Dowry Free Marriages : 17  मिनिट में गुरुवाणी से सम्पन्न हुए दहेज मुक्त विवाह ‘रमैनी’

Date:

Dowry Free Marriages | वर्तमान युग शिक्षा का युग है, आज हम उस कालखंड में प्रवेश कर चुके हैं जहां शिक्षा व आधुनिकता अपनी चरम सीमा पर खड़ी है, लेकिन विचारणीय विषय यह है कि शिक्षा का इतना वर्चस्व होने के बाद भी आज भी हम रूढ़िवाद व कुरीतियों के चंगुल से पूर्णतः मुक्त नही हो पाए हैं। ऐसी ही एक कुरीति है जिसे ‘दहेज’ कहा जाता है जो सदियों से मानव समाज को दीमक बनकर खोखला कर रही है। मानव समाज मे व्याप्त इसी दहेज नामक दीमक से मुक्ति दिलाने का बीड़ा संत रामपाल जी महाराज जी ने उठाया है। संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में कई दहेज मुक्त विवाह सम्पन्न किये जा चुके हैं जो लोगों के बीच चर्चा का विषय बने हुए हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ अनोखे विवाहों के बारे में जो इस समय चर्चा का विषय बने हुए हैं।

Dowry Free Marriages: मुख्यबिन्दु

  • महान समाज सुधारक संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में सम्पन्न हुए दहेज मुक्त विवाह।
  • संत भाषा में इन दहेज मुक्त विवाहों को रमैनी कहा जाता है।
  • पूर्ण परमेश्वर कविर्देव व 33 कोटि देवी-देवताओं की स्तुति के साथ सपन्न हुए यह अनोखे दहेज मुक्त विवाह।
  • इन दहेज रहित विवाहों में आडम्बरों व रूढ़िवाद का नहीं दिखा नामोनिशान।
  • 1 रुपये का भी दहेज नहीं लिया गया साथ ही फिजूलखर्ची से भी मिली मुक्ति।

अनोखे दहेज मुक्त विवाहों (Dowry Free Marriages) की लिस्ट

  • दिनांक 24 अप्रैल 2022 को अर्सातुला बलांगीर निवासी बहन संत रामपाल जी महाराज जी की अजुयायी प्रशांति दासी का दहेज मुक्त विवाह कुहुरा, कालाहांडी (उड़ीसा) निवासी हेमसागर दास के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ बिना किसी दान-दहेज के सम्पन्न हुआ।
  • लहारखेड़ा जिला शाजापुर निवासी संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी राजेन्द्र दास S/O राधेश्याम दास का दहेज मुक्त विवाह अमलावती, शाजापुर (मध्यप्रदेश) निवासी पूजा दासी D/O राजाराम दास के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ सम्पन्न हुआ।
  • ग्राम आमाभौना, पोस्ट बरोली, तहसील बसना, जिला महासमुंद (छ. ग.) निवासी संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी श्यामलाल दास ने अपनी पुत्री हेमकान्ति का दहेज मुक्त विवाह रायपुर (छत्तीसगढ़) निवासी संत रामपाल जी के अनुयायी समल लाल के पुत्र टोपू दास के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ सम्पन्न किया।
  • Dowry Free Marriages | ग्राम भूतहा, पोस्ट बड़ेरबेली, तहसील मालखरौदा, जिला सक्ति (छत्तीसगढ़) निवासी संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी मुकुंद दास चंद्रा S/O रामजीवन दास चंद्रा का दहेज मुक्त विवाह ‘रमैनी’ ग्राम कचंदा, ब्लॉक जैजैपुर, जिला सक्ति (छत्तीसगढ़) निवासी पूजा दासी चंद्रा D/O वेदराम चन्द्रा के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ सम्पन्न हुआ।
  • ग्राम गाड़ापाली, पोस्ट जवाली, तहसील डभरा, जिला सक्ति (छत्तीसगढ़) निवासी संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी संजय दास महंत S/O सुखचैन दास महंत का दहेज मुक्त विवाह ‘रमैनी’ ग्राम बड़े कटेकोनी, ब्लॉक डभरा, जिला सक्ति (छत्तीसगढ़) निवासी माधुरी दासी केंवट D/O देवलाल केंवट के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ सम्पन्न हुआ।
  • छुईखदान, जिला राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) निवासी संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी भगत दुलेश्वर दास का दहेज मुक्त विवाह ‘रमैनी’ ब्लॉक डोंगर गांव, जिला राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) निवासी  बहन धनेश्वरी दासी के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ सम्पन्न हुआ।
  • ग्राम कौडीबेहियार, तहसील गोड्डा, जिला गोड्डा (झारखंड) निवासी संत रामपाल जी महाराज जी के जगदीश दास ने अपने पुत्र गणेश दास का दहेज मुक्त विवाह ‘रमैनी’ ग्राम सरियाहट, जिला दुमका (झारखंड) निवासी  गुंजा कुमारी D/O स्व. बमबम दास के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ सम्पन्न हुआ।
  • दिनांक 03 जूलाई 2022 को ग्राम धोडांड, जिला रोहतास (उत्तरप्रदेश) निवासी बहन संत रामपाल जी महाराज जी की अनुयायी मधु दासी का दहेज मुक्त विवाह टांडा, अंबेडकर नगर (U.P.) निवासी महेंद्र दास के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ बिना किसी दान-दहेज के सम्पन्न हुआ।
  • संत रामपाल जी महाराज जी के अनोखे आध्यात्मिक ज्ञान से प्रभावित होकर भक्त शमशेर दास जो की ग्राम बरसोला जिला जींद हरियाणा के रहवासी है। इन्होंने अपनी दोनो सुपुत्रियो ज्योति दासी व प्रीति दासी का विवाह ग्राम धनाना जिला सोनीपत हरियाणा के वासी भक्त प्रेमदास के सुपोत्रो भक्त दिनेश दास व कपिल दास के साथ 17 मिनट में गुरुवाणी (रमनी) सुनकर संपन्न करायाl और समाज में एक नया संदेश दिया l

Also Read | Dowry Free India: Dowry System is a curse for Society | Jagatguru Saint Rampal Ji Maharaj

  • ग्राम चक्क पुरा, खनेता जिला- मुरैना (मध्य प्रदेश) निवासी संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी पूरन दास ने अपनी पुत्री प्रीति दासी का दहेज मुक्त विवाह ग्राम बङोखरी तहसील मोहाना जिला भिंड (म.प्र.)  निवासी संत रामपाल जी के अनुयायी हरिमोहन दास के पुत्र महेंद्र दास के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ सम्पन्न कराकर समाज को भी दहेज़ मुक्त विवाह करवाने का संदेश दियाl
  • Dowry Free Marriages | ग्राम- चापाडीह, जिला- गुमला (झारखंड) निवासी दुलार सिंह जी ने संत रामपाल जी महाराज जी के ज्ञान से प्रभावित होकर अपनी पुत्री सुनैना दासी का दहेज मुक्त विवाह भक्त जयंत दास जो की संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी हैं, ग्राम जामटोली, जिला- गुमला(झारखण्ड) निवासी मोहन सिंह जी के पुत्र के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ बिना किसी लेन-देन व बिना किसी फिजूल खर्च के सम्पन्न किया।
  • विश्व समाज सुधारक संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी भक्त फनेंद्र दास ग्राम- चटाक, थाना – रजरप्पा जिला – रामगढ़ (झारखंड) निवासी ने अपने पुत्र किशोर दास का विवाह(रमैनी) अपने सद्गुरु देव जी के सत वचनों को साक्षी मानकर  ग्राम – सिकनी, जिला – रामगढ़ (झारखंड) निवासी बेनेश्वर महतो की पुत्री रिंकी दासी से संपन्न की। तथा समाज को नया पैगाम दिया कि आप भी अपने बच्चो का विवाह संत रामपाल जी महराज जी के सत वचनों से ही करें l
  • दहेज़ रूपी दानव को जड़ से खत्म करने के लिए संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी भक्त जयकरण दास ग्राम – बाज़ार टांड रामगढ़ कैंट जिला- रामगढ़ (झारखंड) निवासी ने अपने पुत्री काजल दासी की शादी (रमैनी) ग्राम- लोहरसी, थाना- चंदवा जिला- लातेहार (झारखंड) निवासी भक्त नरेंद्र दास के पुत्र मनीष दास के साथ 17 मिनट की गुरुवाणी से बिना आडंबर और बिना लोक दिखावे के सम्पन्न कीl जिसमे किसी भी तरह का लेन- देन न लेकर यह समाज के समक्ष यह साबित कर दिया की दहेज़ रूपी दानव जल्द समाप्त होl
  • दिनांक 28 जून 2022 को ग्राम-रखेड़ा बिजोरा जिला- अमरोहा(उत्तरप्रदेश) निवासी बहन संत रामपाल जी महाराज जी की अनुयायी रीना दासी का दहेज मुक्त विवाह ग्राम- खैलिखा खालसा जिला- अमरोहा (उ. प्र.) निवासी सुरेश दास के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ बिना किसी दान-दहेज व बिन बैंड बाजे गाजे के सादगीपूर्ण तरीके से सम्पन्न हुआ।
  • Dowry Free Marriages | सामाजिक कुरूतियो को जड़ से समाप्त करने वाले समाज सुधारक संत रामपाल जी के अनुयायी बहन सावित्री दासी का ग्राम- साराडिह, जिला महासमुन्द (छत्तीसगढ़) निवासी भक्त डोमन दास के साथ बिन किसी खर्चे और न किसी लेन देन के महज़ 17 मिनट में संपन्न हुआ। यह सादगी पूर्ण विवाह (रमैनी) समाज में चर्चा का विषय बनी
  • दहेज़ रूपी राक्षस को जड़ से खत्म करने के लिए संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी भक्त देवेंद्र दास ग्राम- दीखत पुरा जिला मुरैना निवासी ने अपने पुत्री अंशु प्रजापति (योग्यता-BSC) की शादी (रमैनी)  बदरवास, जिला- शिवपुरी (म.प्र.) निवासी भक्त सीताराम प्रजापति के पुत्र रितिक के साथ 17 मिनट की गुरुवाणी से बिना आडंबर और बिना किसी दिखावे के सम्पन्न की, जिसमे किसी भी तरह का लेन-देन रुपया नही लिया गयाl
  • Dowry Free Marriages | सभी बंधनों से मुक्त करने वाले संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी बहन सलोनी दासी कानपुर नगर (उ.प्र.) निवासी ने संत रामपाल जी महाराज जी के सत वचनों अनुसार हनुमानगढ़, (राजस्थान) निवासी भक्त विनोद दास के साथ बिना दहेज़ के 17 मिनट की गुरुवाणी से संपन्न कराईl
  • विश्व के एकमात्र पूर्ण संत रामपाल जी महाराज जी जिनके सानिध्य में लाखों दहेज़ मुक्त विवाह हो रहे हैं l ऐसे एक इनके अनुयायी बहन संतोषी दासी झांसी (उ.प्र.) की रहवासी ने संत रामपाल जी महाराज जी के ज्ञान से प्रभावित होकर अपनी शादी (रमैनी) भक्त रिषिकांत दास झांसी (उ.प्र.) के रहवासी से 17 मिनट की गुरुवाणी के माध्यम से दिनाँक 5 जून 2022 को – द रॉयल पैलेस भगवंतपुरा जिला झाँसी (उ.प्र.) नामक स्थान पर दहेज़ मुक्त विवाह संपन्न करायाl
  • दिनांक 01जून 2022 को धनीपुर अलीगढ़ निवासी बहन संत रामपाल जी महाराज जी की अनुयायी ज्योती दासी का संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में दहेज मुक्त विवाह कोल, अलीगढ़ निवासी रोहित दास के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के माध्यम से बिना किसी दान-दहेज़, बैंड बाजे व नाचने-गाने के साथ सम्पन्न हुआ। बता दें बिना फिजूल खर्चे की यह शादी समाज में चर्चा का विषय बनी।
  • Dowry Free Marriages | संत रामपाल जी महाराज जी के शिष्य ग्राम मोहमद्दपुर, (उ.प्र.) निवासी भक्त काशीप्रसाद दास ने अपनी पुत्री प्रतिभा दासी का विवाह संत रामपाल जी महाराज जी के शिष्य ग्राम फतेहपुर (उ.प्र.) निवासी भक्त रामसेवक दास के पुत्र अनिल दास के साथ 17 मिनट की गुरुवाणी के माध्यम से बिना आडंबर और बिना फिजूल खर्चे के दहेज़ बिना संपन्न कराया। और संकल्प लिया कि हम अपने सभी बच्चों का विवाह इसी प्रकार से दहेज़ मुक्त करेंगे और समाज से दहेज़ रूपी दानव को जड़ से खत्म करेंगेl
  • दिनांक 29 मई 2022 को हरदुआगंज, धनीपुर निवासी बहन संत रामपाल जी महाराज जी की अनुयायी कामिनी दासी का संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में दहेज मुक्त विवाह शीथल, झुंझुनू निवासी रविदास के साथ 17 मिनट में गुरुवाणी के साथ बिना किसी बैंड बाजे, व  दान-दहेज के हरदुआगंज (अलीगढ़) नामक स्थान पर सम्पन्न हुआ।
  • दहेज़ रूपी दानव को जड़ से खत्म करने के लिए संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी भक्त गिरधारी दास ग्राम- उदयपुर, रायगढ़ निवासी ने अपनी पुत्री रूपा दासी की शादी (रमनी) ग्राम- आलोला, रायगढ़ निवासी महेश राम जी के पुत्र रामकुमार दास के साथ 17 मिनट की गुरुवाणी से बिना आडंबर और बिना लोक दिखावे के साथ सम्पन्न की। जिसमे किसी भी तरह का लेन-देन नही लिया गया।
  • Dowry Free Marriages | संत रामपाल जी का एक ही सपना, दहेज़ मुक्त हो भारत अपना। इसी के चलते संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी दहेज़ मुक्त विवाह करवाकर समाज में एक नई मिशाल कायम कर रहे हैं। वाराणसी निवासी भक्त देवेंद्र दास ने अपने पुत्र संदीप का विवाह अपने गुरुजी संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में आजमगढ़ निवासी मोहित जी की सुपुत्री सरिता से गुरुवाणी के माध्यम से 17 मिनट में बिना किसी दहेज़ के संपन्न कराया।
  • अब दहेज़ से करें परहेज़, क्योंकि संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी कर रहे हैं समाज के समक्ष एक मिशाल कायम, उत्तर प्रदेश के बूंदा निवासी बहन सुमन दासी ने बिसारा, सिराथू उत्तर प्रदेश के निवासी भक्त गुलशन दास से दिनाँक 25 मई 2022 को नामदान केंद्र पुरामुफ्ती में 17 मिनट में गुरुवाणी के माध्यम से दहेज़ मुक्त विवाह रचाकर कर समाज में एक नई मिशाल कायम की है। संत रामपाल जी महाराज जी का एक ही सपना, दहेज़ मुक्त हो भारत अपना।
  • दहेज़ रूपी राक्षस से अब मुक्त होगा भारत क्योंकि संत रामपाल जी बना रहे हैं दहेज़ मुक्त भारत। ऐसे ही एक बहन सुतुहीया बिहार निवासी बिभा दासी ने राजीव नगर, उतराखंड निवासी भक्त कुलदीप दास से दिनाँक 22 मई 2022 को कुशीनगर नामक स्थान पर  17 मिनट में बिन फेरे रचाई अनोखी सादी (रमेनी)। जिसमें किसी भी तरह का दहेज़ लेन देन नही किया गया। इस प्रकार सादगी से हुई शादी सम्पूर्ण भारत में चर्चा का विषय बनी हुई है।
  • संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में, दहेज़ मुक्त भारत का हो रहा है सपना साकार। संत रामपाल जी महराज के शिष्य हरिकिशन दास की पुत्री स्नेहा दासी का विवाह संत रामपाल जी महाराज जी के आदेशानुसार भक्त नारायण दास के पुत्र अश्विनी दास के साथ बिन बैंड बाजे और बिना बाराती के 17 मिनट में असुर निकंदन रमनी के माध्यम से दहेज़ मुक्त विवाह संपन्न हुआ।
  • अब बेटियां बोझ नहीं, क्योंकि संत रामपाल जी महाराज जी के नेतृत्व में हो रही है दहेज़ मुक्त शादियां। ऐसी ही विचारधारा रखने वाले संत रामपाल जी महाराज के अनुयायी भक्त संजय दास ने अपनी पुत्री काजल दासी का विवाह बिजय दास के पुत्र बसंत दास के साथ बिना बैंड, बाराती के 17 मिनिट में असुर निकंदन रमैनी के माध्यम से दहेज़ मुक्त विवाह संपन्न कराया। इस सादगी पूर्ण विवाह में किसी भी प्रकार से लेन देन, रुपया नही लिया गया और न दिया गया।
  • Dowry Free Marriages | ना बैंड ना बाजा ना बारात समाज सुधारक संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में खुड़दी निवासी ओनाड़ सिंह जी के पुत्र भवानी दास का पाली निवासी रणवीर सिंह जी की सुपुत्री ललिता दासी की 17 मिनट में असुर निकंदन रमैनी (गुरुवाणी) के माध्यम से दहेज़ मुक्त अनूठा विवाह सम्पन्न हुआ।
  • ना दहेज़ ना बाजा और ना ही बाराती. बिना आडंबर के रचाई शादी। डेगाना, जिला नागौर निवासी भक्त भंवर दास की पुत्री सुमित्रा दासी ने समाज सुधारक संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में खींवसर जिला नागौर निवासी भक्त भवरू दास के पुत्र सहदेव दास के साथ 17 मिनट में असुर निकंदन रमैनी (गुरुवाणी) से रचाई शादी। संत रामपाल जी महाराज जी का एक ही सपना दहेज़ मुक्त हो भारत अपना।
  • ना दहेज़ ना बाजा और ना ही बराती। बिना आडंबर के रचाई शादी। जिला सागर निवासी भक्त चंद्रभान दास की पुत्री बर्षा दासी ने समाज सुधारक संत रामपाल जी महाराज जी के नेतृत्व में जिला देवास निवासी भक्त सुरेश दास के पुत्र आदित्य दास के साथ 17 मिनट में असुर निकंदन रमैनी (गुरुवाणी) के माध्यम से संपन्न हुई दहेज़ रहित शादी।
  • ना बैंड, ना घोड़ी ना बाराती, 17 मिनट में हुई अनोखी शादी। दिनांक 9 मई 2022 को पटसरमा जिला मुजफ्फरपुर निवासी बहन संत रामपाल जी महाराज जी की अनुयायी राखी दासी का संत रामपाल जी महाराज जी के नेतृत्व में दहेज मुक्त विवाह देवीपुर फुलगन, जिला दरभंगा निवासी रमेश दास के साथ 17 मिनिट में असुर निकन्दन रमैनी (गुरुवाणी) के साथ बिना किसी बाजे गाजे और दान-दहेज के सम्पन्न हुआ।

■ Also Read | Dowry-Free India Campaign by Jagat Guru Rampal Ji

एसे ही संत रामपाल जी महाराज जी की विचारधाराओं से प्रभावित होकर त्रिलोकपुर, मुरादाबाद निवासी देवेन्द्र सिंह जी ने अपनी पुत्री संगीता दासी का विवाह संत रामपाल जी के नेतृत्व में त्रिलोकपुरा, मुरादाबाद के ही निवासी राम सिंह जी के पुत्र राकेश दास से असुर निकंदन रमैनी के माध्यम से दिनांक 09 मई 2022 को दहेज़ रहित विवाह संपन्न कराया। जिसमे किसी भी प्रकार से धन का आदान प्रदान नही किया गया। साधारण तरीके से किया गया विवाह समाज में बहुत ही चर्चित रहा।

  • संत रामपाल जी महाराज जी ने ठाना है, दहेज़ मुक्त भारत बनाना है। ग्राम इटावा जिला कोटा (राजस्थान) निवासी संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी सीताराम दास ने अपनी पुत्री मीना दासी का संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में दहेज मुक्त विवाह कोटा राजस्थान निवासी संत रामपाल जी के अनुयायी चतरा दास के पुत्र रघुवीर दास के साथ 17 मिनिट में असुर निकंदन रमेनी के माध्यम से बिन नाच गाने और बाहरी आडंबर के सम्पन्न किया।
  • संत रामपाल जी महाराज जी के अद्वितीय ज्ञान से प्रेरित होकर शिवनन्दन मंडल ने अपने पुत्र जीरज दास निवासी भागलपुर, (बिहार) का दहेज मुक्त विवाह संत रामपाल जी के अनुयायी आलमनगर, जिला मधेपुरा (बिहार) निवासी विकास दास की पुत्री गुंजा दासी के साथ सम्पन्न कर एक अनूठी मिसाल कायम की।
  • ज्योति दासी निवासी रायगढ़ का दहेज मुक्त विवाह, नीमच (मध्यप्रदेश) निवासी उमेश दास  के साथ सम्पन्न हुआ।
  • ग्राम सोनार तहसील मर्दापाल, कोंडागांव, छत्तीसगढ़ निवासी मोहनलाल पुत्र बनसिंग ने संत रामपाल जी महाराज जी सानिध्य में गाँव तरेंगा, तहसील भाटापारा, छत्तीसगढ़ निवासी पार्वती पुत्री शिवकुमार पटेल के साथ दिनाँक 25 फरवरी 2022 को दहेज मुक्त विवाह संपन्न किया।
  • राजनांदगांव निवासी संत रामपाल जी महाराज जी की शिष्या जया दासी ने अपने गुरु जी संत रामपाल जी महाराज जी के अद्वितीय ज्ञान से प्रेरणा लेकर  बालोद निवासी प्रशांत दास के साथ दहेज मुक्त विवाह कर मिसाल कायम की।
  • Dowry Free Marriages | संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी राकेश निवासी नवगढ़, जांजगीर चंपा (छत्तीसगढ़) का दहेज मुक्त विवाह सरस्वती निवासी नोनबिर्रा हर्दीबाज़ार, कोरबा (छत्तीसगढ़) के साथ 27 फरवरी 2022 को सम्पन्न हुआ हुआ।
  • जिला धमतरी निवासी संत रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी शुभम दास ने संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में जिला राजनांदगांव निवासी मधु दासी के साथ दहेज मुक्त विवाह कर वैवाहिक बन्धन में बंधे।
  • संत रामपाल जी का एक ही सपना दहेज मुक्त हो भारत अपना। संत रामपाल जी महाराज जी के इसी वाक्य से प्रेरणा लेते हुए तहसील खुरई, जिला सागर (मध्यप्रदेश) निवासी विक्रम दास ने अपने गुरु जी (संत रामपाल जी महाराज जी) के सानिध्य में ग्राम देवरी, जिला कटनी (m. p.) निवासी वर्षा दासी के साथ दहेज मुक्त विवाह सम्पन्न किया।
  • रामपाल जी महाराज जी के अनुयायी ग्राम रुध सरकार, तहसील गोहद, जिला भिंड निवासी सुरेश दास ने दिनांक 2 अप्रैल 2022 को अपने पुत्र सचिन दास का दहेज मुक्त विवाह प्रेमनगर मुरैना निवासी रामरतन दास की पुत्री योगिता दासी के साथ सम्पन्न किया।
  • बिना किसी फिजूलखर्ची व बिना किसी दान दहेज के ग्वालियर निवासी विनोद दास ने जगतगुरु रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में भिंड निवासी दीपा दासी के साथ दहेज मुक्त विवाह सम्पन्न किया।
  • Dowry Free Marriages | जगतगुरु संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में दिनांक 22 मार्च 2022 को भिंड निवासी सुनील दास का दहेज मुक्त विवाह सीहोर निवासी वर्षा दासी के साथ सम्पन्न हुआ।
  • जगतगुरु संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में राजनांदगांव निवासी उषा दासी का दहेज मुक्त विवाह बालोद निवासी राकेश दास के साथ सम्पन्न हुआ।
  • ग्राम चिचोहरी, तहसील महागामा, जिला गोड्डा (झारखंड) निवासी संत रामपाल जी महाराज के अनुयायी शत्रुघ्न दास ने अपने पुत्र दुखमोचन दास का दहेज मुक्त विवाह (रमैनी) ग्राम पसई, जिला गोड्डा, (झारखंड) निवासी अनुज दास की पुत्री निशा कुमारी के साथ दिनांक 8 मई 2022 के दिन सम्पन्न किया।
  • पूजा दासी D/O सुरेश दास निवासी ग्राम कल्याणपुर, तहसील करेली, जिला नरसिंहपुर का जगतगुरु संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में दहेज मुक्त विवाह तहसील गुनौर, जिला पन्ना निवासी अमित दास S/O विश्रामदास के साथ दिनांक 6 मई 2022 को बिना किसी दान-दहेज के सम्पन्न किया।
  • Dowry Free Marriages | फरीदाबाद (हरियाणा) निवासी अंशु दासी D/O शिव रतन दास का संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में दहेज मुक्त विवाह फरीदाबाद निवासी अनिल दास S/O जवाहरलाल दास के साथ सम्पन्न हुआ।
  • दिनांक 4 मई 2022 को फरीदाबाद (हरियाणा) निवासी शिव रतन दास ने अपनी पुत्री मोनम दासी का दहेज विवाह संत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में ग्रान मातनहैल, जिला झज्जर निवासी रामकिशन दास के पुत्र प्रवीण दास के साथ बिना किसी दिखावे के सम्पन्न किया।
  • अपने गुरु (संत रामपाल जी महाराज) जी से प्रेरणा पाकर तहसील तालबेहट, जिला ललितपुर (उत्तरप्रदेश) निवासी बैजनाथ दास ने अपने पुत्र रामजी दास का पूर्णतः दहेज मुक्त विवाह करछना जिला प्रयागराज (उ.प्र.) निवासी चंद्रभान दास की पुत्री शालिनी दासी के साथ 17 मिनिट में गुरुवाणी के साथ सम्पन्न किया।

SA NEWS
SA NEWShttps://news.jagatgururampalji.org
SA News Channel is one of the most popular News channels on social media that provides Factual News updates. Tagline: Truth that you want to know

1 COMMENT

  1. संपूर्ण आध्यात्मिक ज्ञान के जरिए संत रामपाल जी महाराज जी पवित्र समाज की निर्मिती कर रहे हैं। अब बेटी बोझ नहीं बनेगी। क्योंकि “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” इस अभियान को संत रामपाल जी महाराज जी बड़ी ही सादगी से अपने शिष्यों के माध्यम से सफल कर रहे हैं। संत रामपाल जी महाराज जी के शिष्य ना तो दहेज लेते हैं और ना देते हैं वह भारत को दहेज मुक्त बना रहे हैं। इस कुरीति को जड़ से उखाड़ रहे हैं। संत रामपाल जी महाराज जी की शरण ग्रहण करके हर बेटी सुरक्षित बन सकती है। जरूर पढ़े पुस्तक जीने की राह। सुने संत रामपाल जी महाराज जी के मंगल प्रवचन संत रामपाल जी महाराज जी यूट्यूब चैनल पर। और पवित्र समाज की निर्मिती में अपना भी हाथ बटाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × 4 =

Share post:

Subscribe

spot_img
spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

World Indigenous Day 2022: Which Culture We should follow?

Last Updated on 9 August 2022, 3: 00 PM...

August Kranti: The 80th Quit India Movement Commemorating Day

This year on 8 August it is the 80th...

ISRO’s Maiden SSLV Mission Failed, Suffered data loss at the Final Stage

ISRO SSLV Mission Failed | ISRO's Small Satellite Launch...

Raksha Bandhan 2022 [Hindi]: रक्षाबंधन पर जानिए कौन है हमारा वास्तविक रक्षक?

Raksha Bandhan in Hindi: हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में एक रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) पर्व प्रतिवर्ष श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस वर्ष यह त्योहार 22 अगस्त को मनाया जा रहा है। रक्षाबंधन का त्योहार काफी धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती हैं और उनके अच्छे स्वास्थ्य और लंबे जीवन की कामना करती हैं। इस लेख में आप जानेंगे कि रक्षाबंधन पर्व का ऐतिहासिक महत्व क्या है एवं उस अद्भुत विधि के बारे में जानेंगे जिससे पूर्ण परमेश्वर स्वयं रक्षा करेंगे।