Union Budget 2023 (Hindi): निर्मला सीतारमण ने पेश किया भारत का 76वां बजट, जाने क्या है खास!

spot_img

Union Budget 2023 (Hindi): 1 फरवरी 2023 को भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने, वर्ष 2023 – 24 के लिए भारत का केंद्रीय बजट पेश किया। यह विश्व की पांचवी बड़ी अर्थव्यवस्था कहें जाने वाले भारत का 76वां बजट है। इस वर्ष 2023- 24 के बजट में सरकार का कुल व्यय 45.03 लाख करोड़ भारतीय रुपए और कुल आय 33.61 करोड़ भारतीय रुपए अनुमानित है।  2023 – 24 का यह बजट मोदी सरकार का पांचवा बजट है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2023-24 सत्र के केंद्रीय बजट को “अमृत काल का पहला बजट” बताया। केंद्रीय सरकार के अनुसार 2023-24 का यह बजट गरीब, मध्यम, महिला व युवा वर्ग के मद्देनजर बनाया गया है। आइए जानते हैं आखिर 2023-24 के बजट में क्या है खास ?

Union Budget 2023 (Hindi): मुख्य बिंदु 

  • केन्‍द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने 01 फरवरी, 2023 को संसद में केन्‍द्रीय बजट 2023-24 पेश किया
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का था पांचवां बजट
  • पिछले 2 साल के आम बजट की तरह ही ये बजट भी था पेपरलेस
  • रक्षा मंत्रालय को सबसे ज्यादा 5.94 लाख करोड़ रुपये का आवंटन
  • प्रति व्‍यक्ति आय करीब 9 वर्षों में दोगुनी होकर 1.97 लाख रुपये हो गई है
  • भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था विश्‍व की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्‍यस्‍था बन गई है
  • बजट की सात प्राथमिकताएं ‘सप्‍तऋषि’ – इनमें शामिल हैं: समावेशी विकास, अंतिम छोर-अंतिम व्‍यक्ति तक पहुंच, बुनियादी ढांचा और निवेश, निहित क्षमताओं का विस्‍तार, हरित विकास, युवा शक्ति तथा वित्‍तीय क्षेत्र
  • आत्‍मनिर्भर स्‍वच्‍छ पादप कार्यक्रम का शुभारंभ 2,200  करोड़ रुपये के उच्‍च गुणवत्‍ता वाली बागवानी फसल के लिए रोग-मुक्‍त तथा गुणवत्‍तापूर्ण पौध सामग्री की बढ़ेगी उपलब्‍धता
  • वर्ष 2014 से स्‍थापित मौजूदा 157 चिकित्‍सा महाविद्यालयों में नए नर्सिंग कॉलेज
  • 3.5 लाख जनजातीय विद्यार्थियों के लिए 740 एकलव्‍य मॉडल आवासीय विद्यालयों में 38,800 नई नियुक्‍ति
  • पीएम आवास योजना के लिए परिव्‍यय 66 प्रतिशत बढ़ा अब 79,000 करोड़ रुपये
  • रेलवे के लिए अब तक की सर्वाधिक राशि 2.40 लाख करोड़ रुपये की पूंजीगत निधि का प्रावधान
  • विदेशी आयातों पर बढ़ा टैक्स
  • स्वदेशी निर्माण को बढ़ावा देने वाला बजट
  • सतलोक ही ऐसा लोक है जहां कोई अभाव नही है

Union Budget 2023 (Hindi): बजट 2023-24 की मुख्य विशेषताएं क्या हैं?

केंद्रीय बजट 2023-24 का एक प्रमुख विषय समावेशी विकास है – “सबका साथ, सबका विकास।” इस बजट में किसान, महिला, युवा, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC), दिव्यांगजन (PWD) और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS), वंचितों के लिए समग्र प्राथमिकता, संघ शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख और पूर्वोत्तर क्षेत्र (NER) पर भी निरंतर ध्यान केंद्रित किया गया है।

बजट दो-आयामी विकास रणनीति की तर्ज पर है:

  • निजी क्षेत्र को प्रोत्साहन देना रोजगार सृजित करना और विकास को आगे बढ़ाना
  • ‘न्यूनतम सरकार, अधिकतम शासन’ (Minimum Government Maximum Governance); पूंजीगत व्यय (Capex) बढ़ाना और विनिवेश के माध्यम से अधिक राजस्व जुटाना

Union Budget 2023 (Hindi): क्या हैं अमृत काल के सप्त ऋषि ?

वैसे तो सप्तऋषियों के विषय मे हिन्दू धर्म के ग्रंथों मे विस्तार से वर्णन है। परंतु संसद में बजट पेश करते समय वित्त मंत्री, निर्मला सीतारमण ने बताया कि “अमृत काल” के पहले बजट का आधार सप्तऋषि हैं। वित्त मंत्री के अनुसार, यह सप्तऋषि प्लान ही भारत के विकास में कार्यरत होगा। 

  1. समावेशी निवेश 
  2. वंचितों को वरीयता
  3. बुनियादी ढांचे और निवेश
  4. क्षमता विस्तार
  5. हरित विकास
  6. युवा शक्ति 
  7. वित्तीय क्षेत्र 

Union Budget 2023 (Hindi): कितना है विभिन्न मंत्रालयों का बजट? 

अमृत काल के पहले बजट में विभिन्न मंत्रालयों का बजट (लाख करोड़ में) निम्नानुसार है :

  • कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्रालय : 1.2
  • परमाणु ऊर्जा विभाग : 0.2
  • आयुष मंत्रालय : 0.03
  • रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय : 1.7
  • कोयला मंत्रालय : 0.001
  • वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय : 0.1
  • संचार मंत्रालय : 1.2
  • उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय : 2.0
  • सहकारिता मंत्रालय : 0.01
  • कॉर्पोरेट कार्य मंत्रालय : 0.007
  • संस्कृति मंत्रालय : 0.03
  • रक्षा मंत्रालय : 5.9
  • पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय : 0.05
  • पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय : 0.03
  • शिक्षा मंत्रालय : 1.12
  • इलेक्ट्रोनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय : 0.1
  • पर्यावरण,जल और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय: 0.03
  • विदेश मंत्रालय : 0.1
  • वित्त मंत्रालय : 16.8
  • मत्स्यपालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय : 0.06
  • खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय : 0.03
  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय : 0.8
  • भारी उद्योग मंत्रालय : 0.06
  • नागर विमानन मंत्रालय : 0.30
  • गृह मंत्रालय : 1.9
  • आवासन और शहरी कार्यमंत्रालय : 0.7 
  • सूचना तथा प्रसारण मंत्रालय : 0.04
  • जल शक्ति मंत्रालय : 0.9 
  • श्रम और रोजगार मंत्रालय : 0.1
  • विधि और न्याय मंत्रालय : 0.04
  • सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय : 0.2
  • खान मंत्रालय : 0.01
  • अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय : 0.03
  • नवीन तथा नवीनीकरणीय मंत्रालय : 0.1
  • पंचायती राज मंत्रालय : 0.01
  • संसदीय कार्य मंत्रालय : 0.0006
  • कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय : 0.02
  • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय : 0.4
  • योजना मंत्रालय :0.008
  • पत्तन, पोत परिवहन एवं जलमार्ग परिवर्तन मंत्रालय : 0.02
  • विद्युत मंत्रालय : 0.2
  • राष्ट्रपति,सांसद, संघ लोक सेवा आयोग और उप राष्ट्रपति का सचिवालय : 0.01
  • रेल मंत्रालय : 2.4
  • सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय : 2.7
  • ग्रामीण विकास मंत्रालय : 1.5
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय : 0.1
  • कौशल विकास और उद्यमशीलतामंत्रालय : 0.03
  • सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय : 0.1
  • अंतरिक्ष मंत्रालय : 0.1
  • सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वय मंत्रालय : 0.05
  • इस्पात मंत्रालय : 0.0007
  • वस्त्र मंत्रालय : 0.04
  • पर्यटन मंत्रालय : 0.02
  • जनजातीय कार्य मंत्रालय : 0.1
  • महिला और बाल विकास मंत्रालय : 0.2
  • युवा मामले और खेल मंत्रालय : 0.03

Union Budget 2023 (Hindi): जानिए क्या है नया टैक्स स्लैब ?

वर्ष 2023 के बजट में मध्यम वर्गीय लोगो के लिए खुशखबरी है। नए टैक्स स्लैब के अनुसार 7 लाख तक की आय वाले लोगों को नहीं करना होगा इनकम टैक्स भुगतान। नई टैक्स रेजीम का चयन करने वाले उठा सकेंगे इसका फायदा। जिन लोगों की वार्षिक आय 3 लाख रुपए से कम है, उन्हें नहीं करना होगा इनकम टैक्स का भुगतान। जानिए नए टैक्स स्लैब के अनुसार कितनी आय पर कितना टैक्स लगेगा :

  • वार्षिक आय तीन लाख तक : कोई टैक्स नहीं
  • वार्षिक आय 3-6 लाख तक : 5 फीसदी टैक्स
  • वार्षिक आय 6-9 लाख तक : 10 फीसदी टैक्स
  • वार्षिक आय 9-12 लाख तक : 15 फीसदी टैक्स
  • वार्षिक आय 12-15 लाख तक : 20 फीसदी टैक्स
  • वार्षिक आय 15 लाख से अधिक : 30 फीसदी टैक्स

Union Budget 2023 (Hindi): जानिए किसका भाव गिरा और किसकी हुई बढ़ोतरी?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2023 के इस बजट में  विदेशी आयात पर रोक और स्वदेशी उत्पादन का समर्थन किया है। आइए जाने, भारत के 2023 के इस बजट के अनुसार क्या हुआ सस्ता और क्या हुआ महंगा? इलेक्ट्रिक वाहन, ऑटोमोबाइल, खिलौने और देसी मोबाइल सस्ते होंगे। वहीं, चिमनी, कुछ मोबाइल फोन और कैमरे के लेंस, सिगरेट, सोना, चांदी, प्लैटिनम महंगा होगा।

Read in English: Union Budget 2023: All Info About Union Budget of India That You Want to Know

ये चीज़ें हुईं सस्‍ती

  • खिलौनों पर सीमा शुल्क को घटाकर 13 प्रतिशत कर दिया है, खिलौने की कीमत में कमी आएगी
  • इलेक्ट्रॉनिक वाहनों में उपयोग की जाने वाली बैटरी पर कस्टम ड्यूटी को माफी, इलेक्ट्रॉनिक वाहन होंगे सस्ते
  • मोबाइल फोन में उपयोग होने वाली लिथियम बैटरी पर भी इंपोर्ट ड्यूटी को किया कम
  • टेलीविजन पैनल पर आयात शुल्क कम कर हुआ 2.5 प्रतिशत
  • श्रिम्प फीड, पूंजीगत वस्तु, साइकिल और बायोगैस से जुड़ी चीजें हुई सस्ती
  • इलेक्ट्रिकल सामान भी होगा सस्ता
  • लैब-निर्मित हीरे के सीड्स पर कस्टम ड्यूटी में छूट
  • रबर में भी ड्यूटी कम की गई है
  • ऑटोमोबाइल सस्ते होंगे

Union Budget 2023 (Hindi): विदेशी आयातों पर बढ़ा टैक्स, ये चीज़ें हुईं महंगी

  • चांदी पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाई गई है, चांदी होगी महंगी
  • सिगरेट पर राष्ट्रीय आपदा आकस्मिक शुल्क (NCCD) को अब 16 फीसदी तक बढ़ा दिया गया है
  • किचन में उपयोगी चिमनी पर कस्टम ड्यूटी 15 प्रतिशत हुई
  • पूर्णतः आयातित कार और इलेक्ट्रोनिक वाहनों पर भी टैक्स बढ़ा
  • विदेश से आयातित नकली गहनों पर भी कर बढ़ा
  • आयातित कंपाउंडेड रबर पर भी 25 प्रतिशत बेसिक इंपोर्ट ड्यूटी लगेगी
  • मिट्टी के तेल के दामों में भी इजाफा हुआ

Union Budget 2023 (Hindi): स्वदेशी को बढ़ावा देता नया बजट

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नए बजट में स्वदेशी को काफी बढ़ावा दिया है। 

  • एमएसएमई को क्रेडिट गारंटी के तहत नौ हजार करोड़ रुपये का बजटीय प्रविधान 
  • एमएसएमई से जुड़े लोगों को दो लाख करोड़ रुपये तक प्रत्याभूति मुक्त ऋण
  • केवाईसी प्रक्रिया को सरल करने का प्रस्ताव
  • पैन का उपयोग हो सकेगा सामान्य पहचान पत्र के रूप में 
  • 30 स्किल इंडिया इंटरनेशनल सेंटर खोलना जोकि कुशल कारीगर तैयार करने में सहायक होगा
  • लिथियम बैटरी, देश मे निर्मित मोबाइल फोन और इलेक्ट्रिक वाहनों पर टैक्स कम करने से निवेश बढ़ेगा और स्वदेशी कंपनियां इनके उत्पाद को प्रोत्साहित होंगी, जिससे सीधे तौर पर स्वदेशी के स्वावलंबी भारत अभियान को बल मिलेगा
  • प्राकृतिक खेती, श्री अन्न की योजना, मछली पालन, बागवानी और गोवर्धन से होंगे दूरगामी परिणाम
  • सहकारी व प्राथमिक मत्स्य समितियां और डेरी सहकारिता समितियों में निवेश से छोटे किसान और भूमिहीन किसान की आय वृद्वि होगी
  • टेक के विकास, कौशल विकास केंद्रित तथा डिजिटल युग की आवश्यकताओं पर आम बजट की घोषणाएं नई दिशा देने वाली है। शिक्षा तथा युवाओं को नवाचारों तथा कौशल विकास से संबद्ध करने से लाभ होगा 
  • एकलव्य विद्यालयों से संबंधित बजट प्रावधानों से सुदूर पूर्वोत्तर राज्यों के छात्रों के लिए उत्तम शिक्षा और विकास के द्वार खुलेंगे
  • जीवाश्म ईंधन के इस्तेमाल को कम से कम करने के लिए, हरित विकास के अंतर्गत ‘हरित हाइड्रोजन अभियान’ में सरकार करेगी 19744 करोड़ रूपए का निवेश। कम हो सकेगा पर्यावरण प्रदूषण। 
  • न्यूनतम बजट के मुताबिक 5g को बढ़ावा देने के लिए, देश भर के इंजीनियरिंग कॉलेजों में लगभग 100 रिसर्च लैब खोले जायेंगे जिनमें 5g से संबंधित नई तकनीकों की खोज संभव हो सकेगी। 
  • Digilocker पर जोर देते हुए वित्त मंत्री ने कहा, कि नए बजट के अनुसार digilocker के आधार को मान्यता दी जाएगी। 

Union Budget 2023 (Hindi): जानिए किस वर्ग के लिए क्या है विशेष ?

2023 का यह बजट मोदी सरकार का पांचवा बजट है। वित्त मंत्री और सरकार का कहना है कि यह बजट सभी वर्गो के अनुकूल बनाया गया है। सरकार का कहना है कि इस बजट में सभी के लिए कुछ विशेष है। आइए जानते है किस वर्ग के लिए क्या है सरकार के नए बजट का तोहफा। 

  • विद्यार्थी : नए बजट के अंतर्गत छात्र छात्राओं के लिए नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी की स्थापना होगी। साथ ही 157 मेडिकल कॉलेज के साथ 157 नर्सिंग कॉलेज भी खोले जायेंगे।
  • युवा वर्ग : नया बजट युवाओं के लिए खास तोहफा लेकर आया है। नए बजट के अनुसार भारत में 47 लाख युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दिया जायेगा। साथ ही ‘यूनिफाइड स्किल इंडिया डिजिटल’  प्रोग्राम के अंतर्गत ही भारतवर्ष के अनेक राज्यों में 30 स्किल इंडिया सेंटर भी खोले जायेंगे। इसके साथ ही प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना 4.0 लॉन्च की जाएगी। जिसके अंतर्गत अनेकों युवाओं को ऑन जॉब ट्रैनिंग भी मिल सकेगी। साथ ही एकलव्य स्कूलों में 38 हजार शिक्षकों की भर्ती भी की जाएगी। 
  •  महिला वर्ग : वित्त मंत्री के अनुसार महिलाओं के लिए बचत पत्र योजना लागू की जाएगी। इस योजना में महिलाओं को 2 लाख की बचत पर 7.5 फीसदी ब्याज मिल पाएगा, जिससे वे अधिक बचत कर सकेंगी। 
  • वरिष्ठ नागरिक : अमृत काल के इस बजट में वरिष्ठ नागरिकों के लिए वरिष्ठ नागरिक खाता स्कीम की सीमा बढ़ा दी जायेगी। वरिष्ठ नागरिक खाता स्कीम की सीमा 9 लाख की जाएगी। 
  • किसान : किसान भाइयों के लिए सरकार नई सौगात लेकर आई है। नए बजट के अनुसार कृषि से संबंधित नए उद्योगों को बढ़ावा दिया जायेगा। कृषि – स्टार्ट उप को बढ़ावा देने के  लिए एग्रीकल्चर एक्सीलरेटर फंड बनाए जाएंगे। साथ ही वैकल्पिक उर्वरकों को बढ़ावा देने हेतु  ‘प्रधान मंत्री प्रणाम योजना की शुरुआत की जाएगी। साथ ही गोबर्धन स्कीम के अंतर्गत 500 नए कारखाने खोले जायेंगे। 
  • पर्यटन क्षेत्र : विभिन्न राज्यों को राजधानी में ‘यूनिटी मॉल’ की स्थापना के लिए सहायता की जाएगी। जिससे की एक जिला, एक उत्पाद और साथ ही हस्तकला वस्तुओं को बढ़ावा दिया जायेगा। साथ ही भारत में 50 पर्यटन स्थलों को विकसित किया जायेगा। 
  • सबके सिर पर छत : प्रधान मंत्री आवास योजना के बजट में 66 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है। नए बजट के अनुसार इस योजना में कुल 79,000 करोड़ रुपए खर्च किए जायेंगे।  

Union Budget 2023 (Hindi): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट को सराहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2023 – 24 के बजट को सराहते हुए कहा, इस बजट में सरकार पहली बार अनेक प्रोत्साहन योजना लेकर आई है। ट्रेनिंग, टेक्नोलॉजी, क्रेडिट, और मार्केट सपोर्ट की व्यवस्था की गई है। ये बजट, सहकारिता को ग्रामीण अर्थव्यवस्था के विकास की धुरी बनाएगा। सरकार ने को-ऑपरेटिव सेक्टर में दुनिया की सबसे बड़ी अन्न भंडारण योजना बनाई है। बजट में नए प्राइमरी को-ऑपरेटिव्स बनाने की एक महत्वकांक्षी योजना का भी ऐलान हुआ है। 

पीएम-विकास से हमारे करोड़ों विश्वकर्माओं के जीवन में बहुत बड़ा बदलाव आएगा। गांव से लेकर शहर तक में रहने वाली हमारी महिलाओं के जीवन स्तर में बदलाव लाने के लिए कई बड़े कदम उठाए गए हैं, उन्हें अब और ताकत के साथ आगे बढ़ाया जाएगा। अमृत काल का पहला बजट विकसित भारत के विराट संकल्प को पूरा करने के लिए एक मजबूत नींव का निर्माण करेगा। ये बजट वंचितों को वरीयता देता है। ये बजट आज के समाज, गांव, गरीब, किसान, मध्यम वर्ग सभी के सपनों को पूरा करेगा।

Union Budget 2023 (Hindi): सतभक्ति से ही संभव हैं अमृत काल  

‘अमृत काल’ का संबंध उस समय से है जब किसी भी प्रकार की बुराई न हो। वह समय जब संपूर्ण मानव समाज मर्यादा में रहकर सत्भक्ति करे। परंतु वर्तमान में सर्व स्थिति अमृत काल के विपरीत है। वर्तमान समय अमृत काल कहलाने योग्य नहीं हैं। आज संपूर्ण मानव समाज किसी न किसी प्रकार की बुराई में लिप्त है। आज अधिकांश मनुष्य विकारी हो चुके है। भ्रष्टाचार, दुराचार, भ्रूण हत्या, दहेज प्रथा के कारण हत्या जैसे अनेकों दुर्व्यवहार आज के मानव समाज में घर कर चुके है। ऐसे में मानव को कैसे हो सकती है सनातन परम धाम की प्राप्ति जहाँ सर्व वस्तु उपलब्ध है और किसी भी प्रकार की धन धान्य की कोई कमी नही है। आइए जानते हैं।

वह कौन सा लोक है, जहाँ धन की कमी नहीं होती?

गीता जी में वर्णित जो सनातन परम धाम है, उसे सतलोक कहते है। सतलोक स्वप्रकाशित लोक है। सतलोक ही वह लोक है, जहा पर किसी भी प्रकार की कोई कमी नही है। जहा पर किसी भी वस्तु का अभाव नहीं है। सतलोक में दूधों की नदी, सोने, हीरे के पहाड़ है। सतलोक अमर लोक है, जहा जाने के बाद प्राणी का मोक्ष हो जाता है। सतलोक के स्वामी परम अक्षर पुरुष कबीर देव जी है। ये वही कबीर जी है, जो आज से लगभग 120 वर्ष पहले काशी में आए थे। यही पूर्ण परमात्मा है। कबीर जी की सतभक्ति, आज विश्व में केवल संत रामपाल जी महाराज जी के पास है। संत रामपाल जी महाराज जी द्वारा दी गई सतभक्ति से मोक्ष तथा सतलोक प्राप्ति संभव है। विलंभ न कीजिए, जल्द से जल्द संत रामपाल जी महाराज जी से नाम दीक्षा लेकर अपना कल्याण कराइए। 

FAQs About Union Budget 2023

प्रश्न: बजट 2023 में क्या सस्ता और क्या महंगा होगा?

उत्तर: 2023 के बजट के अनुसार खिलौने, स्वदेशी साइकिल, ऑटोमोबाइल, प्रयोगशाला में निर्मित हीरे के आभूषण, मोबाइल फोन, स्वदेशी टी वी और स्वदेशी इलेक्ट्रोनिक वाहन सस्ते होंगे,जबकि सोना, चांदी, सिगरेट और आयातित कार महंगे होंगे। 

प्रश्न: 2023 के लिए सरकारी बजट क्या है?

उत्तर: इस वर्ष 2023- 24 के बजट में सरकार का कुल व्यय 45.03 लाख करोड़ भारतीय रुपए और कुल आय 33.61 करोड़ भारतीय रुपए अनुमानित है।

प्रश्न: भारत का कुल खर्च कितना है?

उत्तर: इस वर्ष 2023 के बजट का कुल खर्च 45.03 करोड़ है। 

प्रश्न: 2023 में भारत के वित्त मंत्री कौन है?

उत्तर: भारत के वित्त मंत्री है निर्मला सीतारमण।  

Latest articles

Guru Purnima 2024 [Hindi]: गुरु पूर्णिमा पर जानिए क्या आपका गुरू सच्चा है? पूर्ण गुरु को कैसे करें प्रसन्न?

Guru Purnima in Hindi: प्रति वर्ष आषाढ़ की पूर्णिमा के दिन को गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है। गुरु पूर्णिमा 13 जुलाई, शुक्रवार को आषाढ़ माह की पूर्णिमा के दिन भारत में मनाई जाएगी। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर हम गुरु के जीवन में महत्व को जानेंगे साथ ही जानेंगे सच्चे गुरु के बारे में जिनकी शरण में जाने से हमारा पूर्ण मोक्ष संभव है।  

Gonda Train Accident: चंडीगढ़ डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस के 14 डिब्बे उतरे पटरी से, तीन की मौत, 34 घायल

Gonda Train Accident: चंडीगढ़ से डिब्रूगढ़ जा रही 15904 एक्सप्रेस की दुर्घटना गत गुरुवार...

Guru Purnima 2024: Know about the Guru Who is no Less Than the God

Last Updated on18 July 2024 IST| Guru Purnima (Poornima) is the day to celebrate...

Rajasthan BSTC Pre DElED Results 2024 Declared: जारी हुए राजस्थान बीएसटीसी प्री डीएलएड परीक्षा के परिणाम, उम्मीदवार ऐसे करें चेक

राजस्थान बीएसटीसी परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे छात्रों के लिए एक अच्छी खबर...
spot_img

More like this

Guru Purnima 2024 [Hindi]: गुरु पूर्णिमा पर जानिए क्या आपका गुरू सच्चा है? पूर्ण गुरु को कैसे करें प्रसन्न?

Guru Purnima in Hindi: प्रति वर्ष आषाढ़ की पूर्णिमा के दिन को गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है। गुरु पूर्णिमा 13 जुलाई, शुक्रवार को आषाढ़ माह की पूर्णिमा के दिन भारत में मनाई जाएगी। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर हम गुरु के जीवन में महत्व को जानेंगे साथ ही जानेंगे सच्चे गुरु के बारे में जिनकी शरण में जाने से हमारा पूर्ण मोक्ष संभव है।  

Gonda Train Accident: चंडीगढ़ डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस के 14 डिब्बे उतरे पटरी से, तीन की मौत, 34 घायल

Gonda Train Accident: चंडीगढ़ से डिब्रूगढ़ जा रही 15904 एक्सप्रेस की दुर्घटना गत गुरुवार...

Guru Purnima 2024: Know about the Guru Who is no Less Than the God

Last Updated on18 July 2024 IST| Guru Purnima (Poornima) is the day to celebrate...