।।हरि को गुरू विहिन नहीं भाता।। गुरू पथप्रदर्शक होने के साथ-साथ बालक के बौद्धिक विकास को सही मार्गदर्शन देकर उसे एक सभ्य नागरिक बनाने में मदद करते हैं। गुणी गुरू का मिलना शिष्य के लिए सौभाग्य की बात है। अच्छे गुरू के शिष्य माता पिता,…