कबीर, जा दिन सतगुरु भेंटिया, ता दिन लेखे जान। बाकी समय गंवा दिया, बिना गुरु के ज्ञान।। आज हम देख रहे हैं कि जब भी किसी का जन्मदिन होता है तो केक काटे जाते हैं, पार्टी का आयोजन होता है, सभी जानकार ‘जन्मदिन मुबारक’ या…