिविर जैसे अन्य सामाजिक सुधार कार्यक्रम भी शामिल हैं।

  • सतलोक आश्रम धनाना धाम में आयोजित किए गए नेत्र जांच शिविर में नियमित नेत्र जांच के महत्व पर प्रकाश डाला गया।
  • लोगों को अपनी आंखों के स्वास्थ्य के प्रति जागरूक बनाया गया।
  • नेत्र रोगों से पीड़ित व्यक्तियों के लिए उचित दवाइयां तथा उपचार प्रदान किया गया।
  • अपवर्तक त्रुटियों से लेकर मोतियाबिंद और ग्लूकोमा तक सभी स्थितियों के लिए प्रभावी उपचार प्रदान किया गया।
  • दृष्टि संबंधी समस्याओं से जूझ रहे लोगों को अपने परिवेश की सुंदरता की सराहना करने में मदद मिली।
  • 1850 प्रतिभागियों को उनकी विशिष्ट दृष्टि आवश्यकताओं के अनुसार मुफ्त चश्मे प्रदान किए गए।
  • चश्मे के अलावा, शिविर में 200 लोगों को निःशुल्क दवाएँ भी प्रदान की गईं।

मानव के लिए आंख एक ऐसा अद्भुत अंग है जो हमें दुनिया का अनुभव करवाता है। यह एक जटिल प्रणाली है जो प्रकाश को ग्रहण करती है और इसे मस्तिष्क के माध्यम से संकेतों में बदल देती है, जिसे हम देखने की प्रक्रिया कहते है। लेकिन, किसी भी अन्य जटिल प्रणाली की तरह, आंख भी समस्याओं से मुक्त नहीं है। मोतियाबिंद और ग्लूकोमा जैसी गंभीर बीमारियों से लेकर निकट दृष्टिदोष और दूरदृष्टिदोष जैसी सामान्य अपवर्तक त्रुटियों तक, विभिन्न स्थितियां आंख को प्रभावित कर सकती हैं।

2021 में टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, लगभग 27.5 करोड़ भारतीय, जो कि आबादी का लगभग 23% है, कमजोर दृष्टि से पीड़ित हैं। यह हमारे समाज में दृष्टिबाधितों के महत्वपूर्ण प्रभाव को उजागर करता है। यह चिंताजनक है कि भारत में लगभग 33.8% पुरुषों और 40% महिलाओं की दृष्टि तीक्ष्णता 20/80 से भी बदतर है, जो आबादी के एक महत्वपूर्ण हिस्से की खराब दृष्टि को दर्शाता है। 

  • राष्ट्रीय नेत्रहीनता नियंत्रण कार्यक्रम (NPCB): यह कार्यक्रम 1976 में शुरू किया गया था और यह इस तरह के कार्यक्रम को पूरी तरह से प्रायोजित करने वाला पहला देश है।
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति: 1983 में लागू की गई इस नीति का लक्ष्य प्रसार दर को 1.4% से घटाकर 0.3% करना था।
  • दसवीं पंचवर्षीय योजना: इस योजना का लक्ष्य अंधेपन को 0.8% तक और 2010 तक 0.5% तक कम करना था।
  • भारत सरकार ने बेहतर नेत्र स्वास्थ्य के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। इन प्रयासों के बावजूद, अभी भी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। दृष्टिबाधितों की संख्या को कम करने के लिए, सरकार को नेत्र देखभाल सेवाओं तक पहुंच को बेहतर बनाने और जागरूकता बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करना जारी रखना चाहिए।

संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में सतलोक आश्रम धनाना धाम में नि:शुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में 1850 लोगों को नि:शुल्क नेत्र उपचार, जांच और चश्मे प्रदान किए गए। इसके माध्यम से न केवल उन्हें नेत्र संबंधी समस्याओं का समाधान मिला, बल्कि उन्हें निःशुल्क सेवाएं भी प्राप्त हुईं। इस उत्कृष्ट पहल के माध्यम से, आंखों की रोशनी के महत्व पर भी जोर दिया गया और 150 व्यक्तियों ने अपनी आंखें दान करने का संकल्प लिया। इस कार्यक्रम ने संत रामपाल जी महाराज के जन कल्याण के कार्य को सबके सामने लाया हैं। 

■ Read in English: Free Eye Check-up Camp & Donation Drive Organized at Satlok Ashram Dhanana Dham by Sant Rampal Ji Maharaj

इस शिविर का मुख्य उद्देश्य वंचितों को नेत्र देखभाल सेवाएं प्रदान करना था, ताकि हर व्यक्ति उच्चतम स्वास्थ्य और जीवन का आनंद उठा सके। लाभार्थियों को व्यापक नेत्र परीक्षण, उपचार, और आगे के लिए अस्पताल में रेफरल प्राप्त हुआ। जिन लोगों को चश्मे की आवश्यकता थी, उन्हें भी संत रामपाल जी महाराज के इस कार्यक्रम के कारण मुफ्त में चश्मा प्रदान किया गया। इस प्रयास से सामाजिक जागरूकता बढ़ी और नेत्र स्वास्थ्य की महत्वपूर्णता को सार्वजनिक रूप से साबित किया गया।  

इस कार्यक्रम में 1850 प्रतिभागियों को उनकी विशिष्ट दृष्टि आवश्यकताओं के अनुसार मुफ्त चश्मे प्रदान किए गए। मुफ्त चश्मे का वितरण इन व्यक्तियों के जीवन की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए महत्वपूर्ण कदम हैं, जिससे उन्हें दैनिक कार्यों को आसानी से और आत्मविश्वास के साथ करने की क्षमता प्रदान हो सकेगी। चश्मे प्रदान करने के अलावा, शिविर में 200 व्यक्तियों को विभिन्न नेत्र संबंधी समस्याओं के लिए मुफ्त दवाएं भी प्रदान की गई। ये दवाएं योग्य चिकित्सा विशेषज्ञों द्वारा सावधानीपूर्वक निर्धारित की गई थीं, जो संक्रमण, एलर्जी या अन्य सामान्य नेत्र रोगों जैसी विशिष्ट समस्याओं का समाधान करती हैं। इन दवाओं को मुफ्त में प्रदान करके, शिविर का उद्देश्य नेत्र उपचारों से जुड़े वित्तीय बोझ को कम करना था। नेत्र जाँच शिविर का सबसे उल्लेखनीय पहलू यह था कि 150 उपस्थित लोगों ने अदभुत समर्पण दिखाया। ये व्यक्ति संत रामपाल जी महाराज के अनुयायी थे, जिन्होंने स्वेच्छा से अपनी आंखों का दान करने का संकल्प लिया।

संत रामपाल जी महाराज द्वारा धानाना धाम में आयोजित नि:शुल्क नेत्र जांच शिविर एक शानदार कार्यक्रम था, जिसमे सैकड़ों जरूरतमंद लोगों को महत्वपूर्ण नेत्र सेवाएं प्रदान की गई। नि:शुल्क नेत्र जांच, चश्मा, दवाएं प्रदान करके और नेत्रदान को प्रोत्साहित करके, यह कार्यक्रम समुदाय में आशा और दया का पर्याय बना। जगत के तारणहार, विश्व प्रसिद्ध समाज सुधारक संत रामपाल जी महाराज द्वारा सतलोक आश्रम धनाना धाम में आयोजित नि:शुल्क नेत्र जांच शिविर को एक महत्वपूर्ण पहल के रूप में देखा जा सकता है। इस शिविर में आवश्यक नेत्र सेवाएं प्रदान करने के साथ-साथ आंखों के स्वास्थ्य और दृष्टि के महत्व के बारे में जागरूकता भी बढ़ाई गई। वर्तमान समय में पूरे विश्व में अपने तत्वज्ञान का झंडा लहराने वाले संत रामपाल जी महाराज सभी धर्मों के पवित्र शास्त्रों पर आधारित पूर्ण आध्यात्मिक ज्ञान भक्त समाज को प्रदान करके सभी को एक कर रहे हैं। संत रामपाल जी महाराज जी का मानना है कि

जीव हमारी जाति है, मानव धर्म हमारा।

हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई, धर्म नहीं कोई न्यारा।।

इसके साथ ही भक्त समाज को सतभक्ति से परिपूर्ण करने वाले संत रामपाल जी महाराज समाज में व्याप्त बुराइयो तथा कुप्रथाओं जैसे दहेज, नशा, भ्रष्टाचार, व्यभिचार, और अन्य सामाजिक बुराईयों को जड़ से खत्म कर एक स्वच्छ समाज का निर्माण कर रहें हैं। संत रामपाल जी महाराज द्वारा किए जा रहे अन्य समाज सुधार के कार्यों के बारे में अधिक जानकारी के लिए तुरंत संत रामपाल जी महाराज एंड्रॉइड एप्लिकेशन डाउनलोड करें।

निम्नलिखित सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर हमारे साथ जुड़िए

WhatsApp ChannelFollow
Telegram Follow
YoutubeSubscribe
Google NewsFollow

Latest articles

Guru Purnima 2024: Know about the Guru Who is no Less Than the God

Last Updated on18 July 2024 IST| Guru Purnima (Poornima) is the day to celebrate...

Rajasthan BSTC Pre DElED Results 2024 Declared: जारी हुए राजस्थान बीएसटीसी प्री डीएलएड परीक्षा के परिणाम, उम्मीदवार ऐसे करें चेक

राजस्थान बीएसटीसी परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे छात्रों के लिए एक अच्छी खबर...

Indore Breaks Guinness World Record of Plantation: Significant Contribution from Sant Rampal Ji 

Indore, Madhya Pradesh, achieved a Guinness World Record on July 14, 2024. It was...

Muharram 2024: Can Celebrating Muharram Really Free Us From Our Sins?

Last Updated on 15 July 2024 IST | Muharram 2024: Muharram is one of...
spot_img

More like this

Guru Purnima 2024: Know about the Guru Who is no Less Than the God

Last Updated on18 July 2024 IST| Guru Purnima (Poornima) is the day to celebrate...

Rajasthan BSTC Pre DElED Results 2024 Declared: जारी हुए राजस्थान बीएसटीसी प्री डीएलएड परीक्षा के परिणाम, उम्मीदवार ऐसे करें चेक

राजस्थान बीएसटीसी परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे छात्रों के लिए एक अच्छी खबर...

Indore Breaks Guinness World Record of Plantation: Significant Contribution from Sant Rampal Ji 

Indore, Madhya Pradesh, achieved a Guinness World Record on July 14, 2024. It was...