Haryana Flood News [Hindi] | बाढ़ ग्रस्त इलाकों में संत रामपाल जी के शिष्य पहुंचा रहे हैं राहत सामग्री

spot_img

Haryana Flood News [Hindi] : बीते दो सप्ताह से हो रही बारिश से हरियाणा में आई बाढ़ ने लोगों की मुसीबत बढ़ा रखी है। जिसके चलते राज्य सरकार ने 12 जिलों को बाढ़ प्रभावित घोषित कर दिया है। वहीं लगातार हो रही बारिश व नदियों के जलस्तर बढ़ने से आई बाढ़ से बड़ी संख्या में फसलों व राज्य में चल रही सरकारी परियोजना को नुकसान पहुंचा है। वहीं इस प्राकृतिक आपदा के कारण मुसीबत में फंसे लोगों को संत रामपाल जी महाराज के अनुयायियों द्वारा खाद्य व अन्य राहत सामग्री पहुंचाई जा रही है। 

Haryana Flood News [Hindi] : मुख्यबिन्दु

  • हरियाणा में लगातार हो रही बारिश व नदियों का जलस्तर बढ़ने से 12 जिलों में बाढ़ जैसे हालात
  • अंबाला, कुरुक्षेत्र, पंचकूला और यमुनानगर में सबसे अधिक बारिश हुई।
  • राज्य सरकार ने 12 जिलों को किया बाढ़ प्रभावित घोषित
  • करीब 6000 हजार हेक्टेयर फसल को बाढ़ से नुकसान
  • बाढ़ से राज्य की करीब 400 परियोजनाओं को नुकसान
  • संत रामपाल जी महाराज के अनुयायियों ने अम्बाला व पिहोवा में पहुंचाई राहत सामग्री
  • कैथल व कुरुक्षेत्र में भी बाढ़ पीड़ितों को संत रामपाल जी के शिष्यों ने पहुंचाई खाद्य व राहत सामग्री

हरियाणा में बारिश व बाढ़ ने बढ़ाई मुसीबत

हरियाणा में इस साल बारिश ने कई सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 8 से 12 जुलाई के बीच सामान्य तौर पर करीब 28 MM बारिश होती है लेकिन इस बार 110 MM बारिश रिकॉर्ड की गई। वहीं राज्य में कई स्थानों पर सामान्य से 400 फीसदी अधिक बारिश हुई है। जिसमें यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, पंचकूला और अंबाला में सबसे अधिक बारिश दर्ज की गई है। वहीं रिपोर्ट के मुताबिक इन चारों जिलों में 8-10 गुना अधिक बारिश हुई। वहीं हिमाचल प्रदेश में हुई बारिश का भी काफी पानी यमुना, मारकंडा, घग्गर, सरस्वती नदियों में पानी आया। जिससे हरियाणा के 12 जिले बाढ़ की चपेट में हैं।

प्रदेश के 12 जिले बाढ़ प्रभावित घोषित

Haryana Flood News [Hindi] : बारिश व बाढ़ के कारण राज्य सरकार ने प्रदेश के 12 जिले अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, यमुनानगर, फतेहाबाद, फरीदाबाद, करनाल, पानीपत, सोनीपत और सिरसा आदि को बाढ़ प्रभावित घोषित किया है। वहीं सरकार ने इन सभी जिलों के करीब 1353 गांव और 5 MC क्षेत्रों को बाढ़ प्रभावित घोषित किया गया है। साथ ही, सरकार इन सभी गांवों में राहत बचाव के कार्यों के लिए एसडीआरएफ, एनडीआरएफ तथा सेना की सेवाएं ले रही है।

Haryana Flood News : बाढ़ से राज्य को करोड़ों का नुकसान

वहीं राज्य में बारिश और बाढ़ से करोड़ों का नुकसान हो चुका है। जिसमें सिंचाई और जल संसाधन विभाग की 399 सरकारी योजनाओं को नुकसान पहुंचा है। इसके अलावा पूरे राज्य में 3369 खंभे व 1470 ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त हुए हैं और अन्य बुनियादी ढांचों में भी नुकसान पहुंचा है, तो वहीं करीब 5861 हेक्टेयर फसल को भी नुकसान पहुंचा है। जोकि तबाही की तस्वीर बयां कर रही है।

■ यह भी पढ़ें: Kurukshetra News (Hindi) | संत रामपाल जी महाराज ने बाढ़ पीड़ितों को पहुंचाई राहत सामग्री

सरकार ने लगाए राहत शिविर

वहीं प्रदेश सरकार की ओर से बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने के लिए 41 राहत शिविर लगाए गए हैं। साथ ही, बाढ़ व बारिश से जलभराव के कारण उत्पन्न होने वाली बीमारियों को देखते हुए राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने भी बाढ़ प्रभावित गांवों में हेल्थ शिविर लगाए हैं।

संत रामपाल जी के शिष्य बाढ़ पीड़ितों को पहुंचा रहे खाद्य व राहत सामग्री

हरियाणा के 12 जिले जहां बाढ़ की चपेट में हैं, जिससे लोगों को खाने-पीने की समस्या उत्पन्न हो गई है तो वहीं जलभराव के कारण बीमारियों का भी खतरा इन इलाकों में मंडरा रहा है। लेकिन ऐसी विषम परिस्थिति में बाढ़ पीड़ितों तक खाद्य व अन्य राहत सामग्री पहुंचाने के लिए संत रामपाल जी महाराज के अनुयायी अपनी जान को जोखिम में डालकर अलग-अलग जिलों, ब्लॉक आदि में यह मानवीय सेवा कर रहे हैं। 

कैथल में बाढ़ ग्रस्त लोगों तक जरूरत का समान वितरित कर रहे संत रामपाल जी के शिष्य

कैथल जिले के गुहला- चीका में घग्गर नदी का जल स्तर बढ़ने से नदी के किनारे कई जगह से टूटने के कारण आस-पास के 70 से ज्यादा गाँव मे बाढ़ आ गई है। जिससे सभी गांव में 4-5 फीट पानी जमा हो गया और इतना अधिक पानी भर जाने से लोग अपने घरों की छत पर रहने को मजबूर हैं। वहीं लोगों को पीने के स्वच्छ पानी व खाने के भी लाले पड़ गए। ऐसी मुसीबत पर संत रामपाल जी महाराज के अनुयायी लोगों का सहारा बन रहे हैं। संत रामपाल जी महाराज जी के शिष्य अपनी जान का जोखिम लेते हुए बाढ़ ग्रस्त इलाकों में फंसे लोगों तक खाने-पीने का समान तथा अन्य राहत सामग्री पहुँचा रहे हैं।

संत रामपाल जी के समर्थकों द्वारा अम्बाला व पिहोवा में पहुंचाई गई राहत सामग्री

वहीं राज्य के अन्य जिलों की अपेक्षा अम्बाला जिले में अत्यधिक बारिश हुई है। जिससे अंबाला जिला भी बाढ़ की चपेट में है। इस प्राकृतिक आपदा के दौरान संत रामपाल जी महाराज के शिष्य हरियाणा के पिहोवा ब्लॉक व जिला अम्बाला के बाढ़ ग्रसित गांवों में बाढ़ पीड़ित लोगों के लिए प्राथमिक चिकित्सा, खाद्य व अन्य राहत सामग्री वितरण कर रहे हैं।

कुरुक्षेत्र में भी राहत सामग्री बांटते दिखे संत रामपाल जी के अनुयायी

Haryana Flood News [Hindi] : इस बार मानसूनी बारिश ने हरियाणा में भारी तबाही मचाई है। जिसके चलते सड़कों को भारी नुकसान पहुंचा है। वहीं राज्य के कई जिलों में बाढ़ आ चुकी है। जिसमें कुरुक्षेत्र भी शामिल है। जिले में आई बाढ़ कारण बहुत से लोग घरों में फंस गए हैं, उन्हें खाने-पीने की समस्या उत्पन्न हो गई है। 

लेकिन इस आपदा के दौरान देखने में आया है कि संत रामपाल जी महाराज के सानिध्य में सतलोक आश्रम कुरुक्षेत्र से संत जी की आज्ञानुसार बाढ़ पीड़ित लोगों तक भोजन एवं राहत सामग्री पहुंचाई जा रही है। सतलोक आश्रम कुरुक्षेत्र से संत रामपाल जी के अनुयायी बाढ़ ग्रस्त इलाकों में जगह-जगह ट्रैक्टर ट्राली जैसे चार पहिया वाहन द्वारा घर-घर भोजन व राहत सामग्री पहुंचा रहे हैं। संत रामपाल जी महाराज के शिष्यों का यह मानवीय कार्य वास्तव में सराहनीय है। 

संत रामपाल जी महाराज का उद्देश्य

जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज का उद्देश्य पूरे विश्व को सत्य आध्यात्मिक ज्ञान व सतभक्ति प्रदान करना हैं। जिससे मानव पर आने वाली आपत्तियों को पूर्ण परमात्मा समाप्त कर सके और उसका मोक्ष हो सके। क्योंकि हमारे पवित्र धर्म ग्रंथ बताते हैं कि हमारा वास्तव में सच्चा साथी (मित्र) और हमारा रक्षक कबीर परमेश्वर है, जो सच्चे साधक की हर पल रक्षा करता है। जिसके विषय में संत जन कहते हैं:

“संकट मोचन कष्ट हरण हो, मंगल करन कबीर, कि आ गए शरण तेरी।” 

सच्चा आध्यात्मिक ज्ञान व कबीर परमेश्वर की सम्पूर्ण जानकारी जानने के लिए Sant Rampal Ji Maharaj App गूगल प्ले स्टोर से डाऊनलोड करें।

Latest articles

6.4 Magnitude Earthquake Jolts Japan 

Japan was rocked by a powerful 6.4 magnitude earthquake on April 17, 2024, according...

Mahavir Jayanti 2024: Know Why Mahavir Jain Suffered Painful Rebirths in the Absence of Tatvagyan

Last Updated on 17 April 2024 IST: Mahavir Jayanti 2024: Mahavir Jayanti is one...

UPSC CSE Result 2023 Declared: यूपीएससी ने जारी किया फाइनल रिजल्ट, जानें किसने बनाई टॉप 10 सूची में जगह?

संघ लोकसेवा आयोग ने सिविल सर्विसेज एग्जाम 2023 के अंतिम परिणाम (UPSC CSE Result...
spot_img

More like this

6.4 Magnitude Earthquake Jolts Japan 

Japan was rocked by a powerful 6.4 magnitude earthquake on April 17, 2024, according...

Mahavir Jayanti 2024: Know Why Mahavir Jain Suffered Painful Rebirths in the Absence of Tatvagyan

Last Updated on 17 April 2024 IST: Mahavir Jayanti 2024: Mahavir Jayanti is one...